Cholesterol Hair Treatment : जानिए क्या है हेयर केयर का यह नया ट्रेंड, क्या यह वाकई फायदेमंद है?

बालों में कोलेस्ट्रॉल की कमी के कारण भी बाल टूटते-झड़ते हैं। इसलिए एक्सपर्ट कोलेस्ट्रॉल हेयर ट्रीटमेंट की सलाह देते हैं । ये गंदगी साफ़ कर बालों को जड़ से मजबूत बनाते हैं।
hair treatment me istemal kiye jane wale chemical nuksandeh hain.
हेयरलॉस की समस्या को सुलझाने के लिए केमिकल के इस्तेमाल को सीमित करें। चित्र : शटरस्टॉक
स्मिता सिंह Published: 13 Oct 2023, 07:00 pm IST
  • 125
मेडिकली रिव्यूड

अब तक हम कोलेस्ट्रॉल को डाइट का एक कंपोनेंट मानते आये थे। कोलेस्ट्रॉल बढ़ने पर हार्ट हेल्थ प्रभावित हो जाते हैं। विशेषज्ञ बताते हैं कि यह सिर्फ आहार का हिस्सा ही नहीं है; बल्कि बालों को भी हेल्दी बनाए रखने में मदद कर सकता है । समय के साथ बालों की कोशिकाओं में पाया जाने वाला नेचुरल कोलेस्ट्रॉल कम हो सकता है। इससे बाल डल, ड्राई और डैमेज हो सकते हैं। ऐसा होने पर बालों का कोलेस्ट्रॉल ट्रीटमेंट किया जाता है। यह बालों के कोलेस्ट्रॉल लेवल को सही कर मजबूत बनाने में मदद कर सकता है। जानते हैं इस ख़ास ट्रीटमेंट (Hair Cholesterol Treatment) के बारे में।

क्या है हेयर कोलेस्ट्रॉल ट्रीटमेंट (Hair Cholesterol Treatment)

कोलेस्ट्रॉल एक एमल्सीफायर है। इसमें मोइस्टराइजर के गुण होते हैं। कोलेस्ट्रॉल के सबसे पुराने रूपों में से एक मेयोनीज़ है। 1950 के दशक में अमेरिकी और अफ्रीकी देशों में मेयोनीज़ से कंडीशन किया जाता था। मुख्य रूप से यही हेयर कोलेस्ट्रॉल ट्रीटमेंट है। इसमें आयल और ग्रीज बहुत अधिक होता है। इसलिए ट्रीटमेंट के बाद बालों की अच्छी तरह सफाई बहुत जरूरी है। हेयर कोलेस्ट्रॉल बाज़ार में आसानी से उपलब्ध हैं, जिसे मंगाकर बालों पर अप्लाई किया जा सकता है। कई शोध बताते हैं कि कोलेस्ट्रॉल बालों की नमी को बहाल कर सकता है। कोलेस्ट्रॉल हेयर ट्रीटमेंट बालों के रोम (Cholesterol for Hair Follicles) को मजबूत कर सकता है और बालों की संरचना को बढ़ा सकता है।

यहां हैं बालों के लिए कोलेस्ट्रॉल ट्रीटमेंट के लाभ (Hair Cholesterol Treatment Benefits)

कोलेस्ट्रॉल बालों के प्राकृतिक लिपिड को बहाल करने में मदद करते हैं। इससे हेयर क्यूटिकल सपाट रहते हैं और अपनी जगह पर बने रहते हैं। इससे बाल चिकने और चमकदार हो जाते हैं।
उपचार में मौजूद पौष्टिक तेल और कोलेस्ट्रॉल बालों को मुलायम और मॉइस्चराइज़ करने में भी मदद करते हैं।
कोलेस्ट्रॉल हीट स्टाइलिंग या केमिकल उपचारों से होने वाली क्षति की मरम्मत कर सकते हैं। ये बालों को भीतर से मजबूत कर सकते हैं। यदि आपके बाल बहुत अधिक टूटतेझड़ते हैं, तो इसे सप्ताह में एक दिन बालों पर अप्लाई किया जा सकता है।

baal chikne ho jate hain.
कोलेस्ट्रॉल बालों के प्राकृतिक लिपिड को बहाल करने में मदद करते हैं। चित्र : एडॉबीस्टॉक

हेयर कोलेस्ट्रॉल अलग है डाइटरी कोलेस्ट्रॉल से ( Hair Cholesterol and Dietary Cholesterol Difference)

कोलेस्ट्रॉल उपचार बालों के लिए फायदेमंद होते हैं। यह याद रखना जरूरी है कि उनका उपयोग बालों पर ही किया जाना चाहिए। इसे निगला नहीं जाना चाहिए। इन उपचारों में उपयोग किया जाने वाला कोलेस्ट्रॉल डाइट कोलेस्ट्रॉल से अलग होता है। यदि इसका सेवन किया जाए, तो यह हानिकारक हो सकता है। कोलेस्ट्रॉल ट्रीटमेंट से बालों की गहरी कंडीशनिंग होती है। इनका उपयोग कम मात्रा में किया जाना चाहिए। अत्यधिक उपयोग से स्कैल्प पर इसका बिल्डअप (Cholesterol Buildup on Scalp) हो सकता है। इससे बालों का वजन कम (Hair Cholesterol treatment Side Effects) हो सकता है

कैसे करें हेयर कोलेस्ट्रॉल ट्रीटमेंट (How to do Hair Cholesterol Treatment)

बालों के लिए कोलेस्ट्रॉल उपचार आसान है। इसे घर पर भी किया जा सकता है।
सबसे पहले बालों को अच्छी तरह साफ करना जरूरी है। इसके बाद बालों को सुलझा लें।
समान रूप से बालों पर कोलेस्ट्रॉल जेल लगायें।
कोलेस्ट्रॉल ट्रीटमेंट को हेयर रूट और स्कैल्प पर भी अप्लाई करें। इसे समान रूप से फैलाने के लिए कंघी का भी उपयोग किया जा सकता है

hair care tips
कोलेस्ट्रॉल ट्रीटमेंट को हेयर रूट और स्कैल्प पर भी अप्लाई करें। चित्र : एडॉबीस्टॉक

बाल पूरी तरह से कवर हो जाएं, तो प्लास्टिक कैप से ढक दें।
उपचार को लगभग 15-20 मिनट तक बालों पर लगा रहने दें। गहरे कंडीशनिंग प्रभाव के लिए सिर को गर्म तौलिये से लपेटें या हुड वाले ड्रायर के नीचे बैठें।
बाद में बालों को अच्छी तरह से धो लें। ट्रीटमेंट से बाल मुलायम और नमीयुक्त हो जाते हैं।

यह भी पढ़ें :- Fish Oil ke fayde : त्वचा और बाल, दोनों के स्वास्थ्य के लिए बेहद असरदार है फिश ऑयल, हम बता रहे हैं कैसे

  • 125
लेखक के बारे में

स्वास्थ्य, सौंदर्य, रिलेशनशिप, साहित्य और अध्यात्म संबंधी मुद्दों पर शोध परक पत्रकारिता का अनुभव। महिलाओं और बच्चों से जुड़े मुद्दों पर बातचीत करना और नए नजरिए से उन पर काम करना, यही लक्ष्य है।...और पढ़ें

अगला लेख