नीम और एलोवेरा से बना यह ग्रीन हेयर मास्क बना सकता है आपके बालों को लंबा और घना, जानिए कैसे करना है इस्तेमाल

डेंड्रफ, बाल झड़ने और स्कैल्प इनफेक्शन की समस्या से परेशान रहती हैं तो ट्राई करें एंटीबैक्टीरियल गुणों से भरपूर नीम और एलोवेरा से बना यह प्रभावी हेयर मास्क। फटाफट से नोट करें इसकी रेसिपी।
जानिए घर पर कैसे बनाना है नीम और एलोवेरा का हेयर मास्क और इसके फायदे। चित्र शटरस्टॉक।
अंजलि कुमारी Updated on: 29 November 2022, 18:55 pm IST
ऐप खोलें

बालों का टूटना, झड़ना, डैंड्रफ, रूखापन, स्कैल्प इंफेक्शन, जैसी समस्याओं से लगभग सभी महिलाएं बेहद परेशान रहने लगी है। आमतौर पर ऐसी समस्या बालों को एक उचित देखभाल न मिलने के कारण होती हैं। कभी-कभी जरूरत से ज्यादा हेयर केयर प्रोडक्ट्स का इस्तेमाल भी बालों से जुड़ी समस्याओं को जन्म दे सकता है। इसलिए तरह-तरह के हेयर केयर प्रोडक्ट्स पर खर्च करना बंद कर दें। हम आपके लिए लाए हैं एक ऐसा प्राकृतिक हेयर मास्क, जो हेयर फॉल और डैंड्रफ से आजादी दिलाकर आपके बालों को लंबा और मजबूत करने में मददगार हो सकता है। हम बात कर रहे हैं नीम और एलोवेरा से तैयार ग्रीन हेयर मास्क (DIY Neem aloevera hair mask ) की। आइए जानते हैं इसे कैसे बनाना है और कैसे करना है इस्तेमाल।

थोड़ा समय अपने बालों के लिए भी निकालें

अपनी भागदौड़ भरी जिंदगी से हफ्ते के कम से कम 2 दिन अपना कुछ समय बालों को देने की कोशिश करें। आपके आसपास कई ऐसी प्राकृतिक चीजें उपलब्ध है जो आपके बालों को बिना किसी साइड इफेक्ट के जरूरी पोषण प्रदान करती है और इनकी सेहत को लंबे समय तक बनाए रख सकती हैं।

इन्हीं में से एक है नीम और एलोवेरा। आयुर्वेद में नीम और एलोवेरा का प्रयोग सालों से औषधीय रूप से होता चला आ रहा है। इसी के साथ अब विज्ञान भी इनके फायदे की पुष्टि कर चुका है। नीम और एलोवेरा के गुणों के बारे में तो आप सभी ने सुना होगा। इनमें मौजूद पोषक तत्व समग्र सेहत के लिए काफी फायदेमंद माने जाते हैं।

ये दोनों ही आपके बालों और त्वचा के लिए फायदेमंद हैं। चलिए जानते हैं इन्हें किस तरह बनाना है साथ ही जानेंगे इनके कुछ महत्वपूर्ण फायदों के बारे में।

जानिए कैसे बनाना है नीम और एलोवेरा का ग्रीन हेयर मास्क। चित्र: शटरस्टॉक

जानिए कैसे बनाना है नीम और एलोवेरा का ग्रीन हेयर मास्क

ग्रीन हेयर मास्क बनाने के लिए आपको चाहिए

नीम की पत्तियां -थोड़ी सी
एलोवेरा जेल – पत्तियों के अनुसार समान मात्रा में
पानी – मिलाने के लिए आवश्यकतानुसार

इस तरह तैयार करें नीम-एलोवेरा का ग्रीन हेयर मास्क

1 सबसे पहले मिक्सर में नीम की पत्तियां और मात्रानुसार पानी डालें और इसे अच्छी तरह पीसकर एक स्मूद पेस्ट तैयार करें।

2 एक कटोरी में फ्रेश एलोवेरा जेल निकालें और उसमें नीम की पीसी हुई पत्तियों को डाल दें।

3 अब इन्हें एक साथ अच्छी तरह मिलाएं अगर एलोवेरा जेल पूरी तरह नहीं मिल पाया हो, तो इस पेस्ट को वापस से मिक्सर में डालकर ग्राइंड कर लें।

4 इसकी कंसिस्टेंसी को थोड़ा पतला करने के लिए इसमें मात्रा अनुसार पानी मिला सकती है।

5 जब यह तैयार हो जाए तो इसे किसी बोतल में स्टोर करके रख लें। यदि इसे रेफ्रिजरेटर में रखा जाए तो यार 7 से 10 दिनों तक इस्तेमाल किया जा सकता है।

