Skin Barrier : त्वचा की अंदरूनी परतों को डैमेज होने से बचाता है स्किन बैरियर, जानें इसे कैसे रखना है स्वस्थ

आपकी त्वचा कई लेयर्स से बनी होती है। आपकी बॉडी को प्रोटेक्ट करने में हर एक स्किन लेयर का अपना महत्व होता है। त्वचा के बाहरी परत जिसे स्ट्रैटम कॉर्नियम को स्किन बैरियर कहते हैं।
khusbu wale product ka istemal nhin karen.
जानें स्किन बैरियर को कैसे करना है प्रोटेक्ट। चित्र : एडॉबीस्टॉक
अंजलि कुमारी Updated: 18 Oct 2023, 10:05 am IST
  • 120

कई ब्यूटी प्रोडक्ट्स पर अक्सर “स्किन बैरियर प्रोटेक्शन” का लेबल लगा होता है। वहीं जब हम किसी घरेलू नुस्खे के फायदे देखते तो वहां भी स्किन बैरियर प्रोटेक्शन लिखा आता है। इतना ही नहीं डर्मेटोलॉजिस्ट भी अक्सर त्वचा की सेहत को बनाए रखने के लिए स्किन बैरियर्स को प्रोटेक्ट करने की सलाह देते हैं। परंतु क्या आपने कभी ये जानने की कोशिश की है कि आखिर स्किन बैरियर क्या है? यदि नहीं तो आपको सबसे पहले स्किन बैरियर के बारे में जानना चाहिए। हेल्थ शॉट्स आपके लिए लेकर आया है त्वचा के लिए स्किन बैरियर के फायदे, साथ ही इसे प्रोटेक्ट करने के उपाय से जुड़ी जरूरी जानकारी।

हेल्थ शॉट्स ने इस विषय पर मारेंगो एशिया हॉस्पिटल गुरुग्राम की डर्मेटोलॉजिस्ट, डॉ. सोनल बंसल से बात की। डॉक्टर ने स्किन बैरियर को प्रोटेक्ट करने के कुछ महत्वपूर्ण टिप दिए हैं। तो चलिए जानते हैं इसे कैसे रखना है स्वस्थ (How to take care of skin barriers)।

पहले समझें क्या होता है स्किन बैरियर

आपकी त्वचा कई लेयर्स से बनी होती है। आपकी बॉडी को प्रोटेक्ट करने में हर एक स्किन लेयर का अपना महत्व होता है। त्वचा के बाहरी परत जिसे स्ट्रैटम कॉर्नियम कहते हैं, इनमें कठोर स्किन सेल्स पाए जाते हैं, जिसे कॉर्नोसाइट्स कहते हैं। ये सभी एक साथ जुड़े होते हैं और इसे हम स्किन बैरियर कहते हैं।

iss tarah rakhein twacha ka khayal
जानते हैं कि हेल्दी स्किन बनाए रखने के लिए किन टिप्स को करें फॉलो। चित्र : एडॉबीस्टॉक

यहां जाने क्यों महत्वपूर्ण है स्किन बैरियर

स्किन बैरियर शरीर को फ्री रेडिकल्स और वातावरण में मौजूद प्रदूषण से प्रोटेक्ट करता है। वहीं वातावरण में मौजूद टॉक्सिंस आपकी त्वचा में पेनिट्रेट हो त्वचा के साथ ही सेहत संबंधित तमाम समस्याओं का कारण बन सकती हैं। इसके साथ ही स्किन बैरियर आपकी त्वचा के अंदर हाइड्रेशन को बनाए रखना है। यदि यह डैमेज हो जाए तो पानी इवेपरेट हो सकती है, जिससे की त्वचा डिहाइड्रेटेड और ड्राई हो जाएगी।

अब समझें स्किन बैरियर किस तरह हो सकती हैं डैमेज

अधिक ह्यूमिड या ड्राई वातावरण में लंबा वक्त बताने से।
वातावरणीय प्रदूषण जो की एलर्जी और इन्फेक्शन का कारण बन सकते हैं।
सूरज की किरणों के सीधे संपर्क में लंबा वक्त बिताना।
अल्कलाइन डिटर्जेंट और साबुन का इस्तेमाल।
ओवर एक्सफोलिएशन और ओवर वॉशिंग।
जेनेटिक फैक्टर जैसे त्वचा संबंधी एटॉपिक डर्मेटाइटिस और सोरायसिस जैसी स्थिति से संवेदनशील होना।
साइकोलॉजिकल डिस्ट्रेस।
स्टेरॉइड्स।

ये निशान बताते हैं कि आपकी स्किन बैरियर डैमेज हो चुकी है

ड्राई और सकैली स्किन
त्वचा में खुजली होना
त्वचा पर खुरदरा और डिस्कलर्ड के पैचेज नजर आना
त्वचा का संवेदनशील होना और सूजन में आना
एक्ने की समस्या
बैक्टीरियल, वायरस और फंगल स्किन इन्फेक्शन का खतरा

