हेयर ग्रोथ भी हो सकती है अनईवन, जानिए इसका कारण और इसे संतुलित करने के उपाय

प्रदूषण का बढ़ता स्तर और पोषण की कमी हेयरफॉल और बालों की असमान ग्रोथ का कारण बनते हैं। अगर आप भी ऐसी ही समस्या का सामना कर रहीं हैं, तो जानें बालों की अनईवन ग्रोथ को नियमित करने के लिए कुछ रेमिडीज़।
Gene hair growth ko kaise krhi hai prabhaavit
जानते हैं जीन हेयरलॉस से लेकर हेयरग्रोथ को कैसे प्रभावित करती है ( genes effect on hair growth) चित्र : अडोबी स्टॉक
ज्योति सोही Updated: 6 Dec 2023, 01:59 pm IST
  • 141

बालों का टूटना, झड़ना और हेयर ग्रोथ में कमी वो आम समस्याएं जिससे हर दूसरा व्यक्ति जूझ रहा है। इन सब के अलावा बालों की असमान ग्रोथ भी चिंता का विषय बनने लगती है। अधिकतर लोग बालों की अनइवन ग्रोथ के चलते ट्रिमिंग और कैमिकल युक्त प्रोडक्टस का इस्तेमाल करने लगते हैं। इससे बालों में रूखे और बेजान होने लगते हैं। दरअसल, शरीर में पोषक तत्वों की कमी और वायुमंडल में मौजूद पाल्यूटेंट्स हेयरफॉल और बालों की असमान ग्रोथ का कारण बनते हैं। अगर आप भी ऐसी ही किसी समस्या का सामना कर रहीं हैं, तो जानते हैं कुछ ऐसी ही नेचुरल रेमिडीज़ जिनकी मदद से बालों की अनईवन ग्रोथ को नियमित किया जा सकता है (Home remedies for uneven hair growth)।

बालों की असमान हेयरग्रोथ के लिए इन नेचुरल टिप्स को करें फॉलो (Home remedies for uneven hair growth)

1. करी पत्ता और नारियल का तेल

जीवाणुरोधी गुणों से समृद्ध नारियल तेल में कैल्शियम और मैग्नीशियम जैसे पोषक तत्व पाए जाते हैं। जो बालों के रोम को मज़बूत बनाकर ग्रोथ को बढ़ाते हैं। वहीं एंटी इंफ्लामेटरी गुणों से भरपूर करी पत्ता स्कैल्प संबधी समस्याओं को हल करके बालों को टूटने से बचाते हैं। इससे बालों की ग्रोथ सामान्य होने लगती है। इसके लिए एक कप नारियल के तेल में 8 से 10 करी पत्ते डालकर कुछ देर तक उबालें। जब तेल का रंग बदलने लगे, तो गैस बंद कर दें। सप्ताह में दो से तीन बार इससे बालों की चंपी करें।

curry patte aur coconut oil ke fayde
बालों के लिए करी पत्ता और नारियल तेल के फायदे. चित्र : शटरस्टॉक

2. गुड़हल के फूल और ऑलिव ऑयल

मौसम बदलने के साथ हेयरफॉल और डैंड्रफ की परेशानी बढ़ने लगता है। ऐसे में हिबिस्कस यानि गुड़हल के फूलों में पाए जाने वाले फ्लेवोनोइड्स बालों को झड़ने से रोकते है। इसके अलावा ऑलिव ऑयल में पाए जाने वाले अमीनो एसिड डैंड्रफ को दूर करने में मदद करते हैं। इसके अलावा बालों में शाइन भी बरकरार रहती है। बालों में नमी को बरकरार रखने के लिए गुड़हल की पत्तियों को पीसकर ऑलिव ऑयल में मिलाएं और फिर कुछ देर पकने के लिए छोड़ दें। 10 से 15 मिनट के बाद तेल के गुनगुना होने के बाद बालों में मालिश करें। 30 मिनट के बाद बालों को माइल्ड शैम्पू की मदद से धोएं।

3. ग्रीन टी और सेब का सिरका

एंटीऑक्सीडेंटस से भरपूर ग्रीन टी से बालों को नई ताज़गी मिलती है। इससे मौसम के साथ बढ़ने वाला रूखापन कम होने लगता है और बाल शाइनी लगने लगते हैं। इसमें मौजूद एपिगैलोकैटेचिन गैलेट हेयर प्रॉबलम्स को सॉल्व करता है। इससे बालों का वॉल्यूम बढ़ता है और अनईवन ग्रोथ से राहत मिल जाती है। सेब के सिरके को ग्रीन टी में समान मात्रा में मिलाकर बालों में लगाएं और फिर बालों को 20 से 25 मिनट के बाद धोएं।

