ड्राई स्कैल्प से लेकर हेयर ग्रोथ तक के लिए कैस्टर ऑयल है फायदेमंद, चलिए जानें इस्तेमाल के तरीके

अरंडी या कैस्टर ऑयल आपके बालों के विकास में मदद करने के साथ ही आपके बाके बालों को ड्राई होने से भी बचाता है,एक्सपर्ट से जानिए फायदे और नुकसान

castor oil ke nuksaan
बालों के लिए ऐसे इस्तेमाल करें अरंडी का तेल, चित्र : शटरस्टॉक
शालिनी पाण्डेय Updated on: 17 September 2022, 09:57 am IST
  • 111

बालों के विकास के लिए अरंडी का तेल अच्छा माना जाता है। पारंपरिक चिकित्सा में उपयोग किए जाने वाले एक पुराने उपाय के रूप में, इसे स्कैल्प को मॉइस्चराइज़ करने, रूसी को कम करने और आपको चिकने, मजबूत और चमकदार बाल देने के लिए जाना जाता है।

यह तेल अरंडी की फलियों से आता है, जो कि रिसिनोलेइक से भरपूर होता है जो एक प्रकार का फैटी एसिड है। यह सूजन से लड़ने के लिए जाना जाता है। जब इसे स्कैल्प पर लगाया जाता है, तो यह स्वस्थ बालों का विकास करता है और उनको झड़ने से रोकने का कम करता है। शोध यह दावा करते हैं कि अरंडी का तेल भौहें और पलकें बढ़ाने में भी मदद कर सकता है।

अरंडी या कैस्टर ऑयल के फायदों के बारे में हमने बात की हेयर और ब्यूटी एक्सपर्ट सुवर्णा त्रिपाठी से और जाना कि बालों के लिए इसका उपयोग कैसे करें और इसके क्या फायदे हैं।

जानिए बालों में अरंडी के तेल के इस्तेमाल के फायदे:

यह स्कैल्प में रक्त प्रवाह (blood circulation) बढ़ाता है, जो स्वस्थ बालों के लिए ज़रूरी है।
महीने में सिर्फ एक बार अरंडी का तेल लगाने से बालों की वृद्धि सामान्य दर से पांच गुना तक बढ़ सकती है।

यह ड्राई और इरिटेटिंग स्कैल्प को मॉइस्चराइज़ कर सकता है ।
कैस्टर ऑयल के एंटीबैक्टीरियल और एंटीफंगल गुण डैंड्रफ को कम कर सकते हैं।
यह भौहों और पलकों जैसे शरीर के अन्य हिस्सों में बाल उगाने में मदद कर सकता है।

एक्सपर्ट सुवर्णा बताती हैं कि कैस्टर ऑयल अपने प्रभावी एंटीऑक्सिडेंट और एंटी इन्फ्लेमेट्री गुणों के कारण बालों के लिए बहुत अच्छा होता है। एंटीऑक्सिडेंट मुक्त कणों (free radicals)को शरीर की स्वस्थ कोशिकाओं को नुकसान पहुंचाने से रोकते हैं। मुक्त कणों से होने वाले इस नुकसान को ऑक्सीडेटिव स्ट्रेस कहा जाता है जो बालों के झड़नेकी एक बड़ी वजह है।

अरंडी के तेल में ओमेगा -6 फैटी एसिड भी होता है। यह एक प्रकार का आवश्यक फैटी एसिड है जो बालों के विकास के लिए ज़रूरी है और बालों के पोर्स में होने वाली सूजन को कम कर सकता है ।

ऐसे करें इस्तेमाल

1 स्कैल्प के बीच और सिरों पर लगाएं

यदि आप बालों के विकास के लिए अरंडी के तेल का उपयोग करना चाहती हैं, तो पहले तेल की कुछ बूंदों को अपने स्कैल्प पर मलें।

स्कैल्प से सिरों तक को मॉइश्चराइज़ करता है castor ऑयल, चित्र: शटरस्टॉक

आप अपने बालों के मध्य भाग और सिरों में कुछ और बूंदों से मालिश भी कर सकते हैं ताकि टूटने से बचाने और अपने बालों की बनावट में सुधार करने में मदद मिल सके।

2 तेल को डाइल्यूट करें

अरंडी का तेल हैवी और बहुत चिपचिपा (sticky) होता है, जिसका मतलब है कि इसे आपके बालों से निकालना मुश्किल होता है। नारियल या जोजोबा जैसे प्राकृतिक तेलों के साथ अरंडी के तेल को करना चाहिए। इसको डाइल्यूट करने से इसकी गंध भी कम हो सकती है, जो बहुत से लोगों को अप्रिय लगती है।

3 ज़्यादा इस्तेमाल न करें 

अरंडी के तेल के एक भाग को दूसरे एसेंशियल ऑयल के दो भागों के साथ मिलाकर पतला करें। बालों की देखभाल के लिए सुवर्णा, कैस्टर ऑयल का हफ्ते में तीन चार बार इस्तेमाल की सलाह देती हैं। ज़्यादा इस्तेमाल बालों को चिपचिपा बना सकता है।

4 आइब्रो और पलकों पर कैस्टर ऑयल लगाना

यदि आप अपनी भौहों या पलकों पर अरंडी के तेल का उपयोग करना चाहते हैं, तो बहुत सावधान रहें ताकि आपकी आंखों में तेल न जाए।

birth control patch se judi mahtavpurn baatein
पैच टेस्ट ज़रूर करें। चित्र शटरस्टॉक।

5 पैच टेस्ट है ज़रूरी 

अपनी त्वचा पर अरंडी के तेल सहित कोई भी नया उत्पाद लगाने से पहले, पैच परीक्षण ज़रूर करें। अपने हाथ या चेहरे पर तेल की थोड़ी सी बूंद डाल कर यह देखें कि इससे कोई जलन या एलर्जी न हो।

ध्यान रहे 

इससे अधिक बार इसका उपयोग करने से यह नुकसान भी कर सकता है इसे बहुत लंबे समय तक स्कैल्प लगा हुआ छोड़ने से वास्तव में आपके बाल और खोपड़ी सूख सकती हैं। बालों को ड्राई होने से बचाने के लिए तेल लगाने के करीब दो घंटे बाद बालों को धो लें।

यह भी पढ़ें: अंडरवेट होना बन रहा है परेशानी का कारण, तो इन 5 तरीकों से बढ़ाएं अपना वजन

  • 111
लेखक के बारे में
शालिनी पाण्डेय शालिनी पाण्डेय

स्वास्थ्य राशिफल

स्वस्थ जीवनशैली के लिए ज्योतिष विशेषज्ञों से जानिए अपना स्वास्थ्य राशिफल

सब्स्क्राइब
nextstory