वैलनेस
स्टोर

क्या सल्फेट फ्री शैंपू आपके बालों के लिए बेहतर हैं? हम देंगे आपके इस सवाल का जवाब

Published on:3 February 2021, 14:45pm IST
यदि आप भी एक सल्फेट-फ्री शैम्पू इस्तेमाल करने के बारे में सोच रहीं हैं, तो आपको ऐसा कोई कदम उठाने से पहले ये लेख ज़रूर पढ़ लेना चाहिए।
टीम हेल्‍थ शॉट्स
  • 82 Likes
इन दिनों सल्‍फेट फ्री शैंपू ट्रेंड में हैं। चित्र: शटरस्‍टॉक

जब बालों की देखभाल की बात आती है, तो हर कोई अपने-अपने तरीके से सुझाव देने लगता है। आजकल सल्फेट मुक्त उत्पादों की ओर लोगों का झुकाव ज्यादा है। विशेषज्ञों का सुझाव है कि सल्फेट-फ्री शैम्पू आपके बालों के लिए सबसे अच्छा है, क्योंकि यह आपके बालों को अच्छी तरह साफ़ करता है। भले ही आप इस ट्रेंड में विश्वास न करते हों, फिर भी आप हमेशा सल्फेट-मुक्त उत्पाद ही खरीदते हैं। क्योंकि यह हर जगह बिक रहें हैं।

सल्फेट-मुक्त शैंपू आजकल क्यों चर्चा में है, और क्या वे आपके लिए अच्छे हैं? इस लेख में हम इसका पता लगाने की कोशिश करेंगे।

सल्फेट्स क्या हैं और आपको उनसे क्यों बचना चाहिए?

यह एक रसायन होता हैं, जो आपके शैम्पू को सख्त या हार्श बनाता है। परिभाषा के अनुसार, वे सर्फेक्टेंट हैं जो तेल और पानी दोनों को आकर्षित करते हैं। सल्फाट्स, जमी हुई और डेड स्किन सेल्स को आकर्षित करते है, ताकि वे आपकी त्वचा से हट जाएं।

आपको लग सकता हैं कि सल्फेट आपके लिए अच्छा है, लेकिन और भी बहुत कुछ है। ये रसायन बालों से प्राकृतिक तेल भी निकालते हैं, जो आपके बालों को सूखा और फ्रिज़ी बनाता है। यदि आपके बाल या सिर बहुत सेंसिटिव हैं, तो सल्फेट युक्त शैम्पू इस्तेमाल करना आपके लिए घातक हो सकता है।

सल्‍फेट एक रसायन है जो शैंंपू को हार्श बनाता है। चित्र: शटरस्‍टाॅॅॅक
सल्‍फेट एक रसायन है जो शैंंपू को हार्श बनाता है। चित्र: शटरस्‍टाॅॅॅक

आमतौर पर सबसे अधिक इस्तेमाल किए जाने वाले सल्फेट यौगिकों में सोडियम लॉरथ सल्फेट, सोडियम लॉरिल सल्फेट और अमोनियम लॉरियम सल्फेट शामिल हैं। इनमें से प्रत्येक रसायन की एक अलग तीव्रता है, लेकिन वे आपके बालों के लिए समान रूप से खराब हैं।

सल्फेट मुक्त शैम्पू का उपयोग किसे करना चाहिए?

सबसे पहले, जिन लोगों के बाल रंगे हुए हैं, उन्हें सल्फेट-मुक्त शैंपू का उपयोग करना चाहिए। अगर आप ऐसा नहीं करती हैं, तो आपके बालों का रंग फीका पड़ सकता है! सल्फेट बहुत कठोर क्लीन्ज़र हैं और इसका असर बालों पर दिखता है!

जिन लोगों के बाल घुंघराले होते हैं, उन्हें सल्फेट मुक्त शैंपू ज़रूर इस्तेमाल करना चाहिए। ऐसा इसलिए है क्योंकि इस तरह के हेयर क्लींजर स्कैल्प और बालों से प्राकृतिक तेलों को दूर नहीं करते। अंततः आपके बालों की नमी बरकरार रहती है। यह उस स्थिति में भी मदद करता है जब आप स्‍कैल्‍प में खुजली या जलन से पीड़ित हों।

सल्फेट मुक्त शैंपू के कुछ लाभ:

1. ये शैंपू बालों की प्राकृतिक नमी को बरकरार रखने में मदद करते हैं
2. उन लोगों के लिए अच्छे हैं जिनके कलर्ड बाल हैं
3. सल्‍फेट मुक्‍त शैंपू आपकी स्‍कैल्‍प पर नर्म होते हैं। जिससे किसी भी तरह की जलन और सूजन नहीं होती।
4. वे आंखों पर भी कोमल हैं, भले ही शैम्पू गलती से आपकी आंखों में प्रवेश कर जाए
5. चूंकि वे प्लांट डेरिवेटिव से बने होते हैं। इसलिए वे पर्यावरण के अनुकूल भी हैं।
6. वे कम छिद्र वाले बालों के लिए अच्छे हैं, जिसका अर्थ है कि आपके बालों को नमी प्राप्त करना मुश्किल है

अगर आपको बाल ग्रीसी लगते हैं तो सल्‍फेट मुक्‍त्‍ शैंपू इस्‍तेमाल नहीं करनाा चाहिए। चित्र: शटरस्‍टॉक
अगर आपको बाल ग्रीसी लगते हैं तो सल्‍फेट मुक्‍त्‍ शैंपू इस्‍तेमाल नहीं करनाा चाहिए। चित्र: शटरस्‍टॉक

सल्फेट मुक्त शैंपू का उपयोग किसे नहीं करना चाहिए?

कुछ लोग हैं जो मानते हैं कि सल्फेट-मुक्त शैम्पू उनके बालों को ज्यादा ग्रीसी बना देते हैं। इसे धोने के कुछ ही सेकंड बाद। खैर, यह कुछ मामलों में सच है। ऐसा इसलिए है क्योंकि अधिकांश सल्फेट-मुक्त शैंपू इस तरह से तैयार किए जाते हैं कि वे बालों और खोपड़ी से प्राकृतिक तेलों को दूर नहीं करते हैं।

जब से वे बहुत हल्के होते हैं, उत्पाद बिल्डअप ट्रेस पर रहता है और इसे ग्रीसी दिखता है।

एक और भी कारण है कि ये आपके स्कैल्प को अच्छे से साफ़ न कर पाए और यह आपके बालों पर कठोर हो सकता है, जिससे आपकी तेल ग्रंथियां ज़्यादा खुल सकती हैं|

सल्फेट-मुक्त शैंपू में बहुत सारे कंडीशनिंग तत्व होते हैं।

सभी में, सल्फेट-मुक्त शैंपू आपके बालों के लिए खराब नहीं हैं, लेकिन आपको यह जांचने की आवश्यकता है कि क्या वे आपके लिए काम करते हैं!

यह भी पढ़ें – अगर बाल बढ़ाना चाहती हैं, तो यहां हैं सिर की मालिश के सबसे अच्‍छे और सबसे बुरे तेल

टीम हेल्‍थ शॉट्स टीम हेल्‍थ शॉट्स

ये हेल्‍थ शॉट्स के विविध लेखकों का समूह हैं, जो आपकी सेहत, सौंदर्य और तंदुरुस्ती के लिए हर बार कुछ खास लेकर आते हैं।