ओवर स्क्रबिंग से स्किन डैमेज हो गई है, तो रिकवरी में मदद करेंगे ये आसान टिप्स

ओवर स्क्रबिंग त्वचा को नुकसान पहुंचती है। तो चलिए जानते हैं, ओवर स्क्रबिंग से होने वाले नुकसान साथ ही जानेंगे घर पर किस तरह तैयार करना है स्क्रब।

how to repair over exfoliated skin
जानिए आपकी त्वचा के लिए क्यों नुकसानदेह है त्वचा को ज्यादा स्क्रब करना। चित्र शटरस्टॉक।
अंजलि कुमारी Published on: 5 Feb 2023, 18:30 pm IST
  • 123
इस खबर को सुनें

आजकल बाजार में तरह-तरह के एक्सफोलिएटिंग एजेंट मौजूद हैं। वहीं अलग-अलग कंपनी और ब्रांड अलग-अलग तरह के स्क्रब बनाते हैं। हालांकि, इन सभी को बनाने में एक उचित मात्रा में केमिकल का इस्तेमाल किया जाता है। ऐसे में इसे इस्तेमाल करने का सही तरीका मालूम होना बहुत जरूरी है। इसे इस्तेमाल करने का गलत तरीका आपकी त्वचा के लिए काफी हानिकारक हो सकता है। कई लोग जानकारी के अभाव में नियमित रूप से या अल्टरनेट डेज पर त्वचा को एक्सफोलिएट करना शुरू कर देते हैं। जिसके कारण स्किन पोर्स बड़े हो जाते हैं और धूल पॉल्यूशन आसानी से त्वचा के अंदर बैठने लगती (side effects of over exfoliation)। इसलिए हमेशा केमिकल युक्त प्रोडक्ट्स के इस्तेमाल से बचना चाहिए। साथ ही किसी भी चीज की अधिकता उचित नहीं है।

ठीक इसी प्रकार यदि आप त्वचा को एक्सफोलिएट करना चाहती हैं, तो घर पर बने स्क्रब का इस्तेमाल करें। क्योंकि यह अन्य केमिकल युक्त स्क्रब की तुलना में सेहत के लिए ज्यादा अच्छा होता है। हालांकि, घर पर बनाने का मतलब यह नहीं कि आप इसे नियमित रूप से इस्तेमाल करने लगें। जिस तरह किसी भी चीज की अधिकता सेहत के लिए हानिकारक होती है, ठीक उसी प्रकार ओवर स्क्रबिंग भी त्वचा को नुकसान पहुंचा सकती है। तो चलिए जानते हैं, ओवर स्क्रबिंग से होने वाले नुकसान साथ ही जानेंगे घर पर किस तरह तैयार करना है स्क्रब।

यह भी पढ़ें : कैंसर का जोखिम कम करने के लिए इन 4 खाद्य पदार्थो को जरूर करें डाइट में शामिल

scrubbing krna n bhulen.
ओवर स्क्रबिंग से होने वाले नुकसान साथ ही जानेंगे घर पर किस तरह तैयार करना है स्क्रब।चित्र:शटरस्टॉक

यहां जानें जरूरत से ज्यादा स्किन एक्सफोलिएट करने के प्रभाव (side effects of over exfoliation)

ओवर एक्सफोलिएटिंग से स्किन बैरियर डैमेज होने लगता है। हमारी त्वचा के ऊपरी सतह पर ऑयल, फैट और डेड स्किन सेल्स के लेयर होते हैं जो स्किन को प्रोटेक्शन देते हैं। ऐसे में स्किन को ओवर एक्सफोलिएट करने से त्वचा के प्रोटेक्टिव लेयर हट जाते हैं जिसकी वजह से स्किन बैरियर कमजोर पड़ जाते हैं।

त्वचा को ओवर एक्सफोलिएट करने से स्किन लाल पड़ने लगती है। इसके साथ ही आपको नियमित स्किन केयर प्रोडक्ट्स को लगाते वक्त जलन और सेंसेशन महसूस होता है। वहीं त्वचा खिंची खींची सी लगती है और स्किन ब्रेकआउट शुरू हो जाता है। इतना ही नहीं त्वचा को जरूरत से ज्यादा एक्सफोलिएट करने से स्किन हाइड्रेशन छीन जाती है और त्वचा ड्राई हो जाती है।

