ठंड लगने पर क्यों लाल हो जाते हैं आपके गाल? जानिए इसका कारण और 5 जरूरी विंटर स्किन केयर टिप्स 

खुश्क मौसम आपकी त्वचा को सबसे ज्यादा प्रभावित करता है। जिसमें त्वचा का रूखा होना, फटना और लाल हो जाना भी शामिल है। जानिए क्यों होता है ऐसा। 

sardiyon men oxygen ki kmee se gaal laal ho jate hain
शरीर स्किन को गर्म करने का प्रयास करता है। इससे ब्लड सर्कुलेशन बढ़ जाता है और गाल लाल हो जाते हैं। चित्र : एडोबी स्टॉक
स्मिता सिंह Published on: 18 January 2023, 09:30 am IST
  • 125
इस खबर को सुनें

मौसम बदलने का सबसे अधिक प्रभाव हमारी स्किन पर पड़ता हैं। गर्मी में स्किन पर अलग प्रभाव पड़ते हैं, तो सर्दी में अलग। इसलिए स्किन केयर रूटीन भी 180 डिग्री तक बदलना पड़ता है। गर्मी में स्किन पर दाग-धब्बे अधिक होते हैं, तो ठंडी में स्किन ड्राई हो जाती है या लाल हो जाती है। खासकर गालों की स्किन (flushed cheeks in winter)। ऐसी स्किन के लिए किस तरह की देखभाल जरूरी है। इसके लिए हमने बात की एस्थेटिक ऑरा स्किन एंड हेयर क्लिनिक के डायरेक्टर डॉ. आनंद तोशनीवाल से। आइये सबसे पहले जानते हैं जाड़े में चीक लाल क्यों हो जाते हैं।

क्यों हो जाते हैं गाल लाल (flushed cheeks in winter)

जाड़े के दिनों में ब्लड सर्कुलेशन धीमा हो जाता है। अधिक ब्लड पाने के लिए स्किन के अंदर मौजूद ब्लड वेसल्स चौड़ी हो जाती हैं। ताकि अधिक ब्लड चेहरे में प्रवाहित हो सके। ठंड के दिनों में जब हम घर से बाहर होते हैं और अधिक ठंड लगती है। इस दौरान शरीर स्किन को गर्म करने का प्रयास करता है। इससे भी ब्लड सर्कुलेशन बढ़ जाता है और गाल लाल हो जाते हैं। ठंडी हवा, मॉइस्चराइजेशन और पोषण की कमी से भी स्किन लाल होने लगती है और बाद में फटने लगती है।

डॉ. आनंद तोशनीवाल यहां बता रहे हैं स्किन के लाल होने, फटने और चकत्ते होने से बचाने के 5 उपाय

1 कोलेजन युक्त प्रोडक्ट चुनें (Choose Collagen Products)

जैसे-जैसे हमारी उम्र बढ़ती है, कोलेजन कम होने लगता है। कोलेजन स्किन के लिए बिल्डिंग ब्लॉक का काम करता है। यह स्किन को मजबूती और लोच प्रदान करने के लिए भी जरूरी है। यह त्वचा में रूखेपन को दूर करने में मदद कर सकता है। यदि आपके गाल लाल होकर फटते हैं, तो स्किनकेयर रूटीन में कोलेजन सप्लीमेंट्स शामिल करें। कोलेजन से भरपूर खाद्य- पदार्थों को अपने आहार में शामिल करें ।

2 हाइलूरोनिक एसिड इंजेक्शन (Hyaluronic Acid Injection)

