स्किन रैशेज की वजह कहीं स्वेटर पहन कर सोना तो नहीं? आइए जानते हैं स्वेटर पहन कर सोने के नुकसान

Published on: 9 January 2022, 20:00 pm IST

कड़ाके की ठंड के मौसम में रात में स्वेटर पहनना भले ही लुभावना लगे, लेकिन यह आपके स्वास्थ्य को अकल्पनीय तरीके से नुकसान पहुंचा सकता है।

Sweater pehenkar sona swasthya ke liye hanikarak hai
स्वेटर पहनकर सोना स्वास्थ्य के लिए हानिकारक है। चित्र: शटरस्टॉक

सर्दी अपने चरम पर है, और ठंड का तापमान सचमुच आपको अपने कंबलों के अंदर शरण लेने के लिए मजबूर कर रहा है। अगर वह पर्याप्त नहीं है, तो पूरे दिन हीटर चालू रहता हैं। लेकिन कुछ लोग ऐसे भी होते हैं, जो रात को सोते समय स्वेटर पहन कर ही रहते है। यदि आप उनमें से एक हैं, तो अभी बंद कर दें क्योंकि यह आपके स्वास्थ्य को संभावित रूप से नुकसान पहुंचा सकता है।

मैक्स मल्टीस्पेशलिटी सेंटर, नोएडा की कंसल्टेंट-पीडियाट्रिक, डॉक्टर चारु कालरा, ने हेल्थशॉट्स को बताया, “इस सर्द मौसम से अपने आप को और घर के छोटों को बचाने के लिए निश्चित रूप से सावधानी बरतनी चाहिए। हमेशा सलाह दी जाती है कि आप अपने आप को गर्म कपड़े और स्वेटर से ढक कर रखें। लेकिन रात में बहुत सारे ऊनी कपड़े पहनना खतरनाक हो सकता है। किसी के स्वास्थ्य पर इसके कई दुष्प्रभाव हो सकते हैं।”

रात में स्वेटर पहनना आपको क्यों नुकसान पहुंचा सकता हैं?

1. शरीर से अत्यधिक गर्मी से नुकसान

रात में ऊनी या स्वेटर पहनने से शरीर से अत्यधिक गर्मी का नुकसान हो सकता है। त्वचा में रूखापन आ सकता है, जिससे रैशेज हो सकते हैं। साथ ही, रात में गर्म कपड़े पहनने से भी छोटे बच्चों में डिहाइड्रेशन हो सकता है।

Body mein excess garmi paida karta hai
यह शरीर में अत्यधिक गर्मी पैदा करता है। चित्र:शटरस्टॉक

2. एलर्जी बढ़ा सकते हैं

डॉ कालरा साझा करती हैं, “जिन लोगों को त्वचा की एलर्जी और एटोपिक जिल्द की सूजन का इतिहास है, उन्हें अतिरिक्त सतर्क रहना चाहिए। रात में ऊनी कपड़े पहनने से ये स्थितियां बढ़ सकती हैं।” इसके अलावा, जो बच्चे रात में स्वेटर पहनते हैं, उन्हें कपड़ों में फंसी धूल के कारण एलर्जी की खांसी में वृद्धि का अनुभव होता है।

3. रक्तचाप की समस्या

रात में अधिक ढकने के कारण अत्यधिक पसीना आना भी रक्तचाप में गिरावट और चक्कर आने का कारण बन सकता है। इससे कई लोगों की नींद में खलल भी पड़ सकता है। साथ ही, जिन लोगों को हृदय रोग का इतिहास रहा है, उनके सीने में भारीपन महसूस हो सकता है या उन्हें सांस लेने में समस्या भी हो सकती है, अगर वे सोते समय तंग ऊनी कपड़े पहनते हैं।

Is aadat ki wajah seasthma ki samasya ho sakti hai
इस आदत की वजह से अस्थमा की समस्या हो सकती है। चित्र: शटरस्टॉक

4. अस्थमा को तेज करता है

डॉ कालरा का कहना है कि ऊनी कपड़े और स्वेटर जिन पर लिंट होता है, वास्तव में अस्थमा की घटनाओं को बढ़ा सकते हैं। ऐसा इसलिए है क्योंकि एलर्जी के संपर्क में वृद्धि हुई है, जिससे सांस लेने में कठिनाई हो सकती है। तो, सुनिश्चित करें कि आप इससे बचें!

5. जीवाणु संक्रमण

अगर कोई रात में स्वेटर और गर्म मोजे भी पहनता है, तो पसीने के कारण जीवाणु संक्रमण होने की संभावना बहुत अधिक होती है। इसलिए, सोने से पहले हमेशा अपने मोजे और स्वेटर हटा दें!

यह भी पढ़ें: घी और बादाम से बनाएं घर पर ये DIY काजल, आंखों के लिए है बहुत फायदेमंद

टीम हेल्‍थ शॉट्स टीम हेल्‍थ शॉट्स

ये हेल्‍थ शॉट्स के विविध लेखकों का समूह हैं, जो आपकी सेहत, सौंदर्य और तंदुरुस्ती के लिए हर बार कुछ खास लेकर आते हैं।

स्वास्थ्य राशिफल

ज्योतिष विशेषज्ञ से जानिए क्या कहते हैं आपकी
सेहत के सितारे

यहाँ पढ़ें