टैटू करवाने के बाद जरूरी है स्किन की स्पेशल केयर, एक्सपर्ट के बताए ये 4 टिप्स होंगे मददगार

टू वाली त्वचा को नियमित और उचित रूप से मॉइस्चराइज़ करने से टैटू की सुरक्षा के लिए त्वचा पर एक पतली झिल्ली बनाने में मदद मिलती है। यह नई त्वचा कोशिकाओं को उत्पन्न करने में मदद करता है

tattoo ke liye skin care tips
टैटू को ड्राई होने से बचाएं . चित्र : शटरस्टॉक
शालिनी पाण्डेय Updated on: 30 September 2022, 20:09 pm IST
  • 111

टैटू बनवाना मजेदार है, खासकर यदि आप इसे पाने के लिए लंबे समय से इंतजार कर रहे हैं। लेकिन यह मत भूलो कि यह कोई हंसी की बात नहीं है; टैटू गुदवाने से आपकी त्वचा टूट जाती है और इससे शरीर में कीटाणुओं का प्रवेश हो सकता है, जिससे संक्रमण हो सकता है। टैटू के बाद की देखभाल किसी भी गंभीर स्वास्थ्य समस्या से बचने के लिए सबसे महत्वपूर्ण है, इसके अलावा आपकी नई कलाकृति को सुंदर दिखने के लिए आपकी त्वचा को हेल्दी रखना भी ज़रूरी है।

अब आप पहले से ही जानते हैं कि आपकी दैनिक त्वचा देखभाल दिनचर्या में ड्राइनेस से बचाव के लिए मॉइस्चराइजर (dry healing tattoo) कितना महत्वपूर्ण है। त्वचा विशेषज्ञ डॉक्टर अनुराग आर्या कहते हैं,  “टैटू वाली त्वचा को गैर-टैटू वाली त्वचा से अलग देखभाल की आवश्यकता होती है।

Tattoo ke fayade aur Nuksaan
टैटू बनवाने के बाद इन बातों का रखें खास ध्यान। चित्र : शटरस्टॉक

हमें टैटू वाली त्वचा को मॉइस्चराइजर के साथ पोषण देने की जरूरत है ताकि त्वचा की अत्यधिक सूखापन और क्षति से मुकाबला किया जा सके। वह ध्यान में रखने के लिए नीचे दी गई युक्तियों को साझा करती है।

टैटू वाली त्वचा को नियमित और उचित रूप से मॉइस्चराइज़ करने से टैटू की सुरक्षा के लिए त्वचा पर एक पतली झिल्ली बनाने में मदद मिलती है। यह नई त्वचा कोशिकाओं को उत्पन्न करने में मदद करता है और टैटू के उपचार को बढ़ावा देता है।

1 बचाएं स्किन ब्रेकाउट (skin breakout) से 

अनमॉइस्चराइज टैटू वाली त्वचा छिद्रों को बंद कर सकती है और त्वचा में ब्रेकआउट का कारण बन सकती है। उचित धुलाई और मॉइस्चराइजिंग के माध्यम से इस तरह की खुजली से बचें। टैटू वाले क्षेत्र पर मरहम या लोशन की एक पतली परत पर्याप्त होनी चाहिए क्योंकि त्वचा को भी सांस लेने की आवश्यकता होती है।

2 इचिंग से मिलती है राहत 

टैटू वाली त्वचा पर नियमित रूप से मॉइस्चराइज़ करने से जलन, खुजली और खुजली को कम करने में मदद मिल सकती है। साथ ही, रूखी त्वचा टैटू को हल्का या फीका दिखा सकती है, जबकि त्वचा को नमीयुक्त रखने से रंग निकलेंगे और आपका टैटू चमकीला दिखाई देगा।

vaginal-moisturiser
केमिकल फ्री मौश्चराइज़र का इस्तेमाल कर स्किन ड्राईनेस का समाधान हो सकता है, चित्र: शटरस्टॉक

काले टैटू के विपरीत रंगीन टैटू के लिए एक अलग देखभाल और मॉइस्चराइजेशन रूटीन की आवश्यकता होती है। ध्यान दें कि काले टैटू की तुलना में त्वचा को अधिक नुकसान होता है और रंगीन टैटू से ठीक होने में अधिक समय लगता है।

3 केमिकल फ्री मॉइस्चराइज़र चुनें

आदर्श मॉइस्चराइजर कोमल, बिना गंध वाला और जरूरी मानकों पर  परीक्षण किया हुआ होना चाहिए। मलहम या लोशन चुनें और अपनी त्वचा को पोषण देने के लिए उपचार प्रक्रिया के माध्यम से उनका नियमित रूप से उपयोग करें। ऐसे लोशन से बचें जिनमें पैराबेंस या लैनोलिन हो, क्योंकि वे त्वचा में जलन पैदा कर सकते हैं। प्राकृतिक अवयवों वाले मॉइस्चराइज़र का विकल्प चुनें।

4 यह है आदर्श समय 

टैटू वाली त्वचा को मॉइस्चराइज़ करने का आदर्श समय सुबह और शाम का होता है। टैटू को सूखने से बचाने के लिए शॉवर लेने के बाद हमेशा लोशन या मलहम लगाएं। अपने टैटू को दिन में दो बार, हर 8-12 घंटे में मॉइस्चराइज़ करें। यदि आपकी त्वचा शुष्क है, तो आपको अधिक बार मॉइस्चराइज़ करने की आवश्यकता हो सकती है।

यह भी पढ़ें: रेगुलर ज़ीरे वाला दही खाकर बोर हो गई हैं, इस बार नवरात्रि में ट्राई करें गाजर का रायता

  • 111
लेखक के बारे में
शालिनी पाण्डेय शालिनी पाण्डेय

स्वास्थ्य राशिफल

स्वस्थ जीवनशैली के लिए ज्योतिष विशेषज्ञों से जानिए अपना स्वास्थ्य राशिफल

सब्स्क्राइब
nextstory