और पढ़ने के लिए
ऐप डाउनलोड करें

बालों का झड़ना रोकने के लिए यहां हैं कुछ जांची-परखी आयुर्वेदिक टिप्स

Published on:22 November 2021, 21:00pm IST
देश में कोरोना वायरस संक्रमण महामारी के बाद बालों के झड़ने की चिंताएं काफी बढ़ चुकी हैं। अगर आप भी इससे परेशान हैं, तो विशेषज्ञ द्वारा सुझाए गए आयुर्वेद के इन सुझावों को आजमाएं।
टीम हेल्‍थ शॉट्स
  • 113 Likes
baal jhadne ka ilaaj
आयुर्वेद में आपके बालों की समस्याओं का सरल समाधान है. चित्र : शटरस्टॉक

21वीं सदी में जीवन तकनीकी प्रगति के साथ आसान हो गया है। साथ ही, हम गतिहीन जीवन शैली और व्यस्त कार्यक्रम के कारण अधिक बीमारियों का सामना कर रहे हैं, जो हमारी आंतरिक होमियोस्टेसिस (homeostasis) के साथ खिलवाड़ करते हैं।

 पिछले दशक में बालों के झड़ने से पीड़ित लोगों की संख्या में वृद्धि हुई है। 20 से 50 साल के आयु वर्ग के कई लोगों में बाल झड़ना एक नई महामारी है। गलत खान-पान, जीवनशैली और तनावपूर्ण जीवन शैली के कारण बालों के रोग बहुत तेजी से बढ़ रहे हैं।

एक दिन में 50-100 बाल झड़ना सामान्य है, लेकिन यदि आप इससे अधिक अपने बालों को झड़ता हुआ देखते हैं तो इसका मतलब है कि कोई अंतर्निहित स्वास्थ्य समस्या है जो इसका कारण बन रही है। लंबे, सुंदर और घने बाल होना सबसे आकर्षक होता है।

आयुर्वेद चिकित्सा की एक एशियन समग्र प्रणाली ( ancient holistic system ) है, जो दवा से कहीं अधिक है। यह एक व्यक्ति को आंतरिक और बाहरी वातावरण के साथ तालमेल बिठाकर स्वस्थ जीवन जीना सिखाता है। आयुर्वेद बालों को हमारे शरीर के अंदर स्वस्थ अस्थि धातु (हड्डी के ऊतक) के उत्पाद के रूप में मानता है। 

अस्थि धातु का स्वास्थ्य अच्छे पाचन और शरीर के अंदर दोष संतुलन पर निर्भर करता है। बालों के झड़ने का कारण बनने वाले कुछ कारक नीचे दिए गए हैं।

क्या होते हैं बाल झड़ने के कारण?

खराब आहार जिसमें आवश्यक पोषक तत्वों की कमी होती है

 नींद की कमी और अधिक मात्रा में तनाव

 मसालेदार, खट्टे और नमकीन खाद्य पदार्थों का अत्यधिक सेवन

 नमक का अत्यधिक सेवन, अनियमित भोजन, नाश्ता न करना और शरीर में पोषण की कमी

धूम्रपान, धूप और धुंध जैसे पर्यावरणीय कारकों के अत्यधिक संपर्क में आने से भी बालों के स्वास्थ्य पर असर पड़ता है।

इन सभी कारणों से, पित्त दोष वात और अन्य दोषों के साथ बढ़ता है और बालों की जड़ को कमजोर करता है जिससे बाल झड़ते हैं।

आइए जानते हैं बालों का झड़ना कैसे रोकें?

बालों के झड़ने की इस समस्या से निपटने के कुछ आसान तरीके हैं जिसमें – 

Baalo ko healthy rakhne ke liye normal paani se wash kare
सुनिश्चित करें कि आप अपने बालों में तेल लगाए चित्र: शटरस्टॉक

सिर की त्वचा में नारियल का तेल लगाना 

आयुर्वेद के अनुसार सिर त्रिमर्मा में से एक है। अपने सिर पर तेल लगाना एक दैनिक अभ्यास है जो आपके सिर में सभी इंद्रियों के कामकाज में सुधार करता है।  बालों में तेल लगाने से बालों के रोम को पोषण मिलता है और कोर्टेक्स को मजबूती मिलती है।  बालों की मालिश के लिए नारियल के तेल का प्रयोग बालों की रक्षा करता है, कंडीशनर के रूप में कार्य करता है और सिर और गर्दन में रक्त परिसंचरण को बढ़ाता है। 

बाल अस्थि धातु का एक उप-उत्पाद है और अपने बालों पर तेल मालिश करना रक्त परिसंचरण को बढ़ाकर और रोमा कूप (बाल कूप) के विकास को उत्तेजित करके बालों को मजबूत करने के तरीकों में से एक माना जाता है।

नारियल के तेल से सिर की मालिश करने से पित्त और वात संतुलित होता है, जिससे दोनों दोषों का संतुलन बना रहता है।  नारियल आधारित बालों का तेल एमसीटी (MCTs ) से भरपूर होता है और इसमें बालों और खोपड़ी के स्वास्थ्य को बेहतर बनाने के लिए लॉरिक एसिड होता है।  

