इन 5 तरह की त्वचा संबंधी समस्याओं में हरगिज न करें फेस ऑयल का इस्तेमाल, हो सकते हैं साइड इफेक्ट्स

आजकल सौंदर्य को बढ़ाने के लिए चेहरे के तेल (Facial Oil) का चलन काफी बढ़ गया है। यकीनन ये आपके लिए फायदेमंद हो सकते हैं, पर कुछ खास स्थितियों में इनके नुकसान भी झेलने पड़ सकते हैं।

white pimples
स्किन इशूज़ से परेशान होने पर फेशियल ऑयल से करें परहेज, चित्र: शटरस्टॉक
टीम हेल्‍थ शॉट्स Published on: 9 August 2022, 16:27 pm IST
  • 120

हम सभी खूबसूरत दिखना चाहते हैं और अपनी ख़ूबसूरती बनाए रखने के लिए अलग-अलग प्रकार के प्रयास करते हैं। आजकल सौंदर्य को बढ़ाने के लिए चेहरे के तेल (Facial Oil) का चलन काफी बढ़ गया है। इनके इस्तेमाल से आपके चेहरे पर एक खास तरह की चमक आ जाती है। फेस ऑयल आपकी स्किन को हाइड्रेटेड महसूस करने में सहायता कर सकते हैं। पर कुछ खास स्किन कंडीशन्स ऐसी होती हैं, जब इनका इस्तेमाल आपको फायदे की जगह नुकसान पहुंचा सकता है। आइए आज उन्हीं स्किन कंडीशन्स पर बात करते हैं, जब आपको फेस ऑयल का इस्तेमाल हरगिज नहीं करना चाहिए। 

कई तेल सीधे स्किन पर लगाए जा सकते हैं और आपकी स्किन को संतुलित रखने में सहायता कर सकते हैं। हालांकि, यदि आपको मुंहासे वाली स्किन सहित और भी स्किन संबंधी परेशानी हैं, तो आपको सीधे अपने चेहरे पर फेशियल ऑयल का उपयोग करते समय सावधानी बरतनी चाहिए।

फेशियल ऑयल के साइड इफेक्ट से बचने के लिए हेल्थ शॉट्स ने एशियन हॉस्पिटल के डर्मेटोलॉजी के एसोसिएट डायरेक्टर डॉ अमित बांगिया से बात की। विशेषज्ञ हमें उन स्थितियों के बारे में बता रहे हैं, जब फेशियल ऑयल आपकी स्किन के लिए अच्छे नहीं होते हैं।

डॉ बांगिया के मुताबिक, फेशियल ऑयल या फेस ऑयल आपकी स्किन को हाइड्रेट और सुरक्षित रखने में बहुत महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं, लेकिन कुछ मौजूदा स्किन की समस्याओं के साथ इनका प्रयोग करने से आपकी स्किन की स्थिति खराब हो सकती है। इसलिए आपको इनसे बचना चाहिए।

कब नहीं करना चाहिए फेस ऑयल या फेशियल ऑयल का प्रयोग 

जब चेहरे पर मुंहासे हों 

हो सकता है कि फेशियल ऑयल का उपयोग तैलीय या मुंहासों वाली स्किन पर असरदार न हो। वे संभावित रूप से अतिरिक्त ब्रेकआउट की वजह बन सकते हैं। तैलीय स्किन वाले (Oily Skin) या मुंहासों की प्रवृत्ति वाले किसी भी व्यक्ति के लिए, डॉ बंगिया सलाह देते हैं, “ऑयली स्किन के लोगों को फेशियल ऑयल का उपयोग करने से बचना चाहिए। क्योंकि वे पहले से ही बंद रोमछिद्रों को बंद कर देते हैं, स्किन पोर्स बंद होने की वजह से और मुंहासे या मुंहासे पैदा होने लगते हैं।”

अगर आपके चेहरे को फेशियल ऑयल से फायदा नज़र आ रहा है, तो मुंहासों की परेशानी को छोड़कर आपको हल्के तेल का चुनाव करना चाहिए। हल्के तेल जैसे जोजोबा, भांग, गुलाब और अनार के तेल सबसे अच्छा काम करेंगे। इसके अलावा, जब मुंहासे और ऑयली स्किन की बात आती है, तो कम तेल लगाना भी ज्यादा होता है।

