बालों की हर समस्या का रामबाण इलाज है नीम का तेल, विशेषज्ञ से जानें इससे जुड़े कुछ घरेलू उपाय

Published on: 11 March 2022, 11:00 am IST

आपने अपने बालों के लिए लगभग हर तेल का इस्तेमाल किया होगा? लेकिन क्या आपने कभी नीम के तेल का इस्तेमाल किया है? यह सबसे ज़्यादा इफेक्टिव हो सकता है।

aapke baalon ke liye kaise faydemand hai neem
जनीन आपके बालों के लिए कैसे फायदेमंद है नीम। चित्र : शटरस्टॉक

प्राचीन आयुर्वेदिक ग्रंथ नीम के पेड़ों को ‘सर्व रोग निवारिणी’ के रूप में वर्णित करते हैं, जिसका अर्थ है सार्वभौमिक उपचारक या सभी बीमारियों का इलाज।

भारत के लोगों द्वारा पवित्र माने जाने वाला यह पौराणिक वृक्ष अच्छे स्वास्थ्य और सुरक्षा का प्रतीक है। नीम के पेड़ के प्रत्येक भाग का उपयोग बीमारियों के इलाज के लिए किया जाता है।

नीम की टहनियों को टूथब्रश के रूप में उपयोग किया जाता है, त्वचा की समस्याओं के इलाज के लिए पत्तियों को पानी में उबाला जाता है, फूलों का उपयोग अरोमाथेरेपी के लिए किया जाता है और बीज के साथ-साथ फल का उपयोग बहुत शक्तिशाली और शक्तिशाली नीम के तेल को निकालने के लिए किया जाता है।

यूं तो आपने शायद ही किसी को बालों के लिए नीम का तेल इस्तेमाल करते हुये देखा हो। मगर बता दें कि यह बालों के लिए बहुत फायदेमंद होता है।

1. बालों के विकास को बढ़ावा देता है और गंजापन रोकता है

नीम के तेल में पुनर्योजी गुण होते हैं जो स्वस्थ कोशिका का समर्थन करते हैं और बालों के रोम के विकास और कार्य को प्रोत्साहित करते हैं। यह प्रदूषण, तनाव या दवा के कारण बालों के पतले होने का मुकाबला करने में भी मदद करता है। इसलिए, नीम के तेल का नियमित उपयोग घने, मजबूत और अधिक शानदार बालों के विकास को बढ़ावा देता है।

नीम के तेल के एंटी-इंफ्लेमेटरी, एंटीबायोटिक और एंटीऑक्सीडेंट गुण गंजेपन को रोकते हैं क्योंकि यह स्कैल्प सोरायसिस जैसे स्कैल्प की समस्याओं का इलाज करता है, जिसका इलाज न करने पर स्थायी बालों के झड़ने का कारण बन सकता है।

healthy aur shaniy baalon ke liye lagaen neem ka tel
हेल्दी और शाइनी बालों के लिए लगाएँ नीम का तेल। चित्र: शटरस्टॉक

2. कंडीशन ड्राय हेयर

नीम के तेल को नियमित रूप से लगाने से बाल चमकदार और स्वस्थ रहेंगे। नीम के तेल में कई फैटी एसिड होते हैं – जैसे लिनोलिक, ओलिक, स्टीयरिक एसिड जो खोपड़ी और बालों को पोषण देते हैं। नीम के तेल में मौजूद ये फैटी एसिड सूखे, कम पोषित या रूखे बालों को पुनर्जीवित करते हैं।

3. रूसी और खुजली में मदद करता है

डैंड्रफ का प्राथमिक कारण कवक है जिसे कैंडिडा और मालासेज़िया के नाम से जाना जाता है। नीम का तेल अपने एंटीफंगल गुणों के कारण इन कवक के खिलाफ प्रभावी है। नीम का तेल रूसी के कारण होने वाली सूजन, खुजली और जलन से भी राहत देता है।

जिन लोगों को डैंड्रफ की समस्या रहती है उन्हें नीम के तेल का नियमित इस्तेमाल करना चाहिए। यह स्कैल्प के पीएच संतुलन को बनाए रखता है और डैंड्रफ को बनने से रोकता है।

4.संक्रमण का इलाज करता है

नीम के तेल को इसके अत्यधिक उपचार (एंटीसेप्टिक, जीवाणुरोधी, एंटी-फंगल, एंटी-वायरल) गुणों के लिए स्कैल्प के रक्षक के रूप में जाना जाता है। यह सीबम के स्राव को भी नियंत्रित करता है और खोपड़ी की सूखापन या तेलीयता को सामान्य करता है।