इस तरह अप्लाई करें नीम और एलोवेरा हेयर मास्क

यदि आपके बाल ज्यादा गंदे हैं, तो पहले बाल धो लें और फिर इसे अपने बालों पर अप्लाई करें। यदि बाल साफ और धोए हुए हैं, तो इसे अप्लाई करना और भी इफेक्टिव होगा।

बालों की जड़ से लेकर सिरे तक इसे सभी जगहों पर अच्छी तरह लगा लें।

40 से 45 मिनट तक इन्हें लगा हुआ छोड़ दें।

जब समय पूरा हो जाए, तो बालों को हल्के गुनगुने पानी से साफ कर लें। यदि आप चाहें तो शैंपू भी कर सकती हैं।

जानिए आपके बालों के लिए कैसे फायदेमंद है नीम-एलोवेरा से तैयार ग्रीन हेयर मास्क

नीम की ताज़ी पत्तियों को पीसकर खुजली वाले स्थान पर लगाया जा सकता है। चित्र : शटरस्टॉक

1 बहुत खास है नीम

नेशनल लाइब्रेरी ऑफ़ मेडिसिन द्वारा प्रकाशित अध्ययन के अनुसार नीम में एंटीफंगल और एंटीबैक्टीरियल प्रॉपर्टीज पाई जाती हैं। जो डेंड्रफ, ड्राई स्कैल्प और स्कैल्प इन्फेक्शन जैसी समस्याओं से बचाव का काम करती हैं।

नीम की पत्तियां स्कैल्प के ब्लड सर्कुलेशन को बढ़ा देती हैं। जिस वजह से बाल जड़ से मजबूत रहते है और हेयर फॉलिकल्स भी स्वस्थ रहते हैं। वहीं यह बालों की खूबसूरती के लिए भी काफी फायदेमंद है यह उन्हें शाइनी और घना बनाती है।

ये फैटी एसिड, एंटीऑक्सीडेंट और विटामिन ई जैसे महत्वपूर्ण पोषक तत्वों से युक्त होती है। यह सभी पोषक तत्व हेयर फॉल को रोकते हैं और डैंड्रफ की समस्या में कारगर होते हैं। जिस वजह से बाल कमजोर नहीं पड़ते।

बालों की हेल्दी ग्रोथ के लिए सबसे जरूरी है हेयर फॉलिकल्स। ऐसे में नीम का इस्तेमाल हेयर फॉलिकल्स को पूरी तरह से साफ और स्वस्थ रखता है। वहीं नीम रूखे बेजान बालों से लेकर तैलीय बालों तक में फायदेमंद होता है।

बालों के लिए चमतकार से कम नहीं है एलोवेरा। चित्र:शटरस्टॉक

2 एलोवेरा है जादुई रेमेडी

पब मेड सेंट्रल द्वारा एलोवेरा को लेकर प्रकाशित स्टडी के अनुसार इसकी एंटी इन्फ्लेमेटरी प्रॉपर्टी स्कैल्प से जुड़ी परेशानियों में काफी फायदेमंद होती हैं। वहीं उपरोक्त अध्ययन के अनुसार एलोवेरा में मौजूद एंजाइम और फैटी एसिड स्कैल्प इन्फ्लेमेशन को कम करने में मदद करते हैं।

एलोवेरा में विटामिन सी, विटामिन B12, विटामिन ए और फोलिक एसिड मौजूद होते हैं। जो स्कैल्प और बालों के लिए मॉइश्चराइजिंग एजेंट की तरह काम करते हैं। वहीं बालों की ड्राइनेस और डलनेस को कम करने में मदद करते हैं।

इसे नेचुरल हेयर क्लींजर की तरह जाना जाता है। यह स्कैल्प पर जमे डेड स्किन सेल्स, गंदगी, सीबम और अन्य केमिकल प्रोडक्ट्स को साफ करता है और बालों मजबूत बनाता है।

एलोवेरा की एंटीसेप्टिक, एंटीबैक्टीरियल और एंटीफंगल प्रॉपर्टीज संक्रमण फैलाने वाले कीटाणुओं से लड़ते हुए स्कैल्प को इंफेक्शन से प्रोटेक्ट करती हैं।

एलोवेरा हेयर मास्क का इस्तेमाल स्कैल्प की पीएच वैल्यू को संतुलित रखता है। जिस वजह से हेयर फॉलिकल्स स्वस्थ रहते हैं और बालों का ग्रोथ भी हेल्दी होता है।

यह भी पढ़ें : इन 4 कारणों से ठंडे मौसम में ड्राई हो जाते हैं आपके हाथ, जानिए कैसे रखना है इनका ख्याल

लेखक के बारे में
अंजलि कुमारी

इंद्रप्रस्थ यूनिवर्सिटी से जर्नलिज़्म ग्रेजुएट अंजलि फूड, ब्यूटी, हेल्थ और वेलनेस पर लगातार लिख रहीं हैं।

Next Story