जड़ाें से मजबूत और लंबे बाल चाहिए, तो ट्राई करें ये 2 होममेड हेयर ऑयल्स

आयुर्वेद की ओर से प्रमाणित ये 2 हर्ब्स न केवल आपके बालों को जरूरी पोषण देती हैं, बल्कि बाहरी प्रदूषण से होने वाले नुकसान से भी बचाए रखती हैं।
बालों के लिए फायदेमंद है कड़ी पत्ता। चित्र: शटरस्टॉक
निशा कपूर Published on: 27 September 2022, 21:10 pm IST
ऐप खोलें

जब बालों को पर्याप्त मात्रा में पोषण मिलता है, तो उनका टेक्सचर और हेल्थ दोनों ही बेहतर बनती है। साथ ही बालों की जड़ें मजबूत होती हैं जिससे बालों का गिरना कम होता है और हेयर ग्रोथ भी बढ़ती है। वहीं, जब बालों को सम्पूर्ण पोषण नहीं मिलता तो बाल कमजोर होने लगते हैं और हेयर फॉल, रुसी जैसी परेशानियां भी होने लगती हैं। इसलिए बालों को सही पोषण देने के लिए उनमें नियमित तौर पर तेल लगाना जरूरी है। यहां हम ऐसे होममेड हेयर ऑयल्स (herbal oil for hair) के बारे में बता रहे हैं, जो आपके बालों को जड़ों से मजबूत बनाकर उन्हें लंबा करने में मददगार होंगे।

बालों की ग्रोथ और मजबूती के लिए ज़रूरी हैं ऑयल. चित्र शटरस्टॉक।

तनाव, प्रदूषण, अनहेल्दी ईटिंग हैबिट्स और कुछ दवाइओं के सेवन से बालों से जुड़ी परेशानियां बढ़ सकती हैं। हेयर प्रॉडक्ट्स में मौजूद केमिकल्स से भी बालों को नुकसान पहुंच सकता है। बालों की इन सभी समस्याओं से बचने के लिए बालों में सही प्रकार का हेयर ऑयल लगाना महत्वपूर्ण है। आयुर्वेदिक औषधियों और नेचुरल इंग्रीडिएंट्स की मदद से आप कुछ हेयर ऑयल्स घर में ही तैयार कर सकती हैं।

1. हेयर ग्रोथ के लिए लगाएं करी पत्ते का तेल

बालों के लिए करी पत्ते के अनगिनत फायदे हैं। इसीलिए, विभिन्न प्रकार के नुस्खों में करी पत्ते का प्रयोग किया जाता है। करी पत्तों में अमिनो एसिड और एंटीऑक्सीडेंट्स पाए जाते हैं जो हेयर फॉलिकल्स को मजबूती देकर बालों का झड़ना, टूटना और हेयर थिनिंग जैसी परेशानियों से राहत भी दिलाता है। वहीं, करी पत्तों में मौजूद बीटा-केरोटिन और प्रोटन्स हेयर ग्रोथ में मदद करते हैं।

जानिए किस तरह बालों के लिए लाभकारी होता हैं कड़ी पत्ता

सफ़ेद बालों की समस्या से छुटकारा

बालों का सफेद होना आजकल एक आम परेशानी हो गई है। पेट की गर्मी और वातावरण में बदलाव की वजह से यह समस्या कम उम्र के लोगों में भी देखने को मिल जाती है। हालांकि, बाल सफेद होने की परेशानी अधिकतर फॉलिकल में मेलानिन की कमी की वजह से होती हैं। ऐसे में करी पत्ता बालों के नेचुरल कलर को बनाए रखने में आपकी सहायता कर सकता है।

द योगा इंस्टीट्यूट की डायरेक्टर श्रीमती हनसा जी योगेंद्र के अनुसार कड़ी पत्ते में एंटीऑक्सीडेंट और विटामिन बी पाए जाते हैं। ये पोषक तत्व हेयर फॉलिकल्स में मेलानिन के प्रोडक्शन को बढ़ा देते हैं। इसके साथ बाल सफेद होने जैसी परेशानी से छुटकारा पाना आसान हो सकता है।

यह भी पढ़े- जिद्दी एक्ने पीछा नहीं छोड़ रहे, तो इस तरह करें फिटकरी का इस्तेमाल, यहां हैं फिटकरी के DIY हैक्स

हेयर ग्रोथ में करी ऑइल रहेगा लाभकारी

योग गुरु श्रीमती हनसा जी योगेंद्र के मुताबिक, हेयर ग्रोथ के लिए करी पत्ते के तेल से मसाज करें या आप नियमित रूप से इसके 5 से 6 पत्तों को खा सकती हैं। इसमें मौजूद पोषक तत्व बालों को घना करने और बाल झड़ने की परेशानी को कम करने में मददगार हो सकते हैं। यह स्कैल्प से डेड फॉलिकल्स को रिमूव करता है। ताकि बाल तेजी से बढ़े और घने हो सके।