ओवर स्क्रबिंग के डैमेज को कम करने में मदद करेंगे यह स्टेप्स

सबसे पहले सभी फोमिंग क्लिंजर का इस्तेमाल करना बंद कर दें।

फिजिकल और केमिकल युक्त एक्सफोलिएट के इस्तेमाल से पूरी तरह परहेज रखें।

माइल्ड क्लीनर और फ्रेगनेंस फ्री मॉइश्चराइजर का इस्तेमाल करें।

यह त्वचा के प्रोटेक्टिव लेयर को रीजेनरेट होने में मदद करेंगे।

बैरियर को रिपेयर करने में मदद करेंगी यह खास सामग्री

अपनी त्वचा को वपास से स्वस्थ बनाने के लिए पोषक तत्वों से भरपूर इन खास स्किन फ्रेंडली प्रोडक्ट्स का इस्तेमाल करें। सभी प्रकार के स्किन केयर प्रोडक्ट आपकी प्रभावित स्किन बैरियर स्कोर रिपेयर करने में मदद करेंगे। इसके साथ ही त्वचा में पर्याप्त मॉइस्चर को बनाए रखने में मदद करेंगे।

सेरामाइड
शिया बटर
फैटी एसिड्स
जोजोबा, आर्गन और कोकोनट ऑयल
हाईऐल्युरोनिक एसिड

scrub skin me naya nikhar la sakte hain
स्क्रब स्किन में नया निखार ला सकते हैं। चित्र: शटरस्टॉक

जानें त्वचा को दोबारा से कब एक्सफोलिएट करना शुरू कर सकती हैं

यदि आपने एक बार गलती कर दी है इसका मतलब यह नहीं की आप दोबारा से कभी अपनी त्वचा को एक्सफोलिएट नहीं कर सकती। कुछ महीने बाद जब आपकी त्वचा हील हो जाये तो फिर दोबारा से आप स्किन को एक्सफोलिएट कर सकती हैं। एक सही समय का गैप रखें। हफ्ते में 1 बार त्वचा को एक्सफोलिएट करें।

यह भी पढ़ें : बैली फैट कम करना है तो जरूर पिएं नॉन वेज सूप, हम बता रहे हैं इसके और भी फायदे

डैमेज स्किन को हील करने में मददगार होंगे ये 2 होममेड स्क्रब

1. ओटमील एंड योगर्ट स्क्रब

ओटमील में भरपूर मात्रा में एंटीऑक्सीडेंट मौजूद होता है। इसके साथ ही इसमें एंटी इन्फ्लेमेटरी प्रॉपर्टी मौजूद होती है, जो त्वचा के लिए काफी फायदेमंद मानी जाती है। योगर्ट और ओटमील का कॉन्बिनेशन स्क्रबिंग का एक बेहतर विकल्प हो सकता है।

इसके लिए आपको दो चम्मच ओट्स, एक चम्मच योगर्ट और एक चम्मच कोकोनट ऑयल को एक साथ मिला लेना है। फिर इसे त्वचा पर अप्लाई करें और हल्के हाथों से सर्कुलर मोशन में त्वचा को स्क्रब करें। उसके बाद गुनगुने पानी से त्वचा को साफ कर लें।

2. एप्पल एंड हनी स्क्रब

शहद त्वचा को पर्याप्त नमी प्रदान करता है और इसे मुलायम बनाए रखने में मदद करता है। वहीं सेब में प्राकृतिक रूप से एसिड और एंजाइम की मात्रा मौजूद होती हैं। जो एक्सफोलिएट्री एजेंट की तरह काम करते हुए आपकी त्वचा से डेड स्किन सेल्स को बाहर निकालने में मदद करती हैं। वहीं शहद में एंटीबैक्टीरियल प्रॉपर्टी मौजूद होती है। इन दोनों का कॉन्बिनेशन त्वचा के पोर्स के अंदर तक जाकर गंदगी को बाहर निकालता है और स्किन को एक्ने, पिम्पल्स से प्रिवेंट करता है।

इसे अप्लाई करने के लिए सबसे पहले सेब को कस लें। अब इसमें 1 चम्मच शहद और 1 चम्मच जोजोबा ऑयल डालें। सभी को एक साथ मिला लें और त्वचा पर अप्लाई करें। वहीं हल्के हाथों से सर्कुलर मोशन में स्किन को स्क्रब करें। फिर 5 से 10 मिनट तक इसे लगाकर छोड़ दें। उसके बाद गुनगुने पानी से त्वचा को साफ करें। आप चाहें तो इस मिश्रण को स्टोर करके कुछ दिनों तक रख सकती हैं।

यह भी पढ़ें : एक अनुभवी ऑन्कोलॉजिस्ट से जानिए कैंसर सर्वाइवर्स में क्‍यों दोबारा लौट आता है कैंसर?

  • 123
लेखक के बारे में
अंजलि कुमारी अंजलि कुमारी

इंद्रप्रस्थ यूनिवर्सिटी से जर्नलिज़्म ग्रेजुएट अंजलि फूड, ब्यूटी, हेल्थ और वेलनेस पर लगातार लिख रहीं हैं। ...और पढ़ें

nextstory

हेल्थशॉट्स पीरियड ट्रैकर का उपयोग करके अपने
मासिक धर्म के स्वास्थ्य को ट्रैक करें

ट्रैक करें