फॉलो

Activated Charcoal : अगर यह आपके ब्यूटी रूटीन का हिस्सा नहीं है, तो आप बहुत कुछ मिस कर रही हैं

Updated on: 22 July 2020, 15:47pm IST
एक्टिवेटेड चारकोल देखने में घिनौना लग सकता है, लेकिन यह आपकी त्वचा के लिए चमत्कारी साबित हो सकता है।
विदुषी शुक्‍ला
  • 78 Likes
एक्टिवेटेड चारकोल अपनी मेडिसिनल प्रॉपर्टी के लिए तो इस्तेमाल होता ही है, साथ ही स्किन के लिए भी यह बहुत फायदेमंद है। चित्र- शटरस्टॉक

उमस भरा मौसम आ चुका है और लॉकडाउन के कारण सभी घर में बंद हैं। ऐसे में आप स्किन केयर के लिए पार्लर नहीं जा पा रही हैं, और जाने के बारे में सोचना भी नहीं चाहिए। आपकी सुरक्षा का ख्‍याल आपको खुद रखना है और आपकी त्वचा का ख्‍याल रखने के लिए हम आपको बता रहे हैं एक नायाब तरीका।

आज हम आपको बताने जा रहे हैं एक्टिवेटेड चारकोल को अपने ब्‍यूटी रूटीन में शामिल करने के आपको क्‍या फायदे हो सकते हैं।

जानें एक्टिवेटेड चारकोल (Activated Charcoal) के बारे में कुछ जरूरी बातें

एक्टिवेटेड चारकोल (Activated Charcoal) केमिकल न होकर असल में नेचुरल सब्सटेन्स है। इसे कार्बन के किसी प्राकृतिक स्रोत को जला कर बनाया जाता है। आसान शब्दों में कहें तो इसमें मौजूद कार्बन कुछ भी अब्सॉर्ब कर सकता है। इसका मेडिसिनल इस्तेमाल भी होता है।
ब्यूटी प्रॉडक्ट्स में इसे स्किन से ऑयल और गन्दगी अब्सॉर्ब करने के लिए इस्तेमाल किया जाता है।

स्किन की इन समस्याओं से निजात दिलाता है एक्टिवेटेड चारकोल (Activated Charcoal)

1. ऑयली स्किन

इस मौसम में तो हम सभी पसीने से परेशान हैं। अगर आपकी स्किन ऑयली है तो चारकोल आपके स्किन केयर रूटीन का हिस्सा होना ही चाहिए। एक्टिवेटेड चारकोल स्किन के ऑयल पार्टिकल्स को निकाल देता है, स्किन को साफ करता है और चेहरा फ्रेश नज़र आता है। अगर आपकी स्किन ऑयली है तो हफ्ते में 2 बार आप एक्टिवेटेड चारकोल का इस्तेमाल करें। नॉर्मल और कॉम्बिनेशन स्किन है, तो दस दिन में एक बार काफी है।

ऑयली स्किन की सभी समस्याओं का इलाज है एक्टिवेटेड चारकोल। चित्र- शटर स्टॉक

2. एक्ने और पिम्पल

गर्मियों और बरसात के मौसम में पिम्पल काफी परेशान करते हैं। एक पिम्पल से पचासों पिम्पल निकल आते हैं। एक्टिवेटेड चारकोल आपको इस पिम्पल प्रॉब्लम से छुटकारा दिलाता है। एक्टिवेटेड चारकोल में मौजूद कार्बन त्वचा के पोर्स को अंदर तक साफ करता है, ब्लॉक पोर्स को खोलता है और बैक्टीरिया को खत्म करता है। जॉर्नल ऑफ फंक्शनल मेडिसिन में प्रकाशित शोध के अनुसार एक्टिवेटेड चारकोल में एन्टी-टॉक्सिन प्रॉपर्टी होती हैं, जो स्किन से इंफेक्शन खत्म करती हैं। यानी नो मोर पिम्पल्स।

3. ब्लैकहेड्स और बन्द पोर्स

हमारे चेहरे पर छोटे-छोटे पोर्स होते हैं जिनमें ऑयल भर जाने पर ब्लैकहेड्स और व्हाइटहेड्स की समस्या हो जाती है। एक्टिवेटेड चारकोल इन पोर्स को अच्छे से साफ करता है जिससे ये समस्याएं नहीं होतीं।

4. गन्दी स्कैल्प

बालों के झड़ने का कारण गन्दी स्कैल्प हो सकती है। शैम्पू केमिकल से भरे होते हैं तो हमारी स्कैल्प को साफ कम और बालों को नुकसान ज्यादा पहुंचाते हैं।

स्कैल्प की सफ़ाई सिर्फ शैम्पू नहीं कर पाता, अपने शैम्पू की क्लीनिंग पावर को बढ़ाने के लिए उसमें एक्टिवेटेड चारकोल मिलाएं। चित्र- शटरस्टॉक

ऐसे में एक्टिवेटेड चारकोल का इस्तेमाल किया जाना चाहिए। यह नैचुरली स्कैल्प को साफ करता है और बालों को नुकसान भी नहीं पंहुचाता।

5. पीले दांत

दांतो को साफ और सफेद करने के लिए एक्टिवेटेड चारकोल का इस्तेमाल किया जाता है, हालांकि इसमें बहुत प्रीकॉशन्स बरतने चाहिए। चारकोल युक्त टूथपेस्ट बाजार में भी उपलब्ध हैं।

कैसे इस्तेमाल करें एक्टिवेटेड चारकोल

वैसे तो एक्टिवेटेड चारकोल युक्त कई प्रोडक्ट बाजार में उपलब्ध हैं। फेस मास्क, स्क्रब, साबुन से लेकर टूथपेस्ट तक। लेकिन आप घर पर भी एक्टिवेटेड चारकोल का फेस पैक बना सकती हैं। एक्टिवेटेड चारकोल टेबलेट और कैप्सूल के रूप में बाज़ार में मिलता है।

बने बनाये मास्क हों या घर पर बनाये चारकोल पैक, हफ्ते में एक-दो बार से अधिक इस्तेमाल न करें।चित्र- शटरस्टॉक

1. एक टैबलेट एक्टिवेटेड चारकोल को क्रश कर लें। इसमें एक चम्मच शहद मिलाकर चेहरे पर लगाएं। 15 मिनट बाद गुनगुने पानी से धो लें।

2. स्क्रब बनाने के लिए क्रश किया हुआ एक्टिवेटेड चारकोल लें, उसमें एक चम्मच चावल का आटा और दो बूंद बादाम का तेल मिला लें। इस पेस्ट से हल्के हाथों से स्क्रब करें।

3. अपने शैम्पू में एक्टिवेटेड चारकोल को पाउडर बना कर डाल दें। इससे स्कैल्प अच्छे से साफ होगी।

0 कमेंट्स

कृपया अपना कमेंट पोस्ट करें

Your email address will not be published. Required fields are marked *

विदुषी शुक्‍ला विदुषी शुक्‍ला

पहला प्‍यार प्रकृति और दूसरा मिठास। संबंधों में मिठास हो तो वे और सुंदर होते हैं। डायबिटीज और तनाव दोनों पास नहीं आते।