इस प्रकार यह क्षतिग्रस्त बालों की मरम्मत करता है और नए बालों के विकास में सहायता करता है, जिससे यह बालों के झड़ने का एक प्रभावी उपचार बन जाता है।

नेज़ल ड्रॉप 

औषधीय तेल या घी को दैनिक दिनचर्या में शामिल करने से बालों का झड़ना कम होता है और नए बालों के विकास में तेजी आती है। नेज़ल ड्रॉप्स स्कैल्प को पोषण देते हैं और बालों को मजबूत बनाते हैं। नस्य बालों के रोम को नए बाल उगाने के लिए उत्तेजित करता है।

बाल धोना

सिर पर स्नान करने से पहले हमेशा पानी के तापमान की जांच करनी चाहिए। आयुर्वेद के अनुसार सिर पर गर्म पानी का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए क्योंकि इससे बालों और आंखों की ताकत कम हो जाती है। अपने बालों को धोने के लिए हमेशा आराम से ठंडे पानी का इस्तेमाल करें।  केमिकल युक्त शैंपू से बचें जो आपके बालों को परेशान करते हैं और इसे और नुकसान पहुंचाते हैं।

सर की देखभाल करें

पर्यावरणीय कारकों से बचाने के लिए अधिक हवा, सूरज की किरणों, बारिश और धूल से बचने के लिए में टोपी या बालों पर बांध के रखें।

स्वस्थ आहार और व्यायाम

अपने आहार में साबुत अनाज, पत्तेदार सब्जियां, फल और प्रोटीन शामिल करें।  बादाम जैसे नट्स के नियमित सेवन से जिंक और बायोटिन जैसे आवश्यक पोषक तत्वों में सुधार हो सकता है जो हमारे बालों के विकास के लिए महत्वपूर्ण माने जाते हैं।  आयुर्वेद के अनुसार ओजस को बढ़ावा देने के लिए उन्हें सबसे अच्छे खाद्य पदार्थों में से एक माना जाता है।  ओजस वह महत्वपूर्ण शक्ति है जो आपके संपूर्ण स्वास्थ्य को बढ़ाता है और आपको बीमारियों से बचाता है।

ताजा पका हुआ खाना खाने से सभी पोषक तत्वों का अवशोषण बढ़ सकता है।  यह आपकी जतराग्नि को भी बढ़ाता है जो बदले में अस्थि धातु सहित सभी ऊतक प्रणालियों के उचित गठन में मदद करता है।

व्यायाम आपके हार्मोन को संतुलन में रखने में मदद करता है और परिसंचरण में सहायता करता है।  बालासन, अधो मुख श्वानासन और वज्रासन जैसे सरल योगासन की सलाह दी जाती है।

हॉट योगा करने के ढेरों स्वास्थ्यलाभ हैं। चित्र: शटरस्‍टॉक
हॉट योगा करने के ढेरों स्वास्थ्यलाभ हैं। चित्र: शटरस्‍टॉक

स्ट्रेस करें मैनेज

तनाव हमारे जीवन का हिस्सा बन गया है;  यह हमारे शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य दोनों को प्रभावित करता है।  मेरे गो-टू स्ट्रेस बस्टर्स में गर्म नारियल-आधारित त्वचा और बालों के तेल के आवेदन के बाद कंधे और सिर की मालिश, पार्क में टहलना शामिल है। यदि आपका तनाव अत्यधिक है, तो किसी पेशेवर से बात करें जो उसमें मदद कर सकता है।

केमिकल प्रोडक्ट्स

ज्यादा केमिकल वाले प्रोडक्ट्स का नियमित उपयोग करने से बालों के स्वास्थ्य पर बुरा प्रभाव पड़ता है और आपके बालों की जड़ों को नुकसान पहुंचता है। अपने बालों को स्वस्थ रखने के लिए हानिकारक केमिकल उपचार और गर्म ट्रीटमेंट देने से बचें।

शिरो अभ्यंग, शिरो पिचु

 सिर में अतिरिक्त गर्मी को कम करने के लिए आयुर्वेदिक उपचार जैसे शिरो अभ्यंग और शिरो पिचू बालों के अनुकूल जड़ी बूटियों और नारियल आधारित बालों के तेल के साथ फायदेमंद होते हैं।

अपने आहार, जीवन शैली को बदलकर और साधारण आयुर्वेदिक प्रथाओं और बालों के झड़ने के उपचार जैसे कि अपने बालों को नियमित रूप से तेल लगाना; बालों के झड़ने को प्राकृतिक रूप से रोकना संभव है।

यह भी पढ़े : नहाने से पहले करें तेल मालिश और सर्दियों में त्वचा के रूखेपन से पाएं छुटकारा

टीम हेल्‍थ शॉट्स टीम हेल्‍थ शॉट्स

ये हेल्‍थ शॉट्स के विविध लेखकों का समूह हैं, जो आपकी सेहत, सौंदर्य और तंदुरुस्ती के लिए हर बार कुछ खास लेकर आते हैं।