लॉग इन

Skin breakout : गर्मी में बढ़ जाते हैं स्किन ब्रेकआउट्स, जानें इनसे कैसे करना है डील

क्या आप गर्मी में स्किन ब्रेकआउट से परेशान रहती हैं? तो आपके लिए यह जानना जरूरी है, की आखिर ऐसा क्यों होता है, और ब्रेकआउट होने पर इसको कैसे ट्रीट किया जा सकता है। तो चलिए जानते हैं, इसका कारण और इससे डील करने के उपाय।
सभी चित्र देखे
यह सच है कि हम जो खाते हैं उसका हमारी त्वचा के स्वास्थ्य पर असर पड़ सकता है। चित्र : एडॉबीस्टॉक
अंजलि कुमारी Published: 20 May 2024, 18:09 pm IST
ऐप खोलें

गर्मी का मौसम तमाम तरह की परेशानियों को अपने साथ लेकर आता है। खासकर गर्मी में त्वचा संबंधित समस्याएं बेहद आम हो जाती हैं। इस मौसम पसीना आने की वजह से धूल गंदगी त्वचा पर लंबे समय तक चिपकी रहती है। इसके अलावा सूरज की हानिकारक किरणों का प्रभाव भी बेहद नुकसानदेह होता है। इन सभी फैक्टर की वजह से गर्मी में त्वचा संवेदनशील हो जाती है, और स्किन ब्रेकआउट शुरू हो जाते हैं। क्या आप भी गर्मी में स्किन ब्रेकआउट से परेशान रहती हैं? तो आपके लिए यह जानना जरूरी है, की आखिर ऐसा क्यों होता है, और ब्रेकआउट होने पर इसको कैसे ट्रीट किया जा सकता है। तो चलिए जानते हैं, इसका कारण और इससे डील करने के उपाय।

डर्माटेक की कंसल्टेंट डॉक्टर कल्पना सोलंकी ने ब्रेकआउट के कारण बताते हुए, गर्मी में इनसे बचाव के कुछ महत्वपूर्ण उपाय भी बताए हैं। तो चलिए जानते हैं, ब्रेकआउट से कैसे बचा जा सकता है (acne breakout in summer)।

क्या है गर्मी और एक्ने ब्रेकआउट्स का कनैक्शन

गर्मी के मौसम में त्वचा अधिक ऑयल प्रोड्यूस करती है, साथ ही त्वचा से पसीना आने की वजह से त्वचा चिपचिपी हो जाती है। ऐसे में स्किन पोर्स में ऑयल और डस्ट जमा हो जाते हैं, और पोर्स को बंद कर देते हैं। इतना ही नहीं डेड स्किन सेल्स भी पोर्स में भर जाते हैं, और बैक्टीरिया को अट्रैक्ट करते हैं। जिसकी वजह से इन्फ्लेमेशन खतरा बढ़ जाता है, और पिंपल्स निकल आते हैं।

हारमोंस में बदलाव आते हैं, जिसकी वजह से ब्रेकआउट आना शुरू हो जाते हैं। चित्र : एडॉबीस्टॉक

इसके अलावा हार्मोनल बदलाव भी इसके लिए जिम्मेदार होते हैं। हार्मोनल ब्रेकआउट अक्सर जॉलाइन, गाल और मुंह के आसपास होते हैं। आम तौर पर महिलाओं में मेंस्ट्रूअल साइकिल के दौरान हार्मोनल एक्ने देखने को मिलते हैं। यह ब्रेकआउट आम तौर पर ओवुलेशन के तुरंत पहले और पीरियड्स शुरू होने पर नजर आते हैं।

पीरियड के अलावा कई अन्य कारण भी हैं, जिनकी वजह से हार्मोनल ब्रेकआउट हो सकते हैं। जैसे की प्रेगनेंसी, ओबेसिटी, थाइरॉएड, पीसीओएस, इन्सुलिन रेजिस्टेंस, हाइजीन की कमी। इन सभी स्थितियों में हारमोंस में बदलाव आते हैं, जिसकी वजह से ब्रेकआउट आना शुरू हो जाते हैं।

गर्म मौसम में एक्ने और ब्रेकआउट्स से बचना है, तो ये 5 चीजें आ सकती हैं आपके काम (acne breakout in summer)

1. स्किनकेयर में बदलाव लाएं

समर में स्किन कंडीशन बदल जाती है, इसलिए समर स्किन केयर प्रोडक्ट्स भी अलग होते हैं। गर्मी में ब्रेकअप को कॉल करना है, तो वॉटर बेस्ड मॉइश्चराइजर अप्लाई करें। साथ ही अगर आपको अधिक फ्रिक्वेंटली एक्टिव एक्ने निकल आते हैं, तो ऐसे में सैलिसिलिक बेस्ड स्किन केयर प्रोडक्ट जैसे कि फेस वॉश और टोनर आदि का इस्तेमाल करने की सलाह दी जाती है।

सैलिसिलिक एसिड ब्रेकआउट को रोकती है और दाग धब्बों को हल्का करती हैं। साथ ही आप रेटिनोल का भी इस्तेमाल कर सकती हैं, यह एक्ने के खतरे को कम कर देता है। गर्मियों में ऑयल बेस्ड प्रोडक्ट के इस्तेमाल से बचें, क्योंकि त्वचा पहले से ही बेहद ऑयली और चिपचिपी होती है।

