महत्वपूर्ण है आपकी उम्र का तीसरा दशक, रुखी त्वचा और झुर्रियों से बचने के लिए फॉलो करें ये 5 टिप्स

Updated on: 29 April 2022, 20:25 pm IST

उम्र बढ़ना एक स्वभाविक प्रक्रिया है, पर ये आपकी त्वचा पर सबसे पहले नजर आने लगती है। इससे बचना है तो इस पर अभी से ध्यान देना जरूरी है।

wrinkled free skin ke liye apnaye ye upay
अपने चेहरे को रुखेपन और झुर्रियों से बचाना है तो 30 की उम्र से ही स्किन केयर पर ध्यान देना शुरु कर दें। चित्र : शटरस्टॉक

30 साल के बाद त्वचा का रूखा होना और चेहरे पर झुर्रियां दिखाई देने लगा एक आम समस्या है। कभी-कभी तनाव, भरपूर नींद न लेने, चेहरे पर केमिकल के अधिक प्रयोग और प्रदूषण के कारण भी झुर्रियां पड़ने लगती हैं। जिनकी स्किन ड्राय होती है, उनकी स्किन पर झुर्रियां अधिक पड़ती हैं। वहीं जिनकी स्किन ऑयली होती है, उनकी भी स्किन 40 वर्ष या उससे अधिक होने पर ड्राय और बेजान-सी दिखने लगती है। इसलिए यह जरूरी है कि आप 30 की उम्र से ही अपने स्किन केयर पर ध्यान देना शुरू कर दें। ताकि बढ़ती उम्र के साथ त्वचा के रुखे होने और झुर्रियों (Dry and wrinkle on skin) से बचा जा सके।

बढ़ती उम्र के साथ महिलाएं अपनी त्वचा को चमकदार बनाए रख सकें, इसके लिए हमने बात की आयुर्वेदिक फिजीशियन डॉ. खुशबू चड्ढ़ा से। उन्होंने 5 जरूरी टिप्स दिए, जिन्हें अपनाकर आप अपनी स्किन को बना सकती हैं ग्लोइंग।

यह भी पढ़ें :- कूलिंग आइडिया है स्विमिंग, पर स्किन केयर के लिए रखें इन बातों का ध्यान

रूखी और झुर्रीदार त्वचा से बचना है तो अभी से रखें इन चीजों का ध्यान

1 बादाम करता है स्किन को रिपेयर

आयुर्वेद के अनुसार, शरीर में वात दोष बढ़ने पर झुर्रियां पड़ती हैं। यदि आप अपने वात दोष को संतुलित कर लें, तो यह आपके चेहरे और शरीर के अन्य भागों पर भी प्रभावी होगा। आप हमेशा अपनी त्वचा को मॉइस्चराइज करते रहें। रात में चेहरे पर मंजिष्ठा तेल अप्लाई करें। सबसे फायदेमंद होता है रात में बादाम तेल लगाकर सोना। तेल लगाने पर स्किन रिपेयरिंग मोड में आ जाती है।

बादाम एंटीऑक्सिडेंट होता है, जो स्किन में नमी कोे बरकरार रखता है। सोने से पहले चेहरे पर बादाम तेल लगाने पर स्किन में ब्लड सर्कुलेशन भी अच्छी तरह होता है। नारियल का तेल भी फायदेमंद होता है, लेकिन बादाम की अपेक्षा कम। यदि आप बाजार में मिलने वाले मॉइस्चराइजर का प्रयोग करती हैं, तोे कोशिश करें कि केमिकल प्रॉडक्ट नहीं, बल्कि नेचुरल क्रीम का इस्तेमाल करें।

2 स्क्रबर का प्रयोग कम करें

ध्यान दें कि बढ़ती उम्र के साथ स्किन एक्सफोलिएशन अधिक न करें। चेहरे की स्क्रबिंग अधिक न करें। आप जिस स्क्रबर का इस्तेमाल करती हैं, वह मोटा न हो। नेचुरल शूगर और हनी का प्रयोग करें, तो वह सबसे अच्छा है। चेहरे पर बर्फ का इस्तेमाल अधिक न करें। इससे त्वचा रूखी हो जाती है।

यह भी पढ़ें :- Snail Mucin : क्या आप जानती हैं इस कोरियन स्किन केयर रूटीन के बारे में!

