वैलनेस
स्टोर

आइए पता करते हैं क्या फाउंडेशन या मॉइश्चराइजर में मौजूद एसपीएफ त्वचा के लिए पर्याप्त है?

Published on:25 July 2021, 09:00am IST
एसपीएफ सिर्फ सूरज की हानिकारक किरणों से ही आपकी त्वचा को नहीं बचाते, बल्कि गैजेट्स से निकलने वाली नीली रोशनी की क्षति से बचने के लिए भी आपको हर रोज सही एसपीएफ अप्लाई करने की जरूरत होती है।
  • 84 Likes
आपकी त्वचा के लिए ज़रूरी है एसपीएफ. चित्र : शटरस्टॉक
आपकी त्वचा के लिए ज़रूरी है एसपीएफ. चित्र : शटरस्टॉक

एसपीएफ हमारी त्वचा के लिए ज़रूरी है, यह तो हम सभी जानते हैं, मगर क्यों? यह शायद आपको नहीं पता होगा। यदि पता है, तो क्या आप ये जानती हैं कि आपके फाउंडेशन या मॉइश्चराइजर में मौजूद एसपीएफ त्वचा के लिए पर्याप्त है? अगर आपके मन में भी कुछ ऐसे ही सवाल हैं, तो यह लेख आपके लिए है।

सबसे पहले जानते हैं कि एसपीएफ क्या होता है?

एसपीएफ या सन प्रोटेक्शन फैक्टर आपके सनस्क्रीन या सन प्रोटेक्शन के लिए किसी भी फेस क्रीम को सौंपा गया नंबर है, जो सूरज के खिलाफ सुरक्षा के स्तर को इंगित करता है। उच्च एसपीएफ रेटिंग वाले उत्पाद ज्यादा स्ट्रोंग होते हैं। जिनमें सुरक्षा का बेहतर प्रतिशत होता है। एक आम गलत धारणा यह है कि एसपीएफ संख्या को दोगुना करने से सुरक्षा दोगुनी हो जाएगी।

उदाहरण के लिए, एसपीएफ 50 वाला उत्पाद एसपीएफ 25 वाले उत्पाद की तुलना में दोगुनी सुरक्षा प्रदान नहीं करता है। एक एसपीएफ केवल एक नंबरिंग या रैंकिंग प्रणाली है और उत्पाद द्वारा प्रदान किए जाने वाले कवरेज के प्रतिशत का प्रमाण नहीं है।

कैसे काउंट करें एसपीएफ

एसपीएफ नंबर उस समय की मात्रा को दर्शाता है जिसके लिए एक सनस्क्रीन आपकी त्वचा को सन डैमेज से बचा सकती है। औसतन, लोग सूरज के संपर्क में आने के 15 मिनट के भीतर सनबर्न का अनुभव करते हैं, SPF40 वाली क्रीम 40X धूप से सुरक्षा दे सकती है।

ब्यूटी प्रोडक्ट्स में भी एसपीएफ देखें. चित्र : शटरसस्टॉक
ब्यूटी प्रोडक्ट्स में भी एसपीएफ देखें. चित्र : शटरसस्टॉक

(40×15 = 600 मिनट के लिए सुरक्षा)

यही कारण है कि हर कुछ घंटों में सनस्क्रीन को दोबारा लगाना भी महत्वपूर्ण है!

आखिर त्वचा के लिए क्यों महत्वपूर्ण है एसपीएफ

लंबे समय तक सूरज के संपर्क में रहने से आपकी त्वचा पर बुरा प्रभाव पड़ सकता है। हाइपरपिग्मेंटेशन, सनबर्न, डार्क स्पॉट, सनस्पॉट और त्वचा के कैंसर का बढ़ता जोखिम सूरज की किरणों से होने वाले कुछ हानिकारक प्रभाव हैं। एसपीएफ आपको इन सब से बचाता है। इसलिए, मौसम की परवाह किए बिना ये आपके दैनिक स्किनकेयर रूटीन में होना चाहिए।

अपनी त्वचा को धूप से बचाने के सबसे आम तरीकों में से एक है सनस्क्रीन का उपयोग करना। आप जिस प्रकार की जलवायु में रहती हैं, उसके आधार पर आप सर्दियों और मानसून के दौरान कम एसपीएफ वाले उत्पादों का विकल्प चुन सकती हैं। ऐसे में मॉइस्चराइजर या मेकअप से पहले एसपीएफ फाउंडेशन आपकी पहली पसंद हो सकती है।

त्वचा के लिए एसपीएफ महत्वपूर्ण है. चित्र : शटरस्टॉक
त्वचा के लिए एसपीएफ महत्वपूर्ण है. चित्र : शटरस्टॉक

क्या इन उत्पादों में मौजूद एसपीएफ त्वचा के लिए पर्याप्त है?

शायद नहीं? क्योंकि ऐसा माना जाता है कि हम इन क्रीम का त्वचा पर उतना ज्यादा प्रयोग नहीं करते हैं। इसलिए, त्वचा पर पर्याप्त एसपीएफ की परत नहीं चढ़ती है। विशेषज्ञों का मानना है कि त्वचा पर एसपीएफ की कम से कम 1/1.5 चम्मच परत चढ़नी चाहिए, जो किसी भी अन्य क्रीम के प्रयोग से बहुत कम है।

तो, सन डैमेज से बचने के लिए आपको क्या करना चाहिए

सबसे पहले सनस्क्रीन का इस्तेमाल करना चाहिए जिनमें एसपीएफ की अच्छी मात्रा हो। उसके बाद मेकअप करने के लिए भी ऐसे उत्पादों का इस्तेमाल करना चाहिए, जिनमें एसपीएफ या सन प्रोटेक्शन हो, क्योंकि सन डैमेज से बचने के लिए एक से भले दो उत्पाद हैं।

यह भी पढ़ें : बालों में चाहिए एक्स्ट्रा शाइन और बाउंसी लुक, तो इस तरह करें मेहंदी का इस्तेमाल