6. बालों को समय से पहले सफेद होने से रोके

अगर आपके बाल हार्मोनल असंतुलन के कारण सफेद हो रहे हैं, तो आपको नीम के तेल से फायदा होगा। नीम के तेल को नियमित रूप से बालों में लगाने से बालों का समय से पहले सफेद होना ठीक हो जाता है। हालांकि, ध्यान रखें कि नीम का तेल लगाने से सफेद होने में देरी होती है। यह उन बालों को प्रभावित नहीं करेगा जो उम्र बढ़ने के कारण पहले ही सफेद हो चुके हैं।

आकाश हेल्थकेयर, द्वारका के डर्मेटोलॉजिस्ट- सीनियर कंसल्टेंट डॉ पूजा चोपड़ा से जानिए, बालों के लिए नीम का इस्तेमाल किस तरह से किया जाता है?

baalon ke liye neem ke fayde
अपने हेयर केयर रूटीन में शामिल करें नीम। चित्र- शटर स्टॉक

नीम और दही

डैंड्रफ को रोकने के लिए नीम और दही का मिश्रण बहुत ही बढ़िया समाधान होता है। दही से डैंड्रफ की समस्या से राहत मिलती है। नीम से आपके बालों के क्यूटिकल्स मुलायम और मजबूत होते है। नीम के पत्तों का पेस्ट बनाएं, इसे एक कटोरी दही में मिलाएं और अपने बालों की तह तक लगाएं। इसे 15-20 मिनट तक लगा रहने दें और फिर धो लें। दही के सुखदायक और ठंडे प्रभाव के साथ नीम के एंटी-फंगल गुण डैंड्रफ (रूसी) से लड़ने में बेहतरीन फायदा पहुंचाते हैं।

नीम और हेयर कंडिशनर

इसे आप बाल धोने से पहले या बाद में उपयोग कर सकते हैं। हर मामले में यह बेहद प्रभावी होगा। नीम कंडीशनर को बनाने के लिए नीम के कुछ पत्ते लें और उन्हें उबाल लें, ठंडा होने दें। बालों को शैंपू करने के बाद नीम के इस मिश्रण से बालों को धो लें। इससे डैंड्रफ की समस्या ख़त्म हो जायेगी।

नीम हेयर मास्क

डैंड्रफ के लिए नीम का हेयर मास्क सबसे बेहतर और आसान उपाय है। आपको बस इतना करना है कि कुछ नीम के पत्ते लेंना है, उन्हें मिक्सर में पीस लेंना और उसमें एक बड़ा चम्मच शहद मिलाकर एक पेस्ट बना लेना है। इसके बाद इस गाढ़े पेस्ट को हेयर मास्क की तरह पूरे सिर में लगाएं और 20 मिनट तक लगा रहने दें। जब यह अच्छे से सूख जाए तो इसे धो लें।

नीम का तेल

नारियल के तेल में कुछ नीम की पत्तियों को डालकर और उबालकर इसमें नींबू की कुछ बूंदें डालकर नीम का तेल आसानी से घर पर बनाया जा सकता है। नींबू का प्रयोग हल्का ही करें। इस तेल को लगाने के बाद धूप में न जाएँ क्योंकि आपके बालों में नींबू लगे रहने से धूप में रखने के कुछ साइड इफेक्ट हो सकते हैं। सबसे अच्छा तरीका यह है कि इस तेल को अपने सिर पर धीरे से रगड़ें, इसे रात भर लगा रहने दें और सुबह इसे धो लें।

नीम के औषधीय गुण बालों की सभी बीमारियों में काम आते है। अगर नीम का प्रयोग नियमित रूप से किया जाए तो प्रभाव अच्छा दिख सकता है। बस ऊपर बताये गए सरल उपायों का उपयोग करें और साफ़ और स्वस्थ बालों को लहराने दें।

यह भी पढ़ें : क्या आपकी त्वचा का रंग गहरा होता जा रहा है? तो इसके लिए पपीता हो सकता है जिम्मेदार

ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ

प्रकृति में गंभीर और ख्‍यालों में आज़ाद। किताबें पढ़ने और कविता लिखने की शौकीन हूं और जीवन के प्रति सकारात्‍मक दृष्टिकोण रखती हूं।

स्वास्थ्य राशिफल

ज्योतिष विशेषज्ञ से जानिए क्या कहते हैं आपकी
सेहत के सितारे

यहाँ पढ़ें