डॉ. आनंद के अनुसार, कॉस्मेटिक इंडस्ट्री में हाइलूरोनिक एसिड इंजेक्शन पर सबसे अधिक चर्चा होती है। जानकारी के अभाव में यह डरावना लग सकता है। लेकिन इस उपचार के परिणाम बढ़िया आते हैं। उपचार को प्रोफिलो (profhilo) कहा जाता है, जो रीमॉडेलिंग स्किन बूस्टर (remodelling skin booster) है। यह त्वचा को हाइड्रेट करता है और इसे पहले की तरह चमकदार बनाता है।

injection drugs ka rakhen khas dhyan.
हाइलूरोनिक एसिड इंजेक्शन त्वचा को हाइड्रेट करता है और इसे पहले की तरह चमकदार बनाता है। चित्र:शटरस्टॉक

इस उपचार के दौरान हाइलूरोनिक एसिड को सीधे त्वचा में इंजेक्ट किया जाता है। यह कोलेजन को फिर से बढ़ने के लिए उत्तेजित करता है। यह रेडनेस के कारण डल हुई स्किन को शाइनी बना देता है।

3 हाइड्रेशन है सबसे जरूरी (Hydration)

स्किन की रक्षा करने के लिए इसे हाइड्रेट करना सबसे जरूरी है। खूब पानी पियें। अगर पानी पीना भूल जाती हैं, तो खूब सारा पानी पीने के लिए रोजाना रिमाइंडर लगाएं। हाइड्रेटेड बॉडी का मतलब है हाइड्रेटेड त्वचा।

4 हाइड्रेटिंग सीरम का प्रयोग करें (Hydrating Serum)

हाइलूरोनिक एसिड युक्त सीरम उपयोग करने के लिए सबसे बढ़िया है। ये स्किनकेयर रूटीन को हाइड्रेशन बूस्ट देते हैं। रेडनेस और ड्राई स्किन के लिए हाइड्रेटिंग सीरम सबसे अच्छा विकल्प हो सकता है। पहले यह जांचना चाहिए कि आपकी त्वचा के प्रकार के अनुरूप कौन सा सीरम सही होगा। आप जो उत्पाद खरीद रही हैं, उसमें वह सब कुछ होना चाहिए जो आपकी त्वचा को चाहिए।

रेडनेस और ड्राई स्किन के लिए हाइड्रेटिंग सीरम सबसे अच्छा विकल्प हो सकता है। चित्र : शटर स्टॉक

सबसे अच्छा उत्पाद चुनने के लिए आप उत्पाद की ऑनलाइन समीक्षा भी देख सकती हैं। दोस्तों और परिवार से उनके अनुभव के बारे में पूछ सकती हैं।

5 हाइड्रेटिंग मास्क (Hydrating Mask) लगाएं

स्किन केयर रूटीन के लिए हाइड्रेटिंग मास्क एक प्रमुख विकल्प है। सर्दियों में स्किन की रेडनेस और ड्राईनेस की समस्या आम है। हाइड्रेटिंग मास्क इम समस्याओं को दूर रखते हैं। प्रीमियम ब्रांड्स से लेकर ऑर्गेनिक तक सभी जगह हाइड्रेशन मास्क उपलब्ध हैं। सही प्रोडक्ट का चुनाव करें और बदलाव देखें। हफ्ते में एक बार करने से आपकी त्वचा प्रभावी रूप से मॉइस्चराइज़ हो सकती है।

यह भी पढ़ें :- एजिंग पर लगाम लगा आपकी त्वचा में नेचुरल ग्लाे ला सकता है क्लींजिंग मिल्क, जानिए इसके फायदे

  • 125
लेखक के बारे में
स्मिता सिंह स्मिता सिंह

स्वास्थ्य, सौंदर्य, रिलेशनशिप, साहित्य और अध्यात्म संबंधी मुद्दों पर शोध परक पत्रकारिता का अनुभव। महिलाओं और बच्चों से जुड़े मुद्दों पर बातचीत करना और नए नजरिए से उन पर काम करना, यही लक्ष्य है।

nextstory

हेल्थशॉट्स पीरियड ट्रैकर का उपयोग करके अपने
मासिक धर्म के स्वास्थ्य को ट्रैक करें

ट्रैक करें