जानिए क्या हैं हीट पिंपल्स? हम बता रहे हैं इनसे बचने के घरेलू उपाय

Published on: 23 March 2022, 19:40 pm IST

क्या आप गर्मी के बढ़ने साथ अपने चेहरे पर लाल - लाल दानों को उभरते देख रही हैं? तो ये हीट पिंपल्स हो सकते हैं। जानिए क्या है इनका कारण और उपाय।

हीट पिंपल्स क्या हैं और उनसे बचने के घरेलू उपाय क्या हैं. चित्र : शटरस्टॉक

क्या आपने कभी गर्मी में त्वचा पर छोटे – छोटे दाने निकलते हुए देखे हैं? यह लाल छोटे – छोटे दाने कहीं पर भी निकाल आते हैं और कभी – कभी खुजली का कारण भी बनते हैं। यदि आपको भी गर्मियों में ये दाने निकलने की समस्या है – तो जान लें कि इन्हें हीट पिंपल्स कहते हैं।

आकाश हेल्थकेयर, द्वारका के डर्मेटोलॉजिस्ट- सीनियर कंसल्टेंट डॉ पूजा चोपड़ा बताती हैं कि – ”हीट रैश / पिंपल्स को प्रिक्ली हीट और मिलिरिया भी कहा जाता है। यह समस्या गर्म और आर्द्र मौसम के दौरान सिर्फ शिशुओं में ही नहीं बल्कि वयस्कों में भी होती है।”

जानिए क्या हैं हीट पिंपल्स (Heat Pimples)

हीट पिंपल्स रेगुलर पिंपल्स से थोड़े अलग होते हैं। ये लाल दाने आपकी त्वचा पर दिखाई देते हैं, खासकर गर्मियों के दौरान। जैसा कि नाम से पता चलता है, वे आपके आंतरिक शरीर की गर्मी का परिणाम हैं। गर्मी के दिनों में शरीर की यह आंतरिक गर्मी बढ़ जाती है क्योंकि बाहर का तापमान पहले से ही गर्म होता है। इस प्रकार ये कारक हीट पिंपल्स के लिए अनुकूल वातावरण बनाते हैं।

जब शरीर में गर्मी बढ़ जाती है, तो यह सीबम के अधिक उत्पादन को बढ़ा देता है। जब वसामय ग्रंथियां अधिक सक्रिय हो जाती हैं और अधिक सीबम का उत्पादन करती हैं, तो इससे त्वचा के छिद्र बंद हो जाते हैं। इन पोर्स में तेल फंस जाता है, जिससे हीट पिंपल्स बनने लगते हैं।

इनके अलावा, हीट पिंपल्स कई कारणों से भी हो सकते हैं, जैसे खराब खान-पान, टाइट-फिटिंग कपड़े पहनना, बैक्टीरिया का संक्रमण, कमजोर प्रतिरक्षा प्रणाली, शराब का अधिक सेवन और पसीने की ग्रंथियों का बंद होना।

apni skin ko heat pimples se bachaenअपनी त्वचा को हीट पिंपल्स से बचाएं। चित्र : शटरस्टॉक

जानिए हीट पिंपल्स से बचाव के कुछ घरेलू नुस्खे

एलोवेरा जेल (Aloe Vera Gel)

ठंडा एलोवेरा जेल त्वचा पर अद्भुत काम करता है! त्वचा को सुखाने के साथ-साथ, एलोवेरा बैक्टीरिया के संक्रमण को भी कम करता है जो पिंपल्स का कारण बनता है, इसके रोगाणुरोधी गुणों के लिए धन्यवाद। इसके अलावा, एलोवेरा जेल तेजी से उपचार को बढ़ावा देता है।

इसे कैसे उपयोग करे?

थोड़ा सा एलोवेरा जेल लें और इसे हीट पिंपल्स पर लगाएं। यदि आप स्टोर से खरीदे गए एलोवेरा जेल का उपयोग कर रहे हैं, तो सुनिश्चित करें कि इसमें कोई छिपी सामग्री नहीं है। इस जेल को रात भर अपने पिंपल्स पर लगा रहने दें और सुबह इसे धो लें। आप इस अनुष्ठान को हर दिन दोहरा सकते हैं।

नीम के पत्ते (Neem Leaves)

नीम के पत्तों को जीवाणुरोधी गुणों से भरपूर माना जाता है, और यह मुंहासे पैदा करने वाले बैक्टीरिया को मारने में मदद करता है। उनके विरोधी भड़काऊ गुण त्वचा को शांत कर सकते हैं और गर्मी के मुंह के कारण होने वाली सूजन से छुटकारा पा सकते हैं। जल्दी ठीक होने के लिए इस पेस्ट का रोजाना इस्तेमाल करें।

इसे कैसे उपयोग करे?

नीम के कुछ पत्तों को पानी में उबालें, छान लें और ठंडा होने दें। इन पत्तों में एक चम्मच चंदन पाउडर मिलाएं और एक महीन पेस्ट बनाने के लिए ब्लेंड करें। इसे पिंपल्स पर लगाएं और सूखने दें। एक बार सूखने के बाद इसे ठंडे पानी से धो लें।

neem ke faydeनीम में एंटी-इंफ्लेमेटरी, एंटीऑक्सीडेंट और एंटीसेप्टिक गुण होते हैं। चित्र: शटरस्टॉक

टी ट्री ऑयल (Tea Tree Oil)

चाय के पेड़ के तेल में एंटीसेप्टिक और रोगाणुरोधी गुण होते हैं जो चेहरे पर गर्मी के मुंहासों को प्राकृतिक रूप से कम करने में मदद कर सकते हैं। यह त्वचा से ग्रीस और गंदगी को हटाकर प्रकोप को रोक सकता है और छिद्रों को खोल सकता है। हालांकि, टी ट्री ऑयल को सीधे चेहरे पर लगाने से जलन हो सकती है, इसलिए इसे इस्तेमाल करने से पहले हमेशा पतला कर लें और कुछ दिनों में एक बार इसका इस्तेमाल करें।

इसे कैसे उपयोग करे?

एक वाहक तेल (नारियल का तेल / अरंडी का तेल) में टी ट्री ऑयल की 2-3 बूंदें मिलाएं और इसे पिंपल्स पर लगाएं। कुछ देर बाद ठंडे पानी से इसे धो लें।

डॉ पूजा से जानें हीट रैश को रोकने के लिए अन्य उपाय

गर्म, उमस भरे मौसम में एक्सरसाइज न करें।

सूती जैसे कपड़ों से बने ढीले कपड़े पहनें।

एयर कंडीशनिंग का प्रयोग करें।

पसीने की ग्रंथियों को बंद होने से बचाने के लिए बार-बार नहाने या शॉवर से त्वचा को साफ रखें।

स्किन पर ओवर- लैपिंग स्किन (फैट या वजन घटाने) की कोशिश करें।

यह भी पढ़ें : जो इतना काम करते हैं, उन हाथों की देखभाल के लिए हमारे पास हैं DIY मैनीक्योर टिप्स

ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ

प्रकृति में गंभीर और ख्‍यालों में आज़ाद। किताबें पढ़ने और कविता लिखने की शौकीन हूं और जीवन के प्रति सकारात्‍मक दृष्टिकोण रखती हूं।

स्वास्थ्य राशिफल

ज्योतिष विशेषज्ञ से जानिए क्या कहते हैं आपकी
सेहत के सितारे

यहाँ पढ़ें