पूरी तरह हार्मलेस नहीं है सनस्क्रीन, यहां जानिए इसके कुछ साइड इफेक्ट्स

Published on: 23 May 2022, 09:30 am IST

क्या आप जानती हैं कि गर्मियों में जो सनस्क्रीन आपको यूवी किरणों से बचा सकती है, वही आपकी त्वचा को गंभीर रूप से नुकसान भी पहुंचा सकती है।

sunscreen ke kayi fayde hain
सनस्क्रीन के कई फायदें हैं और नुकसान भी।चित्र : शटरस्टॉक

अक्सर हमें सलाह दी जाती है कि धूप में बाहर जाते समय सनस्क्रीन जरूर लगाएं। विशेष रूप से त्वचा के कैंसर, सनबर्न और समय से पहले एजिंग को रोकने के लिए धूप से सुरक्षा आवश्यक है। मगर क्या आपने कभी सोचा है कि यही सनस्क्रीन आपको नुकसान भी पहुंचा सकती है। जी हां रासायनिक सनस्क्रीन के दुष्प्रभाव हो सकते हैं और उनमें इस्तेमाल होने वाली कुछ दवाओं जैसे टेट्रासाइक्लिन, सल्फा ड्रग्स, फेनोथियाज़िन आदि के कारण कई जोखिम हो सकते हैं। इन जोखिमों के बारे में आपको पता होना चाहिए।

जानिए क्या हैं सनस्क्रीन लगाने के नुकसान?

1 एलर्जिक रिएक्शन

सनस्क्रीन में कुछ रसायन शामिल होते हैं जो त्वचा में जलन पैदा कर सकते हैं जैसे लालिमा, सूजन, जलन और खुजली। कुछ लोगों को सनस्क्रीन लगाने के बाद चकत्ते और खुजली जैसी समस्याएं आ सकती हैं। इसके बाद यह एलर्जी का भी कारण बन सकते हैं। इसलिए, हमेशा डॉक्टर के पूछ कर ही सनस्क्रीन चुनें।

2 सनस्क्रीन मुंहासों को बदतर बना सकता है

अगर आपकी त्वचा पर मुंहासे हैं, तो सनस्क्रीन में मौजूद कुछ रसायन आपकी समस्या को और बढ़ा सकते हैं। सनस्क्रीन के इस दुष्प्रभाव से छुटकारा पाने के लिए आप नॉन-कॉमेडोजेनिक और नॉन-ऑयली सनस्क्रीन का चुनाव कर सकती हैं। इसके अलावा, चेहरे पर बॉडी सनस्क्रीन के इस्तेमाल से बचें, क्योंकि ये बहुत नुकसानदायक हो सकता है।

sunscreen ke side effects
सनस्क्रीन से आपको मुंहांसे भी हो सकते हैं। चित्र: शटरस्‍टॉक

3 आंखों में जलन

आंखों में यदि सनस्क्रीन चला जाए तो यह दर्द और जलन का कारण बन सकती है। इससे लाइट के प्रति जलन और आंखों संवेदनशीलता भी हो सकती है। यदि सनस्क्रीन अच्छे ब्रांड का न हो तो यह अंधापन का कारण बन सकता है। अगर सनस्क्रीन आंखों में चला जाए, तो उन्हें ठंडे पानी से अच्छी तरह धो लें या अपने डॉक्टर को दिखाएं।

4 स्तन कैंसर का खतरा बढ़ाए

सनस्क्रीन में ऐसे तत्व शामिल हैं जो स्तन कैंसर कोशिकाओं पर एस्ट्रोजेनिक प्रभाव डाल सकते हैं। कुछ सनस्क्रीन का ब्लड एस्ट्रोजन के स्तर पर प्रभाव पड़ सकता है। अपने बच्चों पर रासायनिक सनस्क्रीन का उपयोग करने से बचें, क्योंकि उनकी त्वचा तुरंत रसायनों को अवशोषित कर लेती है।

इसलिए कोई भी सनस्क्रीन खरीदने से पहले डॉक्टर से सलाह लेना सबसे सही है। इससे आपको पता चल जाएगा कि आपकी त्वचा के लिए कौन सी सनस्क्रीन सही है।

यह भी पढ़ें : खाने में लजीज़ ही नहीं स्किन के लिए भी जादू कर सकती हैं मशरूम

ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ

प्रकृति में गंभीर और ख्‍यालों में आज़ाद। किताबें पढ़ने और कविता लिखने की शौकीन हूं और जीवन के प्रति सकारात्‍मक दृष्टिकोण रखती हूं।

स्वास्थ्य राशिफल

ज्योतिष विशेषज्ञ से जानिए क्या कहते हैं आपकी
सेहत के सितारे

यहाँ पढ़ें