और पढ़ने के लिए
ऐप डाउनलोड करें

ठंड की दस्‍तक के साथ ही परेशान करने लगी हैं फटी एड़ियां, तो हम बता रहे हैं इससे बचने के उपाय 

Updated on: 10 December 2020, 10:55am IST
सर्दियों के मौसम में आपको बहुत सारी समस्‍याएं भी झेलनी पड़ती हैं, इन्‍हीं में से एक है क्रैक हील्‍स। पर घबराएं नहीं, हम बता रहे हैं इससे बचने का घरेलू उपाय।  
प्रेरणा मिश्रा
  • 81 Likes
फटी एड़िया ठंड मे कर देती है आपको परेशान,आइये हम,आपको बताए घरेलू उपचार इससे बचने का।चित्र: शटरस्टॉक

छोटे होते दिन के साथ ही ठंड ने भी दस्तक दे दी है। इस मौसम में सबसे पहली परेशानी है आपकी एड़ियों का फटना। ठंड मे यह एक आम समस्या है,परंतु यह धीरे-धीरे आपकी त्वचा और पैरों को नुकसान पहुंचा सकती है। इसलिए जरूरी है कि आप सर्दियों में क्रैक हील्‍स के कारण और घरेलू उपचार भी जानें।  

शुष्क त्वचा तब होती है जब त्वचा पर्याप्त नमी बरकरार नहीं रखती है – उदाहरण के लिए, बार-बार स्नान करने, कठोर साबुन का उपयोग या कुछ चिकित्सीय स्थितियों के कारण। विंटर टाइम एक विशेष समस्या बन जाता है क्योंकि नमी बाहर और घर के अंदर दोनों कम होती है। एपिडर्मिस (त्वचा की सबसे बाहरी परत) की पानी की सामग्री इसके चारों ओर आर्द्रता के स्तर को प्रतिबिंबित करती है।

कैसे फट जाती है एड़ियां?

फटी एड़ियों (Crack heels) की समस्‍या तब होती है जब आपकी एड़ी के रिम के आसपास की त्वचा शुष्क और मोटी हो जाती है।

पैर आपके शरीर का सबसे ज्‍यादा एक्‍सपोज होने वाला हिस्‍सा हैं। चित्र: शटरस्‍टॉक
पैर आपके शरीर का सबसे ज्‍यादा एक्‍सपोज होने वाला हिस्‍सा हैं। चित्र: शटरस्‍टॉक

एड़ी के नीचे वसा पैड पर दबाव बढ़ने से त्वचा विभाजित हो जाती है। त्‍वचा में ड्राईनेस के अलावा मोटापा, गलत तरह के जूते पहनना या नंगे पैर रहना भी शुष्क त्वचा और फटी एड़ी का कारण हो सकता है। 

आइए जाने एड़ियों के फटने के पीछे कारण क्या है?

1.ठंड 

ठंड आते ही एड़ियों का फटना एक आम समस्या है क्योंकि ठंड में एड़ियो को सही पोषण प्राप्त नही हो पाता। जिससे वो धीरे धीरे रूखे पड़ने लगती हैं। यही कारण होता है कि एड़िया फटने लगती है। ठंड में अक्सर घर पर हम जुराबें नही पहनते और इस कारण से रूखी हवा हमारे पैरों को भी रूखा कर देती है।

2.पानी की कमी के कारण

कभी सोचा है हमारी बॉडी ठंड में ड्राई क्यों हो जाती है? क्योंकि ठंड में हम कम पानी पीते है जिससे हमारी बॉडी डिहाइड्रेट हो जाती है। जिससे हमारी त्वचा की सारी नमी खत्म होने लगती है और इसका असर सिर्फ हमारे एड़ियों पर ही नही बल्कि हाथ, पैर सहित चेहरे की त्वचा पर भी दिखने लगता है।

3.मॉइस्चराइज न करना

ठंड में आपको अपनी बॉडी का ख्याल वैसे ही रखना होता है जैसे एक नवजात शिशु का रखा जाता है, इसके लिए समय-समय पर आपको अपनी बॉडी में लोशन लगाने की आवश्यकता पड़ती है।

रात को सोने से पहले चेहरे को मॉइश्‍चराइज करना न भूलें। चित्र: शटरस्‍टॉक
हाथों और पैरों को मॉइश्‍चराइज करना न भूलें। चित्र: शटरस्‍टॉक

व्यस्त शैली के कारण या कहीं बाहर रहने के कारण आप अपने पैरों को मॉइस्चराइज नही कर पाते हैं, जिससे एड़ियों का नाराज होना स्‍वभाविक हैं।

4.रूखे, हार्ड साबुन के उपयोग के कारण  

फटी एड़ी को साफ और सूखा रखना महत्वपूर्ण है, लेकिन एक कठोर साबुन पैरों को साफ करने की बजाए उनको नुकसान पहुंचा सकता है। एक जेंटल, सौम्य क्लीन्ज़र का उपयोग करें, जो आपके पैरों की नमी को नुकसान न पहुंचाए। 

क्रैक हील्स से बचने के उपाय

यह जरूरी है कि आप क्रैक हील्‍स की समस्‍या होने से पहले ही अपने पैरों का ध्‍यान रखना शुरू कर दें। अगर सर्दियों में आपके साथ यह समस्‍या हर बार होती है, तो यहां कुछ टिप्‍स दिए जा रहे हैं, जो आपको इस समस्‍या से निजात दिला सकते हैं। 

1.जुराबें पहनें – मेडिकेटेड क्रीम के साथ मोज़े पहनना, नमी को संजोए रखने में मदद करता है। ताकि यह अधिक समय तक बनी रहे।

2.मॉइस्चराइज़र – इसे दिन और रात दोनों समय में लगाने से सूखापन को कम करने में मदद मिलेगी जो क्रैकिंग का कारण बनता है।

3.पैरों की ठीक से सफाई – जरूरी नहीं है कि आप हर पेडीक्‍योर ही करवाएं। पैरों की ठीक से सफाई करना भी आपको इस तरह की समस्‍या से बचा सकता है। हर रोज पैरों को ठीक से धोएं, प्‍यूमिंग स्‍टोन से रगड़ कर डेड स्किन को निकालें। त्‍वचा को एक्‍सफोलिएट करना क्रैक हील्‍स से बचाने में मदद कर सकता है। 

यह भी ध्‍यान रहे:

अगर आपकी एडियां बहुत ज्‍यादा फट चुकी हैं तो आपको विशेषज्ञ से परामर्श करना चाहिए।

पैरों को गरम पानी में रख कर उसे अच्छे से साफ करे। चित्र: शटरस्टॉक

ओवर द काउंटर दवाएं क्रैक हील्‍स की समस्‍या से निजात दिलाने में मदद कर सकती हैं। खासकर उन लोगों के लिए जिन्हें तुरंत राहत की जरूरत है। 

यह भी देखे:करवा चौथ पर फ्रेश और ग्‍लोइंग स्किन के लिए ट्राय करें ये 4 DIY बॉडी स्‍क्रब

 

प्रेरणा मिश्रा प्रेरणा मिश्रा

हेल्‍दी फूड, एक्‍सरसाइज और कविता - मेरे ये तीन दोस्‍त मुझे तनाव से बचाए रखते हैं।