आंखों के पास नजर आने लगी हैं रेखाएं, तो जानिए क्या है इनका कारण और बचाव के उपाय 

Published on: 11 June 2022, 18:56 pm IST

आप एजिंग को नहीं रोक सकतीं, पर उसके लक्षणों को कंट्रोल कर सकती हैं। आइए जानें क्रो फीट से निपटने के कुछ प्रभावी उपाय। 

jaanen kyaa hain crow feet kee vajah
क्रो फीट की वजह है एजिंग, चित्र: शटरस्टॉक

उम्र बढ़ने के बहुत सारे संकेतों में से चेहरे पर सबसे पहले नजर आना वाला संकेत है झुर्रियां। ये कहीं भी हो सकती हैं – गालों पर, होंठों के ऊपर और आंखों के किनारों पर। आंखों के किनारों पर एक साथ नजर आने वाली तीन झुर्रियां (Wrinkles) बताती हैं कि आपकी उम्र बढ़ रही है। पर कभी-कभी ये 30 या 40 के दशक में ही नजर आने लगती हैं। जिन्हें क्रो फीट (Crow feet) कहा जाता है। आइए जानते हैं क्या हैं इने कारण और आप इनसे कैसे बच (Tips to avoid crow feet) सकती हैं।

क्या हैं क्राे फीट 

क्रो फीट वे झुर्रियां हैं, जो आंखों के आसपास दिखाई देती हैं, जहां मांसपेशियां त्वचा से जुड़ी होती हैं। वे छोटे कौवे के पैर (इसलिए नाम) की तरह दिखते हैं, और अन्य झुर्रियों की तरह, वे उम्र बढ़ने का एक सामान्य हिस्सा हैं। लेकिन जबकि क्रो फीट होना पूरी तरह से सामान्य है, बहुत से लोग उन्हें कम ध्यान देने योग्य बनाने के तरीकों की तलाश कर रहे हैं। यहां आपकी आंखों की महीन रेखाओं को रोकने और उनका इलाज करने में मदद करने के सर्वोत्तम तरीके दिए गए हैं।

Smoking aapke lungs ko nuksaan pohchati hai
स्मोकिंग भी बन सकती है क्रोफीट की वजह। चित्र: शटरस्‍टॉक

यहां बताया गया है कि क्यों आंखों के पास दिखाई देने लगते है क्रो फीट 

1 उम्र बढ़ना 

 समय के साथ त्वचा में लोच कम होने लगती है। साथ ही, जैसे-जैसे आपकी उम्र बढ़ती है, आपकी त्वचा  प्राकृतिक तेल का उत्पादन भी घटा देती है। इससे आपकी त्वचा ड्राई और झुर्रीदार दिख सकती है।

2 अनुवंशिकी

क्या आपके माता-पिता को भी क्रो फीट है? अगर हां तो जीन पूल की वजह से यह आपको भी हो सकती है।

3 पराबैंगनी (UV) प्रकाश के संपर्क में

 इलास्टिन फाइबर और कोलेजन जैसे त्वचा में मौजूद ऊतकों को तोड़ देता है। यह उम्र बढ़ने की प्रक्रिया को तेज कर सकता है और आपके चेहरे को तेजी से झुर्रीदार बना सकता है।

4 पर्यावरण प्रदूषण

शहरों में वायु प्रदूषण ज़्यादा होने से झुर्रियां और समय से पहले बुढ़ापा आने की संभावना बढ़ जाती है। 

5 धूम्रपान

सिगरेट उम्र बढ़ने में भी तेजी ला सकती है। जो महिलाएं सिगरेट पीती हैं, उनकी आंखों के पास ये जल्दी दिखाई देने लगती है। 

6 चेहरे के भाव 

फुसफुसाते हुए, मुस्कुराते हुए और चिल्लाते हुए जब आप अपने चेहरे की मांसपेशियों को स्ट्रेच करते हैं, तो त्वचा में आए स्ट्रेच के कारण स्थायी झुर्रियां बन सकती हैं।

7 मास्क पहने हुए

नए शोध से पता चलता है कि महामारी के बाद से लोगों ने क्रो फीट की समस्या अधिक दिखाई देने लगी हैं। इसकी वजह चेहरे पर लगातार मास्क के प्रयोग को बताया जा रहा है। 

क्या क्रो फीट की समस्या को रोका जा सकता है? 

क्रो फीट उम्र बढ़ने का एक स्वाभाविक संकेत है और चेहरे की गति (यानी मुस्कुराते हुए) का संकेत हैं। इन झुर्रियों को रोकने के लिए बहुत सारे तरीके नहीं हैं, जब तक कि आप पूरी तरह से मुस्कुराना बंद नहीं कर देते। लेकिन कुछ रोकथाम युक्तियां हैं जो क्रो फीट  की तरह झुर्रियों की उपस्थिति को कम करने में मदद कर सकती हैं।

क्रो फीट की समस्या से बचने के लिए आप इन उपायों को अपना सकती हैं 

1 धूम्रपान बंद करें 

अब तक आप जान ही गई होंगी कि स्मोकिंग सिर्फ आपके फेफड़ों ही नहीं, बल्कि आपकी त्वचा के लिए भी नुकसानदेह है। ये त्ववचा पर उम्र से पहले झुर्रियों का कारण बन सकती है। इसलिए अगर आप क्रो फीट झुर्रियों से बचना चाहती हैं, तो आज ही से धूम्रपान बंद कर दें। 

2 रोजाना सनस्क्रीन का प्रयोग करें

हर रोज सनस्क्रीन का इस्तेमाल आपको यूवी रेज से होने वाले नुकसान से बचा सकता है। पर जरूरी है कि सनस्क्रीन का एसपीएफ़ न्यूनतम 30 होना चाहिए। साथ ही इसमें जिंक ऑक्साइड या टाइटेनियम डाइऑक्साइड शामिल होना चाहिए। ये छोटे पराबैंगनी किरणों को अवरुद्ध करते हैं, जो कोलेजन के कम होने का कारण बनते हैं।

3 त्वचा को नमीयुक्त बनाए रखें 

 आंखों के नीचे थोड़ा सा मॉइस्चराइजर लगाएं और त्वचा की नमी बनी बनाए रखें। इससे आपकी त्वचा ड्राई नहीं होगी और उस पर कम झुर्रियां पड़ेंगी।

यह भी पढ़ें: ब्रेकथ्रू ब्लीडिंग 101: आपको इसके बारे में क्या पता होना चाहिए

शालिनी पाण्डेय शालिनी पाण्डेय

स्वास्थ्य राशिफल

ज्योतिष विशेषज्ञ से जानिए क्या कहते हैं आपकी
सेहत के सितारे

यहाँ पढ़ें