ऐप में पढ़ें

जानिए क्या है कुंकुमादि तेल, जो आपकी स्किन के लिए कमाल कर सकता है

Published on:15 November 2021, 19:28pm IST
आयुर्वेद स्वास्थ्य, सौंदर्य और मानसिक कल्याण सामग्री का खजाना है। पर हम इस खजाने के बारे में बहुत कम जानते हैं। आज हम ऐसी ही एक अनजानी सौंदर्य सामग्री कुंकुमादि के बारे में बताने जा रहे हैं।
kumkumadi tel ke fayde
कुंकुमादि तेल आपकी स्किन के लिए कमाल कर सकता है। चित्र : शटरस्टॉक

त्वचा हमारे शरीर का सबसे बड़ा अंग है। यदि हमारे शरीर में किसी प्रकार की समस्या या विकार है, तो इसकी झलक हमें सबसे पहले अपनी त्वचा पर दिखाई देती है। इसलिए, त्वचा को उतनी ही देखभाल और ध्यान देने की आवश्यकता होती है, जितनी कि हमारे शरीर के बाकी सभी अंगों को।

आयुर्वेद के अनुसार, त्वचा संपूर्ण स्वास्थ्य का एक बड़ा प्रतिबिंब है। यदि हमारा शरीर अंदर से स्वस्थ होगा, तो हमारी त्वचा स्वस्थ और चमकदार दिखाई देगी। ऐसे में त्वचा के स्वास्थ्य को बनाए रखने के लिए आयुर्वेद के अनुसार कुमकुमादि तेल (Kumkumadi tailam), बेहतरीन रूप से कार्य कर सकता है।

आखिर क्या है कुंकुमादि तेल की खासियत, जो इसे इतना लोकप्रिय बनाता है। चलिये पता करते हैं।

क्या है कुंकुमादि तेल?

असल में कुंकुमादि तेलम या कुंकुमादी तेल जड़ी-बूटियों का एक अद्भुत आयुर्वेदिक मिश्रण है। यह एक हर्बल तेल है, जो त्वचा को पोषण देने में मदद करता है। कुंकुम शब्द क्रोकस सैटिवस पौधे (crocus sativus plants) को संदर्भित करता है। इसे आमतौर पर केसर के नाम से जाना जाता है।

कुमकुमादि तेलम आपको साफ और दमकता चेहरा पाने में मदद कर सकता है। चित्र-शटरस्टॉक।

पौधे, फूल, फल और दूध के अर्क का एक अद्भुत मिश्रण, इस तेल को एक अच्छा सौंदर्य उत्पाद बनाता है। यह तेल, जिसे मॉइस्चराइजर के रूप में भी इस्तेमाल किया जा सकता है, लगभग सभी प्रकार की त्वचा के लिए उपयुक्त है।

त्वचा के लिए कैसे फायदेमंद है कुंकुमादि तेल?

यह त्वचा के स्वास्थ्य को बेहतर बनाने और त्वचा की विभिन्न समस्याओं के इलाज के लिए फायदेमंद है। एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर होने के कारण यह तेल त्वचा की रंगत में सुधार लाने और काले घेरों को कम करने में मदद करता है। साथ ही त्वचा के दाग-धब्बों से भी छुटकारा दिलाता है।

इसका उद्देश्य रंग को हल्का करना, उम्र बढ़ने के विभिन्न संकेतों जैसे झुर्रियों, फ़ाइन लाइंस और फुंसियों, को कम करना है। यह त्वचा के संक्रमण और हाइपरपिग्मेंटेशन, एलर्जी, एक्जिमा जैसी स्थितियों का प्रभावी ढंग से इलाज करता है।

जानिए इस तेल में शामिल जड़ी-बूटियों और उनके फायदों के बारे में

केसर (Saffron)

कुंकुमादि तेल में प्रमुख घटक क्रोकस सैटिवस यानी केसर है। यह जड़ी बूटी त्वचा के रंग में सुधार लाने और ग्लोइंग स्किन टोन देने में सहायक है। यह पारंपरिक रूप से त्वचा की स्थिति के इलाज के लिए इस्तेमाल किया गया है। इसका उपयोग हर्बल फेस पैक बनाने के लिए भी किया जाता है।

केसर दे सकती है त्‍वचा को खूबसूरत निखार. चित्र : शटरस्टॉक

मंजिष्ठा (Manjishtha)

इसमें मंजिष्ठा है। यह जड़ी-बूटी रक्त को शुद्ध करने में मदद करती है। यह विषाक्त पदार्थों को हटाने और रक्त में से गंदगी को साफ करती है। जिससे त्वचा को बेहतर पोषण मिलता है।

चंदन (Sandalwood)

इसमें पड़ने वाला चंदन, तेल को खुशबू देने और क्लींजिंग बनाने के काम आता है। तेल त्वचा को नरम करने और उसके स्वर में सुधार करने में मदद करता है। यह त्वचा की स्थिति जैसे काले धब्बे के इलाज में सहायक है।

कमल (Lotus)

कमल केसर (नेलुम्बो न्यूसीफेरा) कमल के पौधे का अर्क है। इसका उपयोग त्वचा रोगों के इलाज के लिए किया गया है। यह त्वचा की रंगत को सुधारने में भी मदद करता है।

इस तेल का प्रयोग करने के लिए आप इसे किसी भी आयुर्वेद की प्रमाणित दुकान से खरीद सकती हैं या ऑनलाइन भी ऑर्डर कर सकती हैं।

यह भी पढ़ें : सर्दियों में रूखी त्वचा से हैं परेशान, तो ये 3 होम मेड मॉइस्चराइजर कर सकते हैं आपकी मदद

ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ

प्रकृति में गंभीर और ख्‍यालों में आज़ाद। किताबें पढ़ने और कविता लिखने की शौकीन हूं और जीवन के प्रति सकारात्‍मक दृष्टिकोण रखती हूं।