इन 5 कारणों से फायदेमंद है बालाें की ट्रिमिंग, जानिए आपको कितनी बार कटवाने चाहिए बाल?

हेयर केयर रुटीन में हेड मसाज से लेकर सही शैंपू का चुनाव तक सभी कुछ शामिल है। पर क्या आप जानती हैं कि बालों की नियमित ट्रिमिंग भी हेयर केयर का एक जरूरी हिस्सा है! जी हां, हेयर एक्सपर्ट 5 कारणों से इसकी सलाह देते हैं।
hair trimming kyu hai faydemand
यहां जानें बालों को ट्रिम करने के फायदे। चित्र : एडॉबीस्टॉक
संध्या सिंह Published: 5 Sep 2023, 01:59 pm IST
  • 145

बालों को लंबा और घना बनाने के लिए बालों का ध्यान रखना बहुत जरूरी होता है। बालों को मजबूत बनाने के लिए हम कई शैंपू, तेल और सीरम का इस्तेमाल करते हैं। ताकि बालों को लंबा किया जा सके है। कई लोग मानते हैं कि बालों को लंबा करने के लिए उन्हे नियमित रूप से कटवाने की जरूरत भी होती है। ऐसे में सवाल यह भी उठता है कि अगर आप बार-बार बालों को कटवाती रहेंगी, तो वे लंबे कैसे होंगे? तो चलिए एक हेयर एक्सपर्ट से जानते हैं बालों के लिए ट्रिमिंग के फायदे और इसका सही समय।

डॉ.जुश्या सरीन एक डर्मेटोलॉजिस्ट हैं। वे अकसर बालों की समस्याओं और उनके समाधान पर बात करती हैं। डाॅ जुश्या हेल्दी बालों के लिए उन्हें समय-समय पर ट्रिम करवाने की सलाह देती हैं।

पहले जान लेते हैं बालों को ट्रिम करवाने के फायदे

1 बेहतर होता है बालों का स्वास्थ्य

अपने बालों को नियमित रूप से ट्रिम करने या काटने से बालों के स्वास्थ्य को बनाए रखने में मदद मिलती है। दोमुंहे बालों और क्षतिग्रस्त बालों को हटाने से आगे टूटने से रोका जा सकता है और इससे आपके बालों को स्वस्थ बनाए रखने में मदद मिलती है और बालों को अच्छा दिखाने में मदद मिलती है।

hair trim ke fayde
निश्चित अंतराल पर बालों की ट्रिमिंग कराने सेे दो मुंहे बाल की समस्या समाप्त हो जाती है। चित्र: शटरस्टॉक

2 बालों का टूटना कम होता है

क्षतिग्रस्त बालों का एक संकेत दोमुंहे बाल हैं। जब आपके बाल दोमुंहे हो जाते हैं, तो ये अधिक उलझने लगते है। बालो के स्वास्थ्य को फिर से बहाल करने और अपने बालों को फिर से बढ़ाने के लिए सबसे अच्छा तरीका ट्रिम करवाना है। ट्रिम दोमुंहे बालों से छुटकारा पाने में मदद करता है जिससे बालों को टूटने से बचाने में मदद मिलती है।

3 यह बालों को बढ़ने में मदद करता है

बालों को कटवाना आपके बाल को सीधे तौर से जड़ों से बढ़ाने में मदद नही करता है। ये आपके दोमूहें बालों को खत्म करता है जिससे आपके बाल कम उलझने है और आपके बालों को कंघी करते समय कम ब्रेकेज होता है। इससे आपके डैमेज बाल खत्म हो जाते है और आपके बाल स्वस्थ दिखते है।

4 स्टाइल बनाए रखना आसान होता है

यदि आपको हमेशा अपने स्टाइल में बदलाव करने का शौक है, तो उसमें बालों को कटवाना आपकी मदद कर सकता है। बालों को अलग-अलग तरह से कटवाने से आपको अपने चेहरे के आकार में बदलाव दिखाने में मदद मिलती है। इससे आपको अपने स्टाइल को नियमित तौर पर बदलने में मदद मिलती है।

5 बालों के टेक्सचर में सुधार करता है

डॉ.जुश्या सरीन सुझाव देती हैं कि यदि आपके बाल अच्छे हैं, तो नियमित बाल कटवाने से आपके बालों के टेक्सचर में सुधार करने में मदद मिल सकती है। जब बालों को नियमित रूप से ट्रिम किया जाता है, तो इससे बाल घने और मोटे दिख सकते हैं। ऐसा इसलिए है क्योंकि एक अच्छा स्टाइलिस्ट उन्हें काटते समय सिरों को टेक्सचर देगा, जिससे पतले बालों को भी घने होने का भ्रम होगा। नियमित बाल कटवाने से आपके बालों एक अच्छा आकार भी मिलता है।

baalon kii growth ke liye karaen trimimng
क्षतिग्रस्त बालों का एक संकेत दोमुंहे बाल हैं। चित्र : शटरस्टॉक

एक्सपर्ट से जानते हैं बालों को कितनी बार कटवाना चाहिए

डर्मेटोलॉजिस्ट डॉ.जुश्या सरीन ने अपने इंस्टाग्राम हेंडल पर एक पोस्ट शेयर कर बताया कि हमें अपने बालों को कितनी बार और कब कटवाना चाहिए। डॉ.जुश्या सरीन के अनुसार अगर आपके बालों को किसी तरह के कैमिकल से कभी ट्रीट नहीं किया गया है, तो आपको अपने बालों को हर 12 सप्ताह में एक बार कटवाना चाहिए।

डॉ.जुश्या सरीन आगे बताती हैं कि अगर आपने अपने बालों में डाई करवाई है, हीट स्टाइलिंग करवाती हैं या बालों मे किसी भी तरह का कैमिकल ट्रीटमेंट करवाया है, तो आपको अपने बालों को हर 6 सप्ताह में एक बार कटवाना चाहिए। ये आपको दोमुंहे बालों को खत्म करता है और बालों को उलझने से बचाता है। जिससे बाल कम टूटते है और उन्हें बढ़ने में मदद मिलती है।

ये भी पढ़े- चेहरे पर निखार लाने के लिए आप भी घर पर बना सकती है कॉफी के ये 4 फेस मास्क

अपनी रुचि के विषय चुनें और फ़ीड कस्टमाइज़ करें

कस्टमाइज़ करें

  • 145
लेखक के बारे में

दिल्ली यूनिवर्सिटी से जर्नलिज़्म ग्रेजुएट संध्या सिंह महिलाओं की सेहत, फिटनेस, ब्यूटी और जीवनशैली मुद्दों की अध्येता हैं। विभिन्न विशेषज्ञों और शोध संस्थानों से संपर्क कर वे  शोधपूर्ण-तथ्यात्मक सामग्री पाठकों के लिए मुहैया करवा रहीं हैं। संध्या बॉडी पॉजिटिविटी और महिला अधिकारों की समर्थक हैं। ...और पढ़ें

अगला लेख