वैलनेस
स्टोर

फिजिकल या केमिकल, आपकी त्वचा के लिए कौन सी एक्सफोलिएशन तकनीक है सबसे बेहतर

Published on:22 August 2021, 17:00pm IST
डेड स्किन सेल्स और अशुद्धियों को दूर करने के लिए एक्सफोलिएशन महत्वपूर्ण है, लेकिन क्या आपने कभी सोचा है कि क्या आपको फिजिकल या केमिकल एक्सफोलिएशन करवाना चाहिए?
टीम हेल्‍थ शॉट्स
  • 111 Likes
exfoliation ke fayde
कौनसी एक्सफोलिएशन तकनीक है सबसे बेहतर. चित्र : शटरस्टॉक

एक्सफोलिएटिंग एक बेहतरीन स्किन केयर तकनीक है, जो चमक को बढ़ाती है और त्वचा पर किसी भी निशान को साफ करने में मदद करती है। नियमित रूप से अपनी त्वचा को एक्सफोलिएट करके, आप मृत त्वचा कोशिकाओं को दूर रख सकती हैं। एक्सफोलिएशन तेल और गंदगी से बंद रोमछिद्रों को साफ करता है और आपकी त्वचा में चमक लाता है।

एक्सफोलिएशन या तो फिजिकल या केमिकल हो सकता है, और आपकी त्वचा के प्रकार और आवश्यकताओं के आधार पर दोनों तकनीकों का उपयोग किया जा सकता है। ये दोनों तकनीकें त्वचा से मृत त्वचा कोशिकाओं और अन्य प्रदूषकों को हटाने में मदद कर सकती हैं।

तो, आइए इन तकनीकों के बारे में जानें और पता लगाएं कि आपके लिए कौन सी बेहतर है?

फिजिकल एक्सफोलिएशन (Physical Exfoliation)

इस विधि में त्वचा पर एक अब्रेसिव घटक का उपयोग किया जाता है, जैसे कि चीनी या नमक का स्क्रब। ये नमक या चीनी आधारित स्क्रब त्वचा में निखार लाने में मदद करते हैं और तत्काल परिणाम प्रदान कर सकते हैं। दूसरा पहलू यह है कि ये एक्सफोलिएटर कठोर और मोटे हो सकते हैं, जिससे त्वचा फट सकती है। इसलिए, आपको फिजिकल एक्सफोलिएटर्स के उपयोग से होने वाले नुकसान पर ध्यान देना चाहिए।

exfoliation ke fayde
एक्सफ़ोलिएटिंग एक बेहतरीन स्किन केयर तकनीक है. चित्र : शटरस्टॉक

कुछ मामलों में, इससे त्वचा में सूजन भी हो सकती है। इसलिए याद रखें कि इसे सप्ताह में केवल एक या दो बार ही इस्तेमाल करें। ध्यान रखें कि अपने चेहरे को धीरे-धीरे स्क्रब करें। रक्त के प्रवाह को बढ़ाने के लिए इसे एक मुलायम कपड़े से गोलाकार गति में धो लें।

केमिकल एक्सफोलिएशन (Chemical Exfoliation)

केमिकल एक्सफोलिएटर, बीटा-हाइड्रॉक्सी-एसिड (बीएचए) और अल्फा-हाइड्रॉक्सी-एसिड (एएचए) अनिवार्य रूप से दो श्रेणियां हैं। केमिकल एक्सफ़ोलीएटर्स संवेदनशील त्वचा के लिए अधिक उपयुक्त माने जाते हैं, और वे कम अब्रेसिव तरीके से मृत त्वचा कोशिकाओं को हटाने में मदद करते हैं।

बीएचए, जैसे सैलिसिलिक एसिड, में एंटीइन्फ्लेमेटरी गुण होते हैं, और त्वचा और छिद्रों में गहराई से प्रवेश करते हैं, पूरी तरह से सफाई प्रदान करते हैं। एएचए, जैसे ग्लाइकोलिक एसिड, त्वचा की सबसे ऊपरी परतों को एक्सफोलिएट करते हैं, और त्वचा को हाइड्रेटेड करने में मदद करते हैं।

exfoliation ke fayde
यह आपकी मृत त्वचा कोशिकाओं को दूर रख सकती हैं। चित्र- शटरस्टॉक।

आपके लिए कौन सी एक्सफोलिएशन तकनीक सही है?

यह तय करने के लिए कोई सूत्र नहीं है कि कौनसी एक्सफोलिएशन तकनीक आपके लिए सबसे उपयुक्त है। आप वास्तव में एक केमिकल और फिजिकल एक्सफोलिएटर दोनों का उपयोग कर सकती हैं, जब तक कि आप अपनी त्वचा को अधिक एक्सफोलिएट नहीं करती। हालाँकि, कुछ चीजें आपके लिए सही एक्सफोलिएंट चुनने में आपकी मदद कर सकते हैं:

त्वचा की संवेदनशीलता: केमिकल एक्सफोलिएशन, फिजिकल एक्सफोलिएशन की तुलना में कम कठोर माना जाता है, और त्वचा की समस्याओं जैसे कि मुँहासे या चकत्ते के प्रबंधन के लिए बहुत अच्छा काम करता है।

परिणाम: केमिकल एक्सफोलिएशन परिणाम दिखाने में समय लेता है, जबकि फिजिकल एक्सफोलिएशन आपको उपयोग के तुरंत बाद एक चमकदार त्वचा देगा।

चमक प्रदान करे: चूंकि दोनों एक्सफोलिएशन तकनीक मृत त्वचा कोशिकाओं को हटाने में मदद करती हैं, वे दोनों त्वचा को चमकदार बनाने में माहिर हैं।

दोनों तकनीकें एक दूसरे की पूरक हो सकती हैं। केमिकल एक्सफोलिएशन मृत कोशिकाओं को हटाने के लिए एसिड या एंजाइम का उपयोग करता है, जबकि फिजिकल एक्सफोलिएशन में डेड सेल्स को हटाने के लिए स्क्रब और वॉश-क्लॉथ का उपयोग करना शामिल है।

यह भी पढ़ें : जी हां, तनाव छीन सकता है आपके चेहरे का निखार, हम बता रहे हैं कैसे

टीम हेल्‍थ शॉट्स टीम हेल्‍थ शॉट्स

ये हेल्‍थ शॉट्स के विविध लेखकों का समूह हैं, जो आपकी सेहत, सौंदर्य और तंदुरुस्ती के लिए हर बार कुछ खास लेकर आते हैं।