वेट लॉस के बाद झड़ने लगे हैं बाल? तो आप भी रखें इन बातों का ख्याल

Published on: 14 February 2022, 08:00 am IST

क्या आप वेट लॉस डाइट पर हैं और सोच रही हैं कि आपके बाल क्यों झड़ रहे हैं? जानिए क्या है वेट लॉस के दौरान हेयर फॉल के कारण और बचाव के उपाय।

वेट लॉस के बाद क्यों झड़ने लगें बाल। चित्र : शटरस्टॉक

वजन कम करना कोई आसान काम नहीं है। हेल्दी खाने से लेकर नियमित रूप से वर्कआउट करने तक, वजन कम करने के लिए हम क्या कुछ नहीं करते हैं। और जब हम अपने मन चाहे वज़न में आने लगते हैं तो इसे महसूस करना किसी उपलब्धि से कम नही है। मगर इसके कुछ सामान्य दुष्प्रभाव हो सकते हैं। उनमें से एक है बालों का झड़ना (Hair Fall)।

यदि आपके बाल वास्तव में झड़ रहे हैं, तो इसका क्या कारण हो सकता है? वजन कम होना बालों के झड़ने की एक संभावना है। इसके अलावा भी हार्मोन परिवर्तन, तनाव, दवाएं, और बहुत कुछ हैं, जो इसका कारण बन सकती हैं। मगर ज़रूरी नहीं है कि जिन लोगों नें वज़न घटाया हो उनके बाल भी झड़ें।

जानिए वज़न कम करने के बाद क्यों झड़ने लगते हैं बाल

बालों का झड़ना वजन घटाने के 3-4 महीने बाद होता है और 6 महीने तक रहता है। विशेषज्ञों का मानना है कि बालों के झड़ने का मुख्य कारण शरीर पर अचानक तनाव है जो वजन घटाने के दौरान होता है।

बालों का झड़ना आमतौर पर तेजी से और अचानक वजन घटाने के कारण पोषक तत्वों की कमी के कारण होता है। ऐसे में तनाव और हार्मोनल परिवर्तन हो सकते हैं, जिससे बाल झड़ने लगते हैं।

weight loss karne se baal jhadne lagte hain
वजन घटाने से बाल झड़ने लगते हैं। चित्र:शटरस्टॉक

वजन घटाने के परिणामस्वरूप बालों का झड़ना एक अस्थायी स्थिति है जो तब होती है जब कोई व्यक्ति बहुत ज़्यादा डाइटिंग या वजन घटाने की सर्जरी के माध्यम से अपना वजन कम करता है।

ऐसे में क्या बालों का झड़ना सामान्य है?

अमेरिकन एकेडमी ऑफ डर्मेटोलॉजी के अनुसार, प्रतिदिन 50-100 बाल झड़ना सामान्य है। एक दिन में 50 से 100 बाल झड़ना सामान्य है। जब शरीर में हर दिन काफी अधिक बाल गिरते हैं, तो एक व्यक्ति के बाल अत्यधिक झड़ते हैं। इस स्थिति के लिए चिकित्सा शब्द टेलोजन एफ्लुवियम है।

क्या है टेलोजन एफ्लुवियम?

अस्थाई रूप से बालों के झड़ने को आमतौर पर टेलोजेन एफ्लुवियम (Telogen effluvium) के रूप में जाना जाता है, और यह बालों के झड़ने का एक सामान्य कारण है। यह आमतौर पर लगभग 3-4 महीने तेजी से वजन घटाने के बाद होता है और 6 महीने तक रहता है।

वजन घटाने के बाद टेलोजेन एफ्लुवियम कभी-कभी आहार में पोषक तत्वों की कमी और शरीर पर वजन घटाने के संचयी प्रभावों का परिणाम होता है। यह विशेष रूप से तब होता है जब वजन कम होना क्रैश डाइटिंग, वजन घटाने की सर्जरी या ज़्यादा डाइटिंग के कारण हो।

baalo ka jahdna rokein
बालों का झड़ना रोकें। चित्र: शटरस्‍टॉक

यही आप वेट लॉस डाइट पर हैं तो इन बातों का रखें ध्यान

बालों के विकास को बढ़ावा देने के लिए उचित पोषण महत्वपूर्ण है। नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ हेल्थ का सुझाव है कि आयरन और जिंक की कम मात्रा वाले आहार से बालों के झड़ने की संभावना अधिक हो सकती है। बालों के विकास को प्रभावित करने वाले अन्य पोषक तत्वों में फैटी एसिड, सेलेनियम और विटामिन डी शामिल हैं।

अमीनो एसिड प्रोटीन के निर्माण खंड हैं और बालों के विकास के लिए आवश्यक हैं। बालों के मुख्य संरचनात्मक प्रोटीन केराटिन के उत्पादन के लिए अमीनो एसिड की आवश्यकता होती है।
जब आपके शरीर को पर्याप्त प्रोटीन नहीं मिलता है, जिसे प्रोटीन कुपोषण भी कहा जाता है, तो यह बालों के झड़ने का कारण बन सकता है। इस प्रकार, यदि आपके कम कैलोरी आहार में पर्याप्त प्रोटीन नहीं है, तो आप बालों के झड़ने का अनुभव कर सकती हैं।

चलते – चलते

वेट लॉस के दौरान यदि आप नहीं चाहती कि आपके बाल झड़ें तो इन सभी पोषक तत्वों की मात्रा को अपने आहार में बनाए रखें। किसी भी पोषण संबंधी कमियों और बालों के झड़ने से बचने के लिए फैड डाइट के बजाय संतुलित आहार लें।

यह भी पढ़ें : सेफ सेक्स आपकी भी जिम्मेदारी है, जानिए कैसे करना है फीमेल कंडोम का इस्तेमाल

ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ

प्रकृति में गंभीर और ख्‍यालों में आज़ाद। किताबें पढ़ने और कविता लिखने की शौकीन हूं और जीवन के प्रति सकारात्‍मक दृष्टिकोण रखती हूं।

स्वास्थ्य राशिफल

ज्योतिष विशेषज्ञ से जानिए क्या कहते हैं आपकी
सेहत के सितारे

यहाँ पढ़ें