आमतौर पर हम सोचते हैं कि घर से बाहर निकलने पर ही हमारी त्वचा का सूर्य से डायरेक्ट कॉन्टैक्ट होता है और हम चेहरे पर सनस्क्रीन लगाते हैं। हम घर में भी रहें, तो चेहरे पर सनस्क्रीन अप्लाई करें। कई नेचुरल सनस्क्रीन लोशन हैं, जो तेज धूप और धूल से हमारी त्वचा को प्रोटेक्ट करता है।

3 फेशियल में सावधानी

अक्सर यह कहा जाता है कि गोल्ड फेशियल कराने सेे त्वचा टाइट और चमकदार बनती है। गोल्ड को एंटी एजिंग मैटीरियल माना जाता है। लेकिन बाजार में जो गोल्ड फेशियल क्रीम उपलब्ध हैं, स्किन उसमें उपलब्ध गोल्ड को एब्जॉर्व नहीं कर पाती है। आयुर्वेद के अनुसार, जो गोल्ड नैनो फॉर्म में मौजूद है, उसे स्किन एब्जाॅर्व कर लेती है। इसलिए फेशियल के लिए स्वर्ण भस्म का प्रयोग करना चाहिए। लंबे समय तक चेहरे पर विटामिन ई कैप्स्यूल एप्लाई करने या विटामिन ई कैप्स्यूल खाने से स्किन पर विपरीत प्रभाव पड़ सकता है।

4 मीठे का प्रयोग कम करें

खाने-पीने का ध्यान तो हर उम्र में रखना चाहिए। 30 के बाद तो अपनी स्किन का ख्याल रखने के लिए डाइट सही लेनी होगा। स्किन के लिए विटामिन ई और विटामिन सी दोनों जरूरी है। इसलिए मौसमी फल लेने के अलावा, संतरा, मौसंबी और भोजन में नींबू का प्रयोग बढ़ाएं। मीठे का प्रयोग कम करें।

यह भी पढ़ें :- धूप में बाहर जाने से क्यों डरना, जब आपके पास हैं कस्टमाइज़्ड स्किन केयर टिप्स

मीठे पदार्थ स्किन को ड्राय करते हैं। स्किन के लिए ओमेगा 3 फैटी एसिड और ओमेगा 6 फैटी एसिड की जरूरत को पूरा करने के लिए ड्राय फ्रूट्स, एवाकाडो आदि का सेवन करें। इससे स्किन ड्राय नहीं होगी और मुलायम बनी रहेगी।

5 आंखों की विशेष देखभाल

जैसे-जैसे महिलाओं की उम्र बढ़ती है, आंखों की स्किन के पास बारीक रेखाएं ग्रो करने लगती हैं। आयुर्वेदिक आई क्रीम लगाने से आपकी आंखों के आसपास की स्किन ड्राई नहीं होगी। वह हाइड्रेटेड रहेगी। काले घेरे भी नहीं पड़ेंगे। यदि आंखों के आसपास खुजली होती है, तो उस स्थान पर जोर से नहीं रगड़ें। साथ ही बार-बार रगड़ने पर आंखों पर रैशेज हो जाते हैं और स्किन भी डेमेज हो जाती है।

यह भी पढ़ें :- Korean Beauty – डॉल्फिन स्किन है ब्यूटी वर्ल्ड का नया ट्रेंड, जानिए क्या है ये नया कोरियाई स्किन केयर

स्मिता सिंह स्मिता सिंह

स्वास्थ्य, सौंदर्य, रिलेशनशिप, साहित्य और अध्यात्म संबंधी मुद्दों पर शोध परक पत्रकारिता का अनुभव। महिलाओं और बच्चों से जुड़े मुद्दों पर बातचीत करना और नए नजरिए से उन पर काम करना, यही लक्ष्य है।

स्वास्थ्य राशिफल

ज्योतिष विशेषज्ञ से जानिए क्या कहते हैं आपकी
सेहत के सितारे

यहाँ पढ़ें