2 रोसैसिया

अतिरिक्त सेबम उत्पादन, ब्लैकहेड्स, व्हाइटहेड्स को फेशियल ऑयल से हटाया जा सकता है। हालांकि, एक्जिमा, रोसैसिया और सिस्ट जैसी स्थितियों वाले लोगों को इनसे बचना चाहिए। क्योंकि तेल विशेष रूप से नाजुक स्किन को जलन और शुष्क कर सकता है। वास्तव में, फेशियल ऑयल का प्रयोग करने से स्किन की कई स्थितियों के लक्षण बढ़ सकते हैं, जैसे चेहरे पर लालिमा, जलन, सूजन और मुंहासे।

skin problems ka karan ban sakta ahi

त्वचा की इन समस्याओं को बढ़ा सकते हैं सकते हैं ये ऑयल। चित्र : शटरस्टॉक

3 सेबोरहाइया

सेबोरहाइया एक आम स्किन की बीमारी है जो आम तौर पर स्कैल्प को प्रभावित करती है, वह है सेबोरहाइक डर्मेटाइटिस। हालांकि, यह आपके चेहरे, कान, भौहें, नाक और छाती जैसे तेल का उत्पादन करने वाले हिस्सों को भी प्रभावित कर सकता है। यदि आप भी पपड़ीदार धब्बे, लाल त्वचा, सूखापन, परतदार स्किन और लगातार रूसी जैसी स्थितियों का सामना कर रहीं हैं, तो आपको इनसे बचना चाहिए।

वे इन समस्याओं को और बढ़ा सकते हैं और लक्षणों को और खराब कर सकते हैं। ओवर-द-काउंटर उपचार और रोजाना की स्किन केयर सलाह का प्रयोग करके, आप इस स्किन  समस्या से आसानी से छुटकारा पा सकती हैं।

4 एलर्जी

किसी पदार्थ के लिए एलर्जी की प्रतिक्रिया या उसके सीधे सम्पर्क में आने से खुजली वाले दाने की स्थिति हो सकती है, जिसे संपर्क जिल्द की सूजन के रूप में जाना जाता है। डॉ बंगिया के मुताबिक, “चेहरे के तेल, सुगंध और सौंदर्य सामग्री सहित कई प्रकार की चीजें इस एलर्जी मुख्य वजह हैं और अगर सीधे प्रयोग किया जाए तो त्वचा पर एलर्जी हो सकती है।” इसलिए इनका इस्तेमाल सावधानी से करना चाहिए।

5 बंद रोमछिद्र

बंद रोमछिद्र एक सामान्य स्किन की स्थिति है, जो मृत स्किन कोशिकाओं, तेल या गंदगी के निर्माण की वजह से होती है। यह स्थिति मुंहासे या ब्रेकआउट की वजह बन सकती है। हालांकि, विशेषज्ञों के मुताबिक, इस स्थिति का इलाज करना काफी सरल है, लेकिन यदि आप फेशियल ऑयल का उपयोग करते हैं तो इससे स्किन की कई अन्य परेशानी हो सकती हैं।

skin porse band hain toh face oil ka istemal na karen
स्किन पोर्स बंद हैं तो फेस ऑयल का इस्तेमाल न करें। चित्र: शटरस्टॉक

बंद रोमछिद्रों वाले तेल अत्यधिक सीबम उत्पादन की वजह बन सकते हैं, जो आपकी स्किन को संवेदनशील और तैलीय बना सकते हैं। आपको गैर-कॉमेडोजेनिक तेलों का प्रयोग करना चाहिए जो छिद्रों को बंद किए बिना मॉइस्चराइज़ और पोषण करते हैं, जैसे कि आर्गन ऑयल, तिल का तेल, कद्दू का तेल, ईवनिंग प्रिमरोज़ तेल और अंगूर के बीज का तेल।

अपनी स्किन के प्रकार (Skin Type) के मुताबिक फेशियल ऑयल चुनने से पहले हमेशा स्किन विशेषज्ञ से सलाह लेनी चाहिए और चमकती स्किन के लिए नियमित रूप से इसका प्रयोग करना चाहिए। याद रखें, एक अच्छा तेल आपकी स्किन को बेहद खुबसूरत बना सकता है, जबकि एक खराब तेल मौजूदा स्किन की परेशानियों को बढ़ा सकता है या नयी परेशानियों की वजह बन सकता है।

यह भी पढ़ें: बरसात के मौसम में बच्चों को सर्दी, खांसी और संक्रमण से बचाना है, तो इन 4 बातों को हमेशा रखें याद

  • 120
लेखक के बारे में
टीम हेल्‍थ शॉट्स टीम हेल्‍थ शॉट्स

ये हेल्‍थ शॉट्स के विविध लेखकों का समूह हैं, जो आपकी सेहत, सौंदर्य और तंदुरुस्ती के लिए हर बार कुछ खास लेकर आते हैं।

स्वास्थ्य राशिफल

ज्योतिष विशेषज्ञ से जानिए क्या कहते हैं आपकी,
सेहत के सितारे

यहाँ पढ़ें
nextstory