नेचुरल से लेकर कॉस्मैटिक तक, यहां हैं स्किन एजिंग को कंट्रोल करने वाले उपाय

डर्मा और कॉस्मैटिक की दुनिया में हुई प्रगति ने त्वचा पर नजर आने वाले उम्र के संकेतों को बहुत हद तक काबू कर लिया है। आइए जानते हैं उन सभी उपायों के बारे में जो आपकी स्किन एजिंग (how to prevent skin aging) को कंट्रोल कर सकते हैं।
skin aging hacks kaam karte hain ya nahin yah jaanna jaroori hai
स्किन की नैचुरल तरीके से देखभाल एवं लाइफस्टाइल में बदलाव लाकर भी जवां दिखा जा सकता है। चित्र : शटरस्टॉक
Dr Rinky Kapoor Published: 8 Oct 2022, 15:30 pm IST
  • 155

बढती उम्र के साथ-साथ त्वचा की उम्र भी बढने लगती हैं। यानी बढ़ती उम्र के साथ चेहरे की त्वचा रूखी, पतली और ढीली हो सकती है। इसके अलावा आंखों के चारों ओर हल्की झुर्रियां दिखना भी स्किन एजिंग के संकेत हैं। आप इन्हें पूरी तरह तो नहीं रोक सकतीं। पर कुछ उपाय हैं जो इसे धीमा कर सकते हैं। डर्मा और कॉस्मैटिक की दुनिया में हुई प्रगति ने त्वचा पर नजर आने वाले उम्र के संकेतों को बहुत हद तक काबू कर लिया है। आइए जानते हैं उन सभी उपायों के बारे में जो आपकी स्किन एजिंग (how to prevent skin aging) को कंट्रोल कर सकते हैं।

त्वचा की बढ़ती उम्र के संकेतों को कम करना का उपाय

1 सनस्क्रीन का उपयोग करें 

घर से बाहेर अगर आप ऑफिस या जिम जा रहे हैं तो आप को सनस्क्रीन लगाना जरूरी हैं। सूरज की रोशनी खिड़कियों से भी आती है और इसलिए घर के अंदर भी सनस्क्रीन का इस्तेमाल करें।

2 धूम्रपान छोड़ दें 

धूम्रपान त्वचा को निर्जलित करता है और उम्र बढ़ने की गति को तेज करता है। धुम्रपान के कारण चेहरे की त्वचा का रंग बदलने लगता हैं। यदि आप झुर्रियां नहीं चाहते हैं तो धूम्रपान छोड़ना काफी जरूरी है।

healthy skin ke liye aaj hi smoking chhoden
स्मोकिंग स्किन एजिंग की रफ्तार बढ़ा देती है। चित्र: शटरस्टॉक

3 अपने फेस वॉश को बदलें 

जैसे-जैसे हमारी उम्र बढ़ती है, त्वचा अधिक संवेदनशील और कम तैलीय हो जाती है, इसलिए सामान्य फेसवॉश उस पर सूट नहीं करेगा। डॉक्टर की सलाह लेकर अपने चेहरे को कौनसा फेस वॉंश चलेगा उसका इस्तेमाल करना चाहिए।

4 दोहराए जाने वाले चेहरे के भावों के प्रयोग से बचें 

अपने चेहरे के भावों पर पूरा ध्यान दें। अगर आप बहुत ज्यादा आंखें मूंदने की आदत है तो आज ही रुक जाएं। जब आप चेहरे की अभिव्यक्ति करते हैं तो अंतर्निहित मांसपेशियां सिकुड़ती हैं और दोहरावदार संकुचन इसे एक स्थायी शिकन बना देता है। इसके बजाय चेहरे के भावों को नियंत्रित करने के लिए प्रयास करें।

5 संतुलित आहार लें 

त्वचा के स्वास्थ के लिए संतुलित आहार लेना काफी जरूरी हैं। इसके लिए अपने नियमित आहार में ताज फल, सब्जियां, विटामिन युक्त खाद्यपदार्थ सामिल करें। क्योंकी अच्छा आहार और जादा से जाद पानी का सेवन आपकी त्वचा के स्वास्थ्य के लिए काफी फायदेमंद साबित हो सकता हैं।

6 क्लीन्ज़-टोन

अपनी त्वचा को हर दिन और रात में मॉइस्चराइज़ करें। मॉइस्चराइजिंग जरूरी है क्योंकि यह त्वचा में नमी को रोकता है और झुर्रियों को गहरा होने से रोकता है। रात को सोने से पहले मेकअप हटा दें और क्रीम का उपयोग करें।

7 शराब का सेवन करने से बचें

शराब त्वचा को निर्जलित करती है और रक्त वाहिकाओं को पतला करती है। यह त्वचा को रक्त की आपूर्ति और पोषक तत्वों की आपूर्ति को कम करता है।