How to take care of skin barriers
त्वचा के बाहरी परत जिसे स्ट्रैटम कॉर्नियम को स्किन बैरियर कहते हैं। चित्र : एडॉबीस्टॉक

जानें स्किन बैरियर को कैसे करना है प्रोटेक्ट

1. नियमित रूप से त्वचा को मॉइश्चराइज करें

मॉइश्चराइजर स्किन बैरियर में पानी होल्ड करने की क्षमता को बढ़ा देता है। वॉटर बेस्ड मॉइश्चराइजर जिसमें ग्लिसरीन और लैक्टिक एसिड जैसी इंग्रेडिएंट्स मौजूद होते हैं, जो पानी को त्वचा के अंदर अवशोषित होने में मदद करता है। इससे त्वचा मुलायम रहती है और स्किन इलास्टिन भी मेंटेन रहता है। मॉइश्चराइजर को त्वचा में पूरी तरह अवशोषित होने के लिए इसे गीली त्वचा पर अप्लाई करें।

यह भी पढ़ें : तनाव कम कर आपकी स्किन में ब्राइटनेस लाते हैं ये 3 योगासन, जानिए कैसे

2. खानपान का ध्यान रखना है जरूरी

स्वस्थ व संतुलित डाइट जैसे की अनाज और हेल्दी फैट त्वचा स्वास्थ्य को बनाए रखने में मदद करते हैं। एंटीऑक्सीडेंट और फिश ऑयल से भरपूर डाइट स्किन इलास्टिसिटी को मेंटेन रखते हैं, साथ ही साथ आपकी त्वचा को लंबे समय तक जवां बनाए रखते हैं। गाजर और अन्य पीले और नारंगी रंग के फल एवं सब्जियों का सेवन करें। हरी पत्तेदार सब्जियां जैसे की पलक और केल, टमाटर, बेरीज, बींस, नट्स यह सभी त्वचा के लिए बेहद फायदेमंद होते हैं।

3. स्मोकिंग से परहेज करें

धूम्रपान आपकी त्वचा को उम्र से पहले बूढ़ा बना देता है और झुर्रियों का कारण बन सकता है। यह त्वचा पर ब्लड वेसल्स को संकीर्ण कर देता है, जिससे ब्लड पूरी तरह से सर्कुलेट नहीं हो पाता, इससे ऑक्सीजन की आपूर्ति कम हो जाती है और त्वचा ड्राई हो जाती है। धूम्रपान आपकी त्वचा में कोलेजन और इलास्टिन के स्तर को भी प्रभावित करता है। ये प्रोटीन सेल्स त्वचा को इलास्टिन प्रदान करते हैं। इतना ही नहीं धूम्रपान से शरीर में टॉक्सिन्स का निर्माण होता है और त्वचा कैंसर का खतरा बढ़ जाता है।

अपनी रुचि के विषय चुनें और फ़ीड कस्टमाइज़ करें

कस्टमाइज़ करें
smoking ki aadat chhore
स्मोकिंग से पूरी तरह परहेज रखने की कोशिश करें। चित्र शटरस्टॉक।

4. स्ट्रेस मैनेजमेंट है बेहद महत्वपूर्ण

तनाव त्वचा संबंधी समस्यायों का एक बड़ा कारण है वहीं ये स्किन बैरियर्स को भी नुकसान पहुंचाता है। यह आपके हार्मोन को अव्यवस्थित कर सकता है जिससे आपको एक्ने जैसी त्वचा संबंधी समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है।

5. त्वचा के पीएच स्तर पर ध्यान दें

आपकी त्वचा का पीएच 4.7 के आसपास रहता है। लेकिन कुछ त्वचा उत्पादों का पीएच 3.7 से 8.2 तक हो सकता है। इन प्रोडक्ट्स के इस्तेमाल से स्किन बैरियर प्रभावित हो सकते हैं, इसलिए आपको अपनी त्वचा पर ऐसे स्किन केयर प्रोडक्ट का इस्तेमाल करना चाहिए जिसका पीएच 4.0 और 5.0 के बीच हो।

स्किन पीएच का सामान्य स्तर आपको डर्मेटाइटिस, इचिथोसिस, एक्ने और कैंडिडा अल्बिकन्स संक्रमण जैसी त्वचा की स्थितियों से बचाता है। हालांकि यह सभी उत्पाद अपने pH को लेबल नहीं करते हैं, तो इसका ध्यान भी जरूर रखें।

यह भी पढ़ें : गलत तरीके से खाया, तो फायदे की बजाए नुकसान पहुंचा सकते हैं ये 6 हेल्दी फूड्स

  • 120
लेखक के बारे में

इंद्रप्रस्थ यूनिवर्सिटी से जर्नलिज़्म ग्रेजुएट अंजलि फूड, ब्यूटी, हेल्थ और वेलनेस पर लगातार लिख रहीं हैं। ...और पढ़ें

अगला लेख