फॉलो
वैलनेस
स्टोर

सर्दियां आते ही होठों में पड़ने लगी हैं दरारें, तो क्‍यों होता है एंगुलर चेइलिटिस

Published on:19 October 2020, 10:30am IST
क्या आपको अक्सर अपने मुंह के कोनों के पास दरारें नजर आती हैं? सोच रहे हैं क्यों? तो फिर आपको एंगुलर चेइलिटिस के बारे में जानने की आवश्यकता है।
टीम हेल्‍थ शॉट्स
  • 78 Likes
होठों का सूखापन आपको बना सकता है बदसूरत। चित्र: शटरस्टॉक

आपके मुंह के कोनों पर फटी त्वचा वास्तव में शर्मनाक हो सकती है। कहने की जरूरत नहीं कि वह काफी दर्दनाक भी हो सकती हैं। इसे एंगुलर चेइलिटिस (Angular cheilitis) कहा जाता है। जिसके लिए डिहाइड्रेशन और पोषक तत्‍वों की कमी जिम्‍मेदार है। 

मेडिकल टर्म में एंगुलर चेइलिटिस (Angular cheilitis) कही जाने वाली इस स्थिति में होंठ बहुत शुष्क होज जाते हैं। उनमें सूजन और अकड़न जैसी महसूस होने लगती है। जब यह ज्‍यादा हो जाए तो इनमें से खून बहना भी शुरू हो जाता है। इसलिए जरूरी है कि आप इसके पीछे के कारण को समझें और उन्‍हें दूर करने की कोशिश करें। 

पाएं अपनी तंदुरुस्‍ती की दैनिक खुराकन्‍यूजलैटर को सब्‍स्‍क्राइब करें

आइए बात करते हैं एंगुलर चेइलिटिस (Angular cheilitis) के लिए जिम्‍मेदार कारकों की – 

1.पर्यावरणीय कारक

यह एक निर्विवाद तथ्य है कि मौसम की खास स्थिति आपकी त्वचा को जवां बनाती है। बाहर अत्यधिक ठंड होना और अन्दर ड्राई हीटिंग, कठोर हवा, तथा सन एंगुलर चेइलिटिस जैसी समस्या पैदा करने में एक अहम भूमिका निभाते हैं।

स्किन केयर में कहीं अपने होंठों को तो नहीं भूल गईं आप। चित्र: शटरस्टॉक
स्किन केयर में कहीं अपने होंठों को तो नहीं भूल गईं आप। चित्र: शटरस्टॉक

तो ऐसी कठोर परिस्थितियों से खुद को बचाने के लिए अपने होठों के आस पास के क्षेत्रों की अच्छी तरह से देखभाल करें। जिससे आपको इस स्थिति को रोकने में मदद मिल सकती है।

2.डिहाइड्रेशन

जब आपका शरीर डिहाइड्रेट होता है, तो आपकी त्वचा भी डिहाइड्रेट हो जाती है। यदि आपको पसीना या पेशाब बहुत ज्‍यादा आता है, तो आपको अपने पानी के सेवन पर ध्‍यान देने की जरूरत है। वरना आप डिहाइड्रेशन की शिकार हो सकती हैं। एंगुलर चेइलिटिस की संभावना बढ़ जाती है।

3.ड्राई माउथ

यदि आपको लगता है कि आपका मुंह बहुत सूखा है और पर्याप्त लार का उत्पादन नहीं हो रहा है, तो आपको एंगुलर चेइलिटिस होने की संभावना बढ़ जाती है। इसके अलावा अपने होंठों को बहुत ज्यादा चाटना भी उनमें सूखापन बढ़ा देता है। 

4.पोषण की कमी

कनाडा के कॉलेज ऑफ फैमिली फिजिशियन द्वारा प्रकाशित एक अध्ययन में पाया गया कि एनीमिया और होठों की स्किन में भी बहुत गहरा संबंध है। इसलिए, पर्याप्त आयरन का सेवन आवश्यक है। इसके अलावा, विटामिन बी और जिंक की कमी को एंगुलर चेइलिटिस से भी जोड़ा जाता है। तो, सुनिश्चित करें कि आप में किसी भी महत्वपूर्ण पोषक तत्वों की कमी न हों।

अब जब आप होंठों के सूखेपन और दर्दनाक स्थिति के कारणों को जान गईं हैं, तो अब यह भी जानिए कि इसे कैसे रोका जा सकता है। 

आपके खान पीन का असर आपके होठों पर भी पड़ता है। चित्र: शटरस्टॉक

सुनिश्चित करें कि जब मौसम ठंडा और शुष्क हो, तो आप अपने होंठों और चेहरे को अच्छी तरह से मॉइस्चराइज रखें। उसके लिए आप एक अच्छा मॉइस्चराइज़र और एक लिप बाम, या पेट्रोलियम जेली का उपयोग कर सकते हैं। यह आपकी त्वचा को एक सुरक्षात्मक परत प्रदान करता है, जो नमी के नुकसान को रोकता है।

इसके अलावा, विशेष रूप से सर्दियों के दौरान हाइड्रेटेड रहना भी उतना ही महत्वपूर्ण है क्योंकि मौसम ठंडा होने पर हम सभी कम पानी पीते हैं। इसके अलावा, कृपया अपने होंठ चाटना बंद करें।

लेकिन यह सब करने के बाद भी, यदि दरारें वापस आती रहती हैं, तो अंतर्निहित कारण का पता लगाने के लिए डॉक्टर को दिखाना बेहतर होता है।

0 कमेंट्स

कृपया अपना कमेंट पोस्ट करें

Your email address will not be published. Required fields are marked *

टीम हेल्‍थ शॉट्स टीम हेल्‍थ शॉट्स

ये हेल्‍थ शॉट्स के विविध लेखकों का समूह हैं, जो आपकी सेहत, सौंदर्य और तंदुरुस्ती के लिए हर बार कुछ खास लेकर आते हैं।