वैलनेस
स्टोर

पिगमेंटेशन के लिए ये प्राकृतिक घरेलू उपचार अपनाएं और त्वचा को दें क्लीन एंड क्लीयर निखार

Published on:16 April 2021, 14:00pm IST
शहनाज हुसैन पिगमेंटेशन, डार्क पैचेज, टैनिंग और डार्क स्पॉट्स के लिए घरेलू उपचार के रूप में प्राकृतिक अवयवों का उपयोग करने की सलाह देती हैं।
Shahnaz Husain
  • 89 Likes
नेवल ऑयल थेरेपी आपकी आंखों के लिए भी फायदेमंद है। चित्र: शटरस्‍टॉक

हर रोज़ त्वचा की देखभाल करना ज़रूरी है, इस बारे में जागरूकता की आवश्यकता है और इसके उपचार के बारे में थोड़ा ज्ञान होना चाहिए। त्वचा की अपनी अद्भुत सुरक्षात्मक प्रतिक्रियाएं होती हैं। एपिडर्मिस की गहरी परतों में कोशिकाएं होती हैं, जो मेलेनिन का उत्पादन करती हैं, एक ऐसा पिगमेंट जो त्वचा को अपना रंग देता है।

मेलानिन वास्तव में सूर्य की रेडिएशन से त्वचा की रक्षा करता है। इसका स्तर सूरज के संपर्क में आने पर बढ़ता है, जिससे टैनिंग होती है। कभी-कभी, त्वचा की सतह पर मेलेनिन का जमाव होता है, हार्मोनल या अन्य आंतरिक कारणों से। इससे पिग्मेंटेड स्किन, डार्क पैच और स्पॉट्स हो जाते हैं।

इसलिए, उपचार का पहला पक्ष सन प्रोटेक्शन है। त्वचा को एक व्यापक स्पेक्ट्रम वाली सनस्क्रीन के साथ सुरक्षा की आवश्यकता होती है, जो यूवी-ए और यूवी-बी दोनों किरणों से सुरक्षा प्रदान करती है। कम से कम 20 या 25 एसपीएफ वाले सनस्क्रीन का चयन करें। यह त्वचा के प्रकार के अनुरूप होगा।

कभी-कभी आपकी त्‍वचा पर डार्क पैच और झाइयां हो जाती हैं। चित्र: शटरस्‍टॉक

SPF क्या है?

एसपीएफ सन प्रोटेक्टिव फैक्टर है और इसे एक नंबर से दर्शाया जाता है। इसका उल्लेख सनस्क्रीन के लेबल पर किया जाना चाहिए। यह सूर्य के संपर्क की अवधि और व्यक्तिगत त्वचा संवेदनशीलता से संबंधित है। यदि त्वचा धूप के प्रति अधिक संवेदनशील है और आसानी से जलने लगती है, या गहरे रंग के पैच हैं, तो 30 या 40 के उच्च एसपीएफ वाले सनस्क्रीन का उपयोग करें।

तैरते समय, समुद्र के किनारे और पहाड़ियों में छुट्टियां मनाते हुए सनस्क्रीन लगाना याद रखें। पानी और बर्फ जैसी रिफ्लेक्टिव सतहें वास्तव में यूवी किरणों के प्रभाव को बढ़ाती हैं।

सनस्क्रीन को सूरज के संपर्क में आने से 20 मिनट पहले लगाना चाहिए। ताकि यह त्वचा में अवशोषित हो सके। यदि आप एक घंटे से अधिक समय तक धूप में रहते हैं, तो इसे फिर से लगाना जरूरी है। धूप के प्रति संवेदनशील त्वचा के लिए, जहां तक संभव हो धूप से बचने की कोशिश करें।

सन्‍सक्रीन लोशन को कभी भी इग्‍नोर न करें। चित्र: शटरस्‍टॉक

स्क्रब और मास्क का उपयोग मृत त्वचा कोशिकाओं और उनके पिगमेंट को हटाकर पिगमेंटेशन को कम करने में मदद करता है। इससे डार्क पैच धीरे-धीरे हल्के हो जाते हैं। यहां तक कि जब पिगमेंटेड पैच गायब हो जाते हैं, तो भी सनस्क्रीन का उपयोग जारी रखना चाहिए।

इस तरह बनाएं पिगमेंटेशन के लिए क्‍लींजर

पिगमेंटेशन को कम करने के लिए क्लीन्ज़र बनाने के लिए, ठंडे दूध के एक चम्मच में जैतून के तेल या सूरजमुखी के तेल की 5 बूंदें डालकर इसे अच्छे से मिलाएं। एक कॉटन बॉल का उपयोग करके इस मिश्रण से त्वचा को पोंछें। आप पाएंगे कि दूध त्वचा को निखारता है और यदि दैनिक उपयोग किया जाता है, तो समय के साथ प्राकृतिक चमक भी देता है।

यहां पिगमेंटेशन (डार्क पैच) के लिए कुछ बेहद प्रभावी घरेलू उपचार दिए गए हैं:

स्क्रब: आधा कप दही और एक चुटकी हल्दी के साथ 3 बड़े चम्मच बादाम मिलाएं। इसे चेहरे और गर्दन पर लगाएं। धीरे से रगड़ें, विशेष रूप से डार्क पैच पर और बहुत सारे पानी से धो लें। हालांकि, ध्यान रखें कि संवेदनशील त्वचा, पिंपल्स, मुंहासों या दाने पर स्क्रब नहीं लगाना चाहिए।

दही आपकी त्‍वचा के लिए बहुत फायदेमंद होता है। चित्र: शटरस्‍टॉक

डार्क पैच के लिए:

एक क्रीम के साथ एक बड़ा चुटकी नमक मिलाएं। केवल काले पैच या धब्बे वाले क्षेत्रों पर इसे लगाएं और धीरे से रगड़ें। फिर इसे धो लें। अब, ठंडा दूध लगाएं और 15 मिनट के बाद इसे धो लें। इसे हफ्ते में दो बार करें।

काले धब्बों के लिए:

दही में एक चुटकी हल्दी (हल्दी) मिलाएं और पूरे चेहरे पर रोज लगाएं। 20 से 30 मिनट के बाद इसे धो लें।

मास्क:

गाढ़ा पेस्ट बनाने के लिए पके पपीते के गूदे और 1 चम्मच दही के साथ 3 चम्मच दलिया मिलाएं। इसे अपने चेहरे पर लगाएं और 20 मिनट के बाद इसे धो लें। यह मास्क शुष्क और तैलीय दोनों प्रकार की त्वचा पर सूट करता है।

पपीता आपकी ब्‍यूटी के लिए काफी खास है। चित्र: शटरस्‍टॉक

हाथों के लिए:

सूरजमुखी तेल के 2 बड़े चम्मच और मोटे चीनी के 3 बड़े चम्मच लें। इन सामग्रियों को एक साथ मिलाकर पेस्ट बनने तक पकाएं। इसे हाथों पर लगाएं और रगड़ें। 15 मिनट के बाद इसे धो लें।

यदि नियमित रूप से उपयोग किया जाए, तो प्राकृतिक उपचार पिगमेंटेशन के लिए बेहद प्रभावी हो सकता है।

यह भी पढ़ें – अपनी त्वचा से जुड़े इन 6 सवालों का जवाब दें और जानें कि गर्मियों में आपको किन उत्पादों की जरूरत है

Shahnaz Husain Shahnaz Husain

Shahnaz Husain is the founder, chairperson, and managing director of The Shahnaz Husain Group and is considered a pioneer in the realm of herbal beauty in India.