त्वचा की बढती उम्र को नियंत्रित करने के लिए त्वचा विशेषज्ञ की सलाह लेना जरूरी

अपनी दिनचर्या में रेटिनोइड्स या रेटिनॉल्स को शामिल करना – रेटिनॉल को आपकी रात के समय की दिनचर्या में सूर्य की क्षति और मुंहासों से लड़ने, सेल कायाकल्प में मदद करता है। इसलिए इसे अपनी रात की दिनचर्या में शामिल करें।

Retinol skin ko kayi samasyao se bachata hai
रेटिनॉल असल में आपकी स्किन को कई समस्‍याओं से बचाता है। चित्र : शटरस्‍टॉक

एंटीऑक्सिडेंट और पेप्टाइड्स – ग्रीन टी, विटामिन ए, सी और ई जैसे सरल तत्व हैं जो त्वचा को नुकसान से बचाते हैं। अपने मॉइस्चराइजर का उपयोग करने से पहले उनका उपयोग करें।

अपनी रुचि के विषय चुनें और फ़ीड कस्टमाइज़ करें

कस्टमाइज़ करें

वानस्पतिक – ये पौधों से प्राप्त होते हैं और कोलेजन संश्लेषण में आवश्यक होते हैं और त्वचा को एंजाइम क्षति से बचाते हैं। आप इनका इस्तेमाल सीरम और मॉइश्चराइजर के रूप में कर सकते हैं।

उम्र बढ़ने के संकेतों से लड़ने के लिए आधुनिक सौंदर्य प्रक्रियाओं के लिए अपने त्वचा विशेषज्ञ से बात करें।

1 बोटॉक्स और फिलर्स

त्वचा को फिर से जीवंत करते हैं और झुर्रियों और रेखाओं को नियंत्रित करते हैं। हयालूरोनिक एसिड से बने फिलर्स त्वचा को कोमल बनाने में मदद करते हैं।

2 केमिकल पीलिंग 

विशेष एसिड या रसायनों का मिश्रण होते हैं जो त्वचा की ऊपरी परत और त्वचा की समस्याओं जैसे मुंहासों के निशान, महीन रेखाएं, उम्र के धब्बे आदि को जला देते हैं और इसके नीचे की कोमल दिखने वाली त्वचा को प्रकट करते हैं।

3 डर्माब्रेशन 

यह रासायनिक छिलके का भौतिक रूप है जो त्वचा की ऊपरी परत और यहां तक कि त्वचा की बनावट को धीरे से साफ़ करने के लिए हीरे के क्रिस्टल के साथ एक विशेष उपकरण का उपयोग करता है।

4 लेजर त्वचा का पुनरुत्थान

यह आधुनिक उपचार एक साथ त्वचा की कई समस्याओं का समाधान कर सकते हैं। लेजर उपचार हाइपरपिग्मेंटेशन में सुधार करते हैं, त्वचा कोशिका कायाकल्प में सुधार करते हैं, सूरज की क्षति को कम करते हैं, त्वचा को मजबूत करते हैं, मुंहासों और अन्य निशानों को कम करते हैं और नई त्वचा कोशिकाओं के विकास को बढ़ावा देते हैं।

 अपने हाथ और पैरों का भी रखें ध्यान 

चेहरे के साथ-साथ अपने हाथ और पैर से भी आपकी उम्र पता चलती हैं। इसलिए घर से बाहर निकलते समय हाथों और पैरों पर भी सनस्क्रीन लगाएं। अपने हाथों की शुष्क त्वचा को रोकने के लिए नियमित रूप से हैंड क्रीम से उनकी मालिश करें।

इससे आपके नाखून और क्यूटिकल्स को भी पोषण मिलता है। मृत त्वचा कोशिकाओं को हटाने के लिए सप्ताह में एक बार बॉडी स्क्रब का प्रयोग करें। बुढ़ापा एक ऐसी प्रक्रिया है जिस पर हमारा नियंत्रण नहीं होता है।

हम जो नियंत्रित कर सकते हैं वह यह है कि हम अपनी त्वचा की देखभाल कैसे करते हैं। त्वचा के स्वास्थ्य के लिए नियमित रूप से व्यायाम करना, स्वस्थ आहार खाना, तंबाकू और शराब से परहेज करना और सही मात्रा में नींद लेना काफी जरूरी हैं।

यह भी पढ़ें – स्किन कैंसर के जोखिम को भी कम कर सकती है कॉफी, एक्सपर्ट से जानिए कॉफी के इस्तेमाल का सही तरीका

  • 155
लेखक के बारे में

Consultant Dermatologist, Cosmetic Dermatologist & Dermato-Surgeon, The Esthetic Clinics ...और पढ़ें

अगला लेख