वॉटर बेस्ड सनस्क्रीन अप्लाई करने की सलाह दी जाती है। चित्र- अडोबी स्टॉक

2. सबसे जरूरी है सनस्क्रीन

आमतौर पर सनस्क्रीन स्किन को हल्का चिपचिपा कर देती है, जिसकी वजह से बहुत सी महिलाएं ऐसी हैं, जो इसे अवॉइड करने लगती हैं। ऐसा करना बिल्कुल भी उचित नहीं है। ब्रेकआउट से लेकर टैनिंग तक त्वचा संबंधित तमाम समस्याओं का इकलौता इलाज है सनस्क्रीन। हालांकि, गर्मियों में ऑयल फ्री, वॉटर बेस्ड सनस्क्रीन अप्लाई करने की सलाह दी जाती है। ब्रेकआउट से बचाना है, तो सनस्क्रीन अप्लाई करने के बाद भी धूप में जाने से पहले त्वचा को पूरी तरह से कवर करना न भूले।

यह भी पढ़ें: स्कैल्प को ठंडा कर आपको भी कूल करती हैं ये 5 होम रेमेडीज, आप भी जरूर करें ट्राई

3. पर्याप्त मात्रा में पानी पिएं और हाइड्रेटिंग फल एवं सब्जियों का सेवन करें

गर्मी के मौसम में त्वचा संबंधी समस्याएं परेशान करती हैं, तो पर्याप्त मात्रा में पानी पीकर खुद को हाइड्रेटेड रखें। हाइड्रेशन समग्र सेहत के लिए काफी जरूरी है, खास कर यह गर्मी में अधिक महत्वपूर्ण हो जाता है। उचित मात्रा में पानी के सेवन से स्किन हाइड्रेटेड रहती है, जिससे कि ऑयल प्रोडक्शन बैलेंस रहता है और एक्ने ब्रेकआउट का खतरा कम हो जाता है।

अपनी रुचि के विषय चुनें और फ़ीड कस्टमाइज़ करें

कस्टमाइज़ करें

इसके अलावा पर्याप्त मात्रा में हाइड्रेटिंग फल एवं सब्जियों का सेवन करें, क्योंकि इनमें पानी के साथ-साथ कई महत्वपूर्ण पोषक तत्वों की गुणवत्ता भी पाई जाती है। जो गर्मी में आपके शरीर को समस्याओं से लड़ने के लिए तैयार रखती हैं। इसके अलावा यह आपकी स्किन को भी इंटरनल और एक्सटर्नल प्रॉब्लम से लड़ने के लिए तैयार करती है।

रैशेज की समस्या को दूर करने के लिए गर्म पानी से फेसवॉश करने से बचें। चित्र: शटरस्टॉक

4. स्वेटिंग के बाद फेस वॉश जरूरी है

पसीना आने के बाद त्वचा को क्लीन करना बहुत जरूरी होता है। अब आप यह सोच सकती हैं, कि गर्मी में तो ज्यादातर समय पसीना आता रहता है, जब कभी भी पसीना आए तो अपने स्किन को जरूर साफ करें। खासकर यदि आप कहीं बाहर से आ रही है, और त्वचा चिपचिपी हो चुकी है, तो बिना इंतजार किए सबसे पहले फेस वॉश करें। क्योंकि पसीने से त्वचा पर गंदगी चिपकती है, जो आपके पोर्स के अंदर जाकर इन्हें बंद कर सकती है और एक्टिव ब्रेकआउट का कारण बन सकती है।

यदि आप लंबे समय तक घर के बाहर हैं, तो अपने साथ ऑयल फ्री क्लींजिंग वाइप्स रखें और समय-समय पर अपनी स्किन को साफ करती रहें। ताकि बैक्टीरिया आपके स्किन पर अट्रैक्ट न हो और आप एक्ने ब्रेकआउट से बची रहें।

5. आइस मसाज दे सकती है राहत

कई बार ब्रेकआउट काफी पेनफुल हो सकते हैं, ऐसे में इन पर आइस अप्लाई करने से सूजन और रेडनेस को कम करने में मदद मिलती है। यदि आपको एक्ने नहीं है, तब भी स्किन पर आइस सप्लाई करनी चाहिए, इससे गर्मी में एक्ने ब्रेकआउट का खतरा कम हो जाता है। आइस पोर्स को अनक्लॉग करते हैं, साथ ही साथ एक्सेस ऑयल प्रोडक्शन को भी कंट्रोल करते हैं। इससे एक्टिव एक्ने का दर्द और सूजन कम होता है, साथ ही साथ ब्रेकआउट जल्दी हील हो जाते हैं।

यह भी पढ़ें: एक्ने से परेशान हैं, तो आहार में शामिल करें ये 5 तरह के जूस

अंजलि कुमारी

इंद्रप्रस्थ यूनिवर्सिटी से जर्नलिज़्म ग्रेजुएट अंजलि फूड, ब्यूटी, हेल्थ और वेलनेस पर लगातार लिख रहीं हैं। ...और पढ़ें

अगला लेख