Retinol for skin : स्किन के लिए कोलेजन से भी ज्यादा बेहतर है रेटिनोल, जानिए इसके फायदे

रेटिनॉल को स्किन एजिंग के निशान को दूर करने वाला माना जाता है। इसे कोलेजन से भी बढ़िया माना जाता है। क्या इसके साइड इफ़ेक्ट भी हैं? जानते हैं रेटिनॉल के बारे में सब कुछ।
सभी चित्र देखे retinol skin aging ko kam karta hai.
झुर्रियों और मुंहासे जैसी स्किन संबंधी समस्या से लड़ने में रेटिनॉल को प्रभावी माना जाता है। चित्र : अडोबी स्टॉक
स्मिता सिंह Updated: 18 Oct 2023, 10:15 am IST
  • 125

हर व्यक्ति चाहता है कि उसकी स्किन साफ़-सुथरी हो। स्किन पर उम्र के निशान नहीं पड़ें। स्किन को युवा बनाए रखने के लिए कुछ विशेषज्ञ रेटिनॉल को स्किन पर अप्लाई करने की सलाह देते हैं। झुर्रियों और मुंहासे जैसी स्किन संबंधी समस्या से लड़ने में रेटिनॉल को प्रभावी माना जाता है। हमें स्किन पर इसे अप्लाई करने से पहले यह जानना होगा कि वास्तव में रेटिनॉल क्या है और यह स्किन पर कैसे काम करता (Retinol for skin) है? क्या यह रेटिनोइड्स से अलग है?

क्या है रेटिनोल (Retinol)

एमडी और डर्मेटोलोजिस्ट डॉ. कशिश कालरा बताते हैं, ‘रेटिनॉल विटामिन ए का घटक है, जो कोशिकाओं को पुनर्जीवित करने में मदद करता है।’

क्या है रेटिनोइड्स (Retinoids)

डॉ. कशिश कहते हैं, ‘रेटिनोइड्स रेटिनॉल के परिवार से ही संबंधित है। इसे पहली बार 1971 में मुंहासे, सोरायसिस, झुर्रियों और उम्र बढ़ने के लक्षणों और कुछ कैंसर के इलाज के रूप में भी प्रयोग किया गया था। हार्वर्ड हेल्थ पब्लिशिंग के अनुसार, सबसे पहले रेटिनोइड ट्रेटीनोइन टॉपिकल का उपयोग मुंहासे के इलाज के लिए किया जाता था। बाद में पाया गया कि यह कोशिका परिवर्तन को बढ़ावा देता है और स्किन पर पिगमेंटेशन के धब्बे मिटाता है।’

समझिए रेटिनोइड्स और रेटिनॉल्स में अंतर (Retinols and Retinoids)

रेटिनॉल और रेटिनोइड्स दोनों स्किन एजिंग को कम कर सकते हैं। रेटिनोइड्स और रेटिनॉल्स दोनों विटामिन ए परिवार के सदस्य हैं, लेकिन दोनों की इंटेंसिटी अलग-अलग है। रेटिनॉल मूल रूप से रेटिनोइड का एक कमजोर रूप है। यही कारण है कि वे ओवर-द-काउंटर हैं। दूसरी ओर रेटिनोइड हाई कंसंट्रेशशन में उपलब्ध रहते हैं।

कैसे काम करता है रेटिनोल (How Retinol works)

रेटिनॉल कोलेजन के टूटने को धीमा करता है और लोच बढ़ाता है। इससे स्किन मजबूत और कोमल दिखती है। यह स्किन की बनावट और रंगत को एकसमान बनाने में मदद कर सकता है। कुछ लोगों को इससे एलर्जी हो जाती है। इससे स्किन में जलन पैदा हो सकती है। इसलिए इसका इस्तेमाल विशेषज्ञ की सलाह पर करें।

नियमित उपयोग है जरूरी (Retinol uses and benefits)

रेटिनॉल पिम्पल्स और एक्ने को साफ़ करने में मदद करता है। यह जल्दी ठीक नहीं होता है। त्वचा में सुधार होने में कुछ सप्ताह या कुछ महीने लग सकते हैं। शुरुआत में रेटिनॉल का उपयोग करने पर पिम्पल्स ज्यादा भी हो सकते हैं।

Retinol skin ko kayi samasyao se bachata hai
रेटिनॉल पिम्पल्स और एक्ने को साफ़ करने में मदद करता है। चित्र : शटरस्‍टॉक

यदि नियमित रूप से इसका उपयोग किया जाता है, तो पहले कुछ हफ्तों के भीतर स्किन की टोन, चिकनाई और ब्रेकआउट में सुधार दिखाई देता है। फाइन लाइन्स और छोटी-मोटी दिक्कत खत्म करने में कई हफ्तों से लेकर महीनों तक का समय लग सकता है। गहरी रेखाएं और हाइपरपिग्मेंटेशन खत्म होने में कई महीने लग सकते हैं।

उपचार होने में लग सकते हैं कई महीने (Retinol Treatment)

त्वचा के खुरदरे धब्बों को खत्म करने के साथ-साथ एजिंग के निशान को भी खत्म कर सकता है रेटिनॉल। हालांकि झुर्रियों में सुधार दिखने में कम से कम 3-6 माह लग सकते हैं। कुछ मामलों में 12 महीने भी लग सकते हैं। इसके लिए नियमित उपयोग बेहद जरूरी है

कोलेजन से बेहतर हो सकता है रेटिनॉल (Retinol is better than collagen)

यदि कोलेजन से इसकी तुलना की जाए, तो यह स्किन की सबसे ऊपरी परतों में प्रवेश नहीं कर पाता है। यह हेल्दी स्किन को रीजुवेनेट नहीं कर सकता है। इसकी बजाय यह स्किन की दिखावट को निखारने के लिए स्किन की कोशिकाओं के बाहर काम करता है। रेटिनॉल कोलेजन से अधिक शक्तिशाली माना जा सकता है। यह लंबे समय में बेहतर परिणाम देता है। इसके कुछ साइड इफेक्ट्स भी हो सकते हैं

रेरेटिनॉल कोलेजन से अधिक शक्तिशाली माना जा सकता है। चित्र : अडोबी स्टॉक

साइड इफेक्ट से बचने के लिए धीरे-धीरे करें शुरुआत (Retinol side effects)

रेटिनॉल स्किन में जलन पैदा कर सकता है। स्किन पर रेडनेस या खुजली का अनुभव हो सकता है। जैसे-जैसे स्किन उपचार की आदी हो जाती है, ये लक्षण दूर हो जाते हैं। इसलिए धीरे-धीरे शुरुआत करनी चाहिए। पैच परीक्षण के बाद कुछ दिनों का गैप देकर उपयोग किया जा सकता है। धीरे-धीरे इसे प्रति दिन एक या दो बार तक बढ़ाया जा सकता है।

अपनी रुचि के विषय चुनें और फ़ीड कस्टमाइज़ करें

कस्टमाइज़ करें

यह भी पढ़ें :- स्कारलैस नहीं है प्लास्टिक सर्जरी, जानिए इसके बारे में कुछ जरूरी बातें

  • 125
लेखक के बारे में

स्वास्थ्य, सौंदर्य, रिलेशनशिप, साहित्य और अध्यात्म संबंधी मुद्दों पर शोध परक पत्रकारिता का अनुभव। महिलाओं और बच्चों से जुड़े मुद्दों पर बातचीत करना और नए नजरिए से उन पर काम करना, यही लक्ष्य है।...और पढ़ें

अगला लेख