डैंड्रफ से निजात दिलाता है

करी पत्ते में मौजूद एंटी फंगल, एंटी बैक्टीरियल, और एंटी इन्फ्लेमेटरी प्रॉपर्टीज स्कैल्प को डैंड्रफ फ्री रखने में सहायता कर सकते हैं। साथ ही यह स्कैल्प इंफेक्शन जैसी परेशानियों में भी कारगर होते हैं।

यदि आपकी स्कैल्प सेंसेटिव है, और आप रूसी से परेशान रहती हैं, तो ऐसे में केमिकल प्रोडक्टस की जगह करी पत्ते से बने पेस्ट में दही मिलाकर इसे अपने बालों पर प्रयोग कर सकती हैं। उचित परिणाम के लिए इस प्रक्रिया को सप्ताह में कम से कम 2 बार करना आवश्यक है।

करी पत्ते और नींबू से घर का बना तेल बालों के विकास को बढ़ावा देने में मदद कर सकता है। चित्र : शटरस्टॉक

यूं तैयार करें करी पत्ते का हर्बल तेल

मुट्ठीभर करी पत्ते लेकर उन्हें 2 से 3 दिन धूप में सुखा लें।
फिर सूखे करी पत्तों को एक कटोरी नारियल के तेल के साथ अच्छे से उबाल लें।
मिश्रण को ठंडा होने के पर छान लें और किसी कांच की बोतल में भर लें।
इस हर्बल तेल से स्कैल्प और बालों की अच्छे से मसाज करें।
एक से दो घंटे के बाद किसी माइल्ड शैम्पू से बाल धो लें।

2. बालों की लम्बाई बढ़ाता है कलौंजी के बीजों से तैयार ऑयल

विशेषज्ञों के अनुसार, कलौंजी का तेल एंटीफंगल और एंटीमाइक्रोबियल गुणों से समृद्ध होता है। साथ ही इसमें बाल झड़ने की परेशानी को नियंत्रित करने के प्रभाव भी पाए जाते हैं। इन प्रभावों की वजह से यह बालों के विकास को बढ़ावा देने का कार्य कर सकता है।

बालों के लिए कलौंजी ऑयल के फायदे

स्कैल्प हेल्थ के लिए

कलौंजी के तेल को लंबे वक़्त से घरेलू तौर पर डैंड्रफ की परेशानी से राहत पाने के लिए प्रयोग किया जाता रहा है। इसके साथ ही इसमें एंटीफंगल, एंटीमाइक्रोबियल और एंटीहेलेमेंटिक (परजीवी जैसे जुओं को नष्ट करने वाला) गुण पाए जाते हैं। यह स्कैल्प सोरायसिस (scalp psoriasis सिर की त्वचा पर लाल पैचेस होना) के लिए भी उपयोगी हो सकता है।

हेयर ग्रोथ में मददगार

कलौंजी का तेल बालों के विकास को बढ़ावा देने का कार्य कर सकता है। असल में, इसमें लिनोलेइक एसिड पाया जाता है, जिसमें हेयर ग्रोथ प्रमोटर प्रभाव पाया जाता है। इस प्रभाव की वजह से कलौंजी के बीज का तेल बालों के विकास को बढ़ावा देने में सहायक साबित हो सकता है।

हेयर फॉल को कम करता है

कलौंजी का तेल बालों को गिरने से बचाने में भी सहायक साबित हो सकता है। इस बात की पुष्टि कलौंजी के तेल से जुड़ी एनसीबीआई की रिसर्च से होती है। रिसर्च में जिक्र मिलता है कि यह टेलोजेन एफ्लुवियम (Telogen effluvium) यानी तनाव की वजह से बाल गिरने की परेशानी में राहत पहुंचा सकता है। वहीं, इसमें मौजूद लिनोलेइक एसिड भी हेयर फॉल को कम करता है।

ऐसे करें प्रयोग

  • एक लीटर पानी में 100 ग्राम कलौंजी के दाने मिलाएं और इस मिश्रण को उबलने के लिए रख दें।
  • जब पानी उबल कर आधा हो जाए तो उसे आंच से उतार लें और ठंडा होने के लिए रख दें।
  • ठंडा होने के बाद इस मिश्रण में एक्स्ट्रा वर्जिन ऑलिव ऑयल (extra virgin olive oil) मिक्स करें।
  • अब इस मिश्रण को छान लें और किसी बोतल में भर लें।
  • इस ऑयल से स्कैल्प और बालों की अच्छे से मालिश करें।
  • एक-दो घंटे के बाद माइल्ड शैम्पू और सादा पानी से बाल धो लें।

यह भी पढ़े- क्या ज्यादा शैंपू करने से बाल सफेद हो जाते हैं, आइए एक्सपर्ट से जानते हैं इसकी सच्चाई 

लेखक के बारे में
निशा कपूर

देसी फूड, देसी स्टाइल, प्रोग्रेसिव सोच, खूब घूमना और सफर में कुछ अच्छी किताबें पढ़ना, यही है निशा का स्वैग।

Next Story