Dudh, kela aur oats se tayaar hair mask lagane ke fayde
कच्चे दूध में प्लेन ओटस को मिलाकर गाढ़ा पेस्ट बना लें और इसे बालों की जड़ों में लगाएं। चित्र : अडोबी स्टॉक

4. ओटमील और कच्चा दूध

कच्चे दूध में केला और प्लेन ओटस को मिलाकर गाढ़ा पेस्ट बना लें और इसे बालों की जड़ों में लगाएं। इससे बालों में बढ़ने वाली रफनेस दूर होती है। इसमें मौजूद सैपोनिन बालों को मुलायम और टूटने से बचाता है। इसके अलावा इसमें पाया जाने वाला प्रोटीन बालों की मज़बूती को बढ़ाने लगता है। सप्ताह में दो बार इसका इस्तेमाल बालों की ग्रोथ को बूस्ट करता है।

किन बातों का ख्याल रखें

1. गर्म पानी से बालों को धोने से बचें

सर्दी के मौसम में नहाने के लिए गुनगुने पानी का इस्तेमाल किया जाता है। मगर बालों के मॉइश्चर को बनाए रखने के लिए इसे माइल्ड शैम्पू लेकर ठण्डे पानी से ही धोएं। इससे ड्राईनेस की समस्रू बढ़ जाती है। इसके अलावा बालों के रोम भी कमज़ोर होने लगते हैं और इससे स्कैल्प पर खुजली की भी समस्या बढ़ जाती है।

2. अलग तौलिए का प्रयोग करें

जिस प्रकार त्वचा को हेल्दी और क्लीन बनाए रखने के लिए किसी और के टॉवल का प्रयोग नहीं करते हैं। ठीक उसी प्रकार से बालों को हेल्दी और जानदान बनाए रखने के लिए अपने अलग तौलिए का प्रयोग करें। अगर आप किसी अन्य व्यक्ति के तौलिए से बालों को सुखाती है। तो उसके बालों में मौजूद बैक्टीरिया समेत अन्य समस्याएं आपके बालों की सेहत को खराब कर सकती है।

bath towel ko share na karein
यदि बाथ टॉवल, कंघी, मेकअप ब्रश की सफाई पर ध्यान नहीं दिया जाए, तो यह संक्रमण के खतरे को बढ़ा सकते हैं। चित्र : अडोबी स्टॉक

3. लकड़ी की कंघी करें प्रयोग

इको फ्रेंडली वुडन कॉम्स स्कैल्प को नुकसान पहुंचाए बिना बालों को मजबूत बनाती है। इससे असमाल हेयरग्रोथ की समस्या से भी बचा जा सकता है। इससे सिर का ब्लड सर्कुलेशन बढ़ने लगता है। जो हेयरप्रोबल्मस को हल कर देता है।

4. रेगुलर ट्रिमिंग है ज़रूरी

अगर आपके बाल डब्ल्यू आकार में नज़र आने लगे हैं, तो बालों की ट्रिमिंग अवश्य करवाएं। इससे बालों की ग्रोथ समान रूप से होने लगती है। इसके अलावा हार्श कैमिकल्स को भी बालों में लगाना अवॉइड करें। अनईवन बालों की ग्रोथ से दो मुंहे बालों की समस्या भी बढ़ने लगती है और उससे बालों का वॉल्यूम भी प्रभावित होता है।

ये भी पढ़ें-  नहाने के बाद होने लगती है त्वचा पर खुजली और रूखापन, तो ये 5 घरेलू उपाय दे सकते हैं आपको राहत

अपनी रुचि के विषय चुनें और फ़ीड कस्टमाइज़ करें

कस्टमाइज़ करें

  • 141
लेखक के बारे में

लंबे समय तक प्रिंट और टीवी के लिए काम कर चुकी ज्योति सोही अब डिजिटल कंटेंट राइटिंग में सक्रिय हैं। ब्यूटी, फूड्स, वेलनेस और रिलेशनशिप उनके पसंदीदा ज़ोनर हैं। ...और पढ़ें

अगला लेख