Winter Foot Care: शहनाज़ हुसैन बता रही हैं सर्दियों में किस तरह करें पैरों की देखभाल, स्किन रहेगी मुलायम

मौसम में बदलाव के साथ पैरों की त्वचा में रूखापन बढ़ने लगता है। ऐसे में पैरों की नियमित केयर से एड़ियों को फटने से रोका जा सकता है। जानते हैं पैरों की केयर कैसे करें।
सभी चित्र देखे foot care ke liye ye tips follow karen
पैरों को मुलायम और कोमल बनाए रखने के लिए आप घर पर भी कुछ उपाय कर सकती हैं। चित्र : शटरस्टॉक
Shahnaz Husain Published: 24 Nov 2023, 08:00 pm IST
  • 160

एड़ियों का फटना एक सामान्य बात है। इसमें कोई दोराय नहीं कि मौसम में बदलाव आने से त्वचा में रूखापन बढ़ने लगता है। वहीं एड़ी की स्किन शरीर के अन्य हिस्सों की तुलना में सख्त और मोटी होती है। नमी की कमी और स्किन सेल्स झड़ने से डेड सेल्स (dead cells) जमा हो जाते हैं। ज्यादा नमी की कमी होने से एड़ियों पर दरारें पड़ जाती हैं जिससे दर्द होता है। पैरों की नियमित केयर, फुट क्रीम (foot cream) से मालिश और उन्हें ठंडी, रूखी हवा से बचाकर एड़ियों को फटने से रोका जा सकता है। उचित देखभाल से ही इस समस्या से निपटा जा सकता है। जानते हैं पैरों की केयर (Foot care tips) कैसे करें।

पैरों की समस्याएँ कई कारणों से हो सकती हैं, जैसे ख़राब फिटिंग वाले जूते, ख़राब मुद्रा, थकान और नियमित देखभाल न करना। पैरों के लिए भी नियमित व्यायाम के साथ-साथ दैनिक देखभाल जरूरी है।

जानते हैं पैरों की त्वचा को स्वस्थ बनाए रखने के लिए कौन सी टिप्स हैं फायदेमंद।

1. नाखूनों की करें केयर

साबुन वाले गर्म पानी में पैरों को भिगोने से नाखूनों और एड़ियों की डेड स्किन नरम होती है। इससे नाखून भी आसानी से कट जाते हैं। नाखून बिल्कुल सीधे काटें। पैर के अंगूठे के नाखूनों के क्यूटिकल्स न काटें। उन्हें क्रीमी बनाएं और धीरे से पीछे धकेलें।

Pairon ke naakhuno ki kaise karein dekhbhaal
नाखूनों की देखभाल के लिए इन टिप्स को फॉलो करें। चित्र अडोबी स्टॉक

2. सोने से पहले एड़ियों को करें मॉइश्चराज

गर्म पानी में पैरों को भिगोने के बाद एड़ियों को प्यूमिक स्टोन से धीरे-धीरे रगड़कर डेड स्किन हटा दें। धोने के बाद अच्छी तरह सुखा लें। स्किन को मुलायम बनाए रखने के लिए फ़ुट क्रीम से मालिश करें।

3. डेड स्किन रिमूव करें

रात को सोने से पहले पैरों को करीब 20 मिनट तक गर्म पानी में भिगोकर रखें। भिगोने से पहले पानी में थोड़ा सा नमक और शैम्पू मिलाएं। गर्म पानी एड़ियों की डेड स्किन को मुलायम करता है। डेड सेल्स हटाने के लिए प्यूमिक स्टोन या हील स्क्रबर की मदद से एड़ियों को धीरे-धीरे रगड़ें। यदि दर्द हो तो मेटल स्क्रबर का इस्तेमाल करने से बचें। धोने के बाद किसी अच्छी क्रीम से स्किन पर मलकर मालिश करें।

4. दिनभर फुट वियर पहनने से बचें

जूते बहुत तंग नहीं होने चाहिए, क्योंकि शरीर के क्षेत्रों पर लगातार प्रेशर से ब्लड सर्कुलेशन की दिक्कत हो सकती है। ज्यादा समय तक जूते न पहनें। जितना संभव हो पैरों को हवा में रखें। गर्मियों में बंद जूते न पहनें। गर्मियों में वेंटिलेशन के लिए सैंडल पहनें और पैरों को टैल्कम पाउडर से सूखा रखें। जो लोग बहुत चलते हैं या लंबे समय तक खड़े रहते हैं, उन्हें मोटे तलवों और कम एड़ी वाले जूते पहनने चाहिए। सामने का भाग इतना चौड़ा होना चाहिए कि पंजों को जगह मिल सके।

galat size aur fitting ke footwear apko kayi samasyae de sakte hain
गलत साइज़ और फिटिंग के जूते आपको कई समस्याएं दे सकते हैं। चित्र: शटरस्टॉक

5. फुट एक्सरसाइज़ है ज़रूरी

• सबसे अच्छा व्यायाम नंगे पैर घास पर चलना है।

• सीधे खड़े हो जाएं, पैर आगे की ओर हों और अपने आप को पंजों के बल उठाएं और फिर अपने आप को वापस नीचे लाएं। इससे पंजे मजबूत होते हैं।

• उंगलियों को मोड़ें, जैसे आप अपने पैरों से फर्श से कुछ उठाने की कोशिश कर रहे हों।

• पंजों को फैलाएं और पैर के अगले हिस्से को घोल-घोल घुमाएं।

अपनी रुचि के विषय चुनें और फ़ीड कस्टमाइज़ करें

कस्टमाइज़ करें

पैरों की देखभाल के लिए इन ज़रूरी सुझावों को न करें नज़रअंदाज़

• उचित ब्लड सर्कुलेशन बनाए रखने के लिए पैर की उंगलियों को हिलाएं।

• ठंडे, रूखे मौसम में पैरों पर रोजाना क्रीम से मालिश करें। शुष्क हवा होने पर पैरों को गर्म पानी में भिगोकर रखें और सूती मोजे पहनकर सो जाएं।

• गर्म पानी में भिगोने के लिए उसमें थोड़ा सा जैतून का तेल, या कोई रिफाइंड तेल मिलाएं।

• दर्द और सूजन के लिए कंट्रास्ट बाथ लें। गर्म पानी में नमक व तेल मिलाकर पैरों को उसमें भिगोएँ। कुछ मिनटों के बाद पैरों को ठंडे पानी में भिगो लें।

ये भी पढ़ें- त्वचा पर भी नजर आते हैं डायबिटीज़ के संकेत, जानिए कैसे करना है डायबिटीज के साथ स्किन केयर

  • 160
लेखक के बारे में

Shahnaz Husain is the founder, chairperson, and managing director of The Shahnaz Husain Group and is considered a pioneer in the realm of herbal beauty in India. ...और पढ़